• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • क्रैश टेस्ट में हुईं फैल Maruti Swift और Renault Duster एसयूवी, मिले जीरो स्टार्स

क्रैश टेस्ट में हुईं फैल Maruti Swift और Renault Duster एसयूवी, मिले जीरो स्टार्स

मारुति स्विफ्ट और रेनॉ डस्टर ग्लोबल एनसीएपी कार क्रैश टेस्ट में हुई फेल.

मारुति स्विफ्ट और रेनॉ डस्टर ग्लोबल एनसीएपी कार क्रैश टेस्ट में हुई फेल.

ग्लोबल NCAP ने स्विफ्ट को 2 स्टार रेटिंग दी थी, जब भारत में इस पीढ़ी के मॉडल को भारत में लॉन्च किया गया था. तब इस कार का 2018 में परीक्षण किया गया था.

  • Share this:

    नई दिल्ली. देश की घरेलु कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की पॉपुलर हैचबैक कार मारुति स्विफ्ट और फ्रेंच कंपनी रेनॉ की एसयूवी डस्टर हाल ही में लेटिन अमेरिकन एसोसिएट एनसीएपी द्वारा किए गए क्रैश टेस्ट बुरी तरह से फेल हो गई, इन दोनों कार का क्रैश टेस्ट लैटिन अमेरिकन और कैरेबियन मार्केट के लिए एजेंसी के नए कार एसेसमेंट प्रोग्राम के तहत किया गया, जिसमे इन दोनों कंपनियों के कार मॉडल्स को जीरो स्टार मिले. तो आइये हम आपको इस क्रैश टेस्ट की रिपोर्ट को डिटेल में बताते है.

    स्विफ्ट क्रैश रिपोर्ट
    भारत के अलावा जापान में भी तैयार किये जाने वाली पॉपुलर हैचबैक कार मारुति स्विफ्ट इस टेस्ट के दौरान 2 एयरबैग से लैस थी. क्रैश टेस्ट में प्रयुक्त सभी पैरामीटर्स में स्विफ्ट बुरी तरह नाकाम हुई, इस कार को एडल्ट ऑक्यूपेंट बॉक्स में 15.53 प्रतिशत, चाइल्ड ऑक्यूपेंट बॉक्स में 0 प्रतिशत, पैदल यात्री सेफ्टी, ख़राब सड़क यूजर बॉक्स में 66 प्रतिशत और सेफ्टी असिस्ट बॉक्स में लगभग 7 प्रतिशत स्कोर हासिल हुआ. दक्षिण अमेरिकी एजेंसी NCAP के अनुसार, स्विफ्ट के रिजल्ट इस हैचबैक कार के साथ साथ इसके सेडान वैरिएंट के लिए भी वैलिड है.

    यह भी पढ़ें: नेक्स्ट जेनरेसन KTM RC का टीज़र हुआ जारी, सितम्बर में होगी लॉन्च, जानिए फीचर्स और कीमत

    एजेंसी के अनुसार, स्विफ्ट के ख़राब क्रैश टेस्ट स्कोर के पीछे इस हैचबैक कार के रॉंग साइड इम्पैक्ट प्रोटेक्शन, क्रैश टेस्ट के दौरान ओपन डोर और रियर इम्पैक्ट के लिए UN32 प्रूव के लो व्हिपलैश स्कोर जिम्मेदार रहा, एजेंसी ने आगे यह कहा कि स्विफ्ट में स्टैण्डर्ड साइड हेड प्रोटेक्शन एयरबैग और स्टैण्डर्ड ESC जैसी कमियां है. क्रैश टेस्ट के दौरान खुले दरवाजे के चलते यह कार UN95 रेग्युलेशन को पास नहीं कर पायेगी.

    यह भी पढ़ें: आधी से कम कीमत पर खरीदें Mahindra की स्कॉर्पियो, XUV500 और TUV300, जानें सबकुछ

    रेनॉ डस्टर एसयूवी
    रेनॉ डस्टर एसयूवी के इस टेस्ट के दौरान इस एसयूवी में भी 2 एयरबैग और ESC से लैस थी, इस एसयूवी को एडल्ट ऑक्यूपेंट बॉक्स में 29.47 प्रतिशत, चाइल्ड ऑक्यूपेंट बॉक्स में 22.93 प्रतिशत, पैदल यात्री सेफ्टी, ख़राब सड़क यूजर बॉक्स में 50.79 प्रतिशत और सेफ्टी असिस्ट बॉक्स में लगभग 34.88 प्रतिशत स्कोर हासिल हुआ. दक्षिण अमेरिकी एजेंसी NCAP के अनुसार, स्विफ्ट के रिजल्ट इस हैचबैक कार के साथ साथ इसके सेडान वैरिएंट के लिए भी वैलिड है. लैटिन NCAP के सेक्रेटरी जनरल एलेजांद्रो फुरस के अनुसार दोनों कंपनियों यहाँ लेटिन और कैरेबियन मार्केट में खराब सुरक्षा प्रदर्शन वाली कारें ला रही है, और उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों कंपनियां अपने इन मॉडल्स में सुधार करेंगी.

    इससे पहले ग्लोबल NCAP ने स्विफ्ट को 2 स्टार रेटिंग दी थी, जब भारत में इस पीढ़ी के मॉडल को भारत में लॉन्च किया गया था. तब इस कार का 2018 में परीक्षण किया गया था. भारत में सेल होने वाली स्विफ्ट में डुअल एयरबैग स्टैण्डर्ड है. हालांकि, यूरोप में सेल किये जाने वाले इस मॉडल में स्टैंडर्ड के रूप 6 एयरबैग और इलेक्ट्रिक स्टेबिलिटी कण्ट्रोल ( ESC ) से लैस है. मारुति सुजुकी लेटिन अमेरिका और कैरेबियन में स्टैंडर्ड साइड बॉडी और हेड एयरबैग या ईएससी इस मॉडल पेश नहीं करती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज