होम /न्यूज /ऑटो /

मारुति सुजुकी की कारों पर अब नहीं होगी वेटिंग की दिक्कत, कंपनी ने किया बड़ा ऐलान

मारुति सुजुकी की कारों पर अब नहीं होगी वेटिंग की दिक्कत, कंपनी ने किया बड़ा ऐलान

ग्रैंड विटारा मॉडल के आने से एसयूवी सेगमेंट में कंपनी की स्थिति मजबूत होगी.

ग्रैंड विटारा मॉडल के आने से एसयूवी सेगमेंट में कंपनी की स्थिति मजबूत होगी.

कंपनी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने वित्त वर्ष 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट में शेयरधारकों को दिए गए अपने संदेश में कहा है कि चालू वित्त वर्ष में 20 लाख कारों के उत्पादन लक्ष्य को हासिल करने में नया एसयूवी मॉडल ग्रैंड विटारा एक अहम भूमिका निभाएगा.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मारुति सुजुकी इंडिया ने सेमीकंडक्टर की आपूर्ति में सुधार की उम्मीद की है.
कंपनी पिछली साल बुकिंग के बावजूद 2.7 लाख कारों की डिलीवरी नहीं कर पाई थी.
मारुति की हिस्सेदारी भी 50 फीसदी से कम होकर 43.4 फीसदी पर आ गई थी.

नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने सेमीकंडक्टर की आपूर्ति में सुधार से चालू वित्त वर्ष में करीब 20 लाख कारों के उत्पादन का लक्ष्य रखा हुआ है, जिसके लिए वह अपने उत्पादन में बढ़ोतरी भी करेगी. कंपनी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने वित्त वर्ष 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट में शेयरधारकों को दिए गए अपने संदेश में कहा है कि चालू वित्त वर्ष में 20 लाख कारों के उत्पादन लक्ष्य को हासिल करने में नया एसयूवी मॉडल ग्रैंड विटारा एक अहम भूमिका निभाएगा.

पिछले वित्त वर्ष में मारुति सुजुकी का उत्पादन 13.4 प्रतिशत बढ़कर 16.52 लाख इकाई रहा. अप्रैल-जून 2021 में महामारी की दूसरी लहर के कारण उत्पादन पर पड़े प्रभाव के बावजूद कंपनी ने यह उत्पादन आंकड़ा हासिल किया था. इसके अलावा सेमीकंडक्टर की आपूर्ति बाधित होने से भी कंपनी मांग के अनुरूप वाहनों की बिक्री नहीं कर पाई.

ये भी पढ़ें- 6 लाख से सस्ती 7 सीटर कार पर तगड़ा डिस्काउंट, माइलेज और सेफ्टी भी जबरदस्त

डिलीवरी नहीं कर पाई थी कंपनी
भार्गव ने कहा, ‘वित्त वर्ष 2021-22 के अंत में हम बुकिंग के बावजूद करीब 2.7 लाख वाहनों की आपूर्ति नहीं कर पाए.’ घरेलू बाजार में आपूर्ति कम होने की वजह से इसकी बाजार हिस्सेदारी भी करीब 50 फीसदी से कम होकर 43.4 फीसदी पर आ गई थी. उन्होंने कहा, ‘सेमीकंडक्टर की उपलब्धता बेहतर होने से वाहन उत्पादन की स्थिति बेहतर होगी. उत्पादन बढ़ाने के लिए हमने कुछ कदम भी उठाए हैं. हमने इस आंकड़े को 20 लाख इकाई तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. वैसे इसे हासिल कर पाना एक चुनौती होगी.’

पिछले साल कम रही थी बिक्री
भारतीय वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू बाजार में वर्ष 2021-22 में कुल 30,69,499 यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी जबकि एक साल पहले 27,11,457 इकाई की बिक्री हुई थी. मारुति के चेयरमैन ने कहा कि ग्रैंड विटारा मॉडल का उत्पादन टोयोटा के प्लांट में होने से मारुति सुजुकी के लिए उत्पादन बढ़ाने की चुनौती को पूरा करने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें-  बंपर बचत ! मारुति सुजुकी की 5 कारें जिनका माइलेज में नहीं कोई तोड़, डिमांड भी जबरदस्त

2024 से शुरू हो जाएगा इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण
ग्रैंड विटारा मॉडल के आने से एसयूवी सेगमेंट में कंपनी की स्थिति मजबूत होगी. इसके अलावा कंपनी ने हाल ही में अपनी पुरानी एसयूवी ब्रेजा को नए अवतार में उतारा है. इलेक्ट्रिक कारों की बात करें तो कंपनी के चेयरमैन ने कहा कि वित्त वर्ष 2024-25 से सुजुकी मोटर कॉरपोरेशन के गुजरात प्लांट में इलेक्ट्रिक मॉडलों का उत्पादन शुरू हो जाएगा और मारुति इनकी बिक्री करेगी. हालांकि उन्होंने कहा कि ईवी मॉडल के कार बाजार में अहम स्थान लेने में अभी वक्त लगेगा.

Tags: Auto News, Autofocus, Car Bike News, Maruti Suzuki

अगली ख़बर