Michelin बना रही है कभी खराब न होने वाला टायर, देखें वीडियो कैसा होगा Tyre

Michelin ने टायरों को रिसाइकल करने के लिए स्वीडन की कंपनी Enviro के साथ साझेदारी की.

Michelin ने टायरों को रिसाइकल करने के लिए स्वीडन की कंपनी Enviro के साथ साझेदारी की.

Michelin की 100 फीसदी Sustainable टायल बनाने की योजना थोड़ी मुश्किल भरी जरूर है. लेकिन कंपनी को विश्वास है कि वह इस योजना में जरूर सफल होंगे. वहीं आपको बता दें टायर बनाने के लिए 200 से अधिक प्रोडक्ट का यूज होता है. जिसमें प्राकृतिक रबर और सिंथेटिक रबर, धातु, फाइबर, कार्बन ब्लैक, सिलिका आदि.

  • Share this:
नई दिल्ली. टायर बनाने वाली कंपनी Michelin ने घोषणा की है कि वह 2050 तक खराब न होने वाले टायर बनाएंगी. इसके लिए Michelin कंपनी ने एक रिचर्स एंड डेवलपमेंट विंग भी बनाई है. जहां भविष्य को ध्यान में रखते हुए Sustainable टायर के विकास पर काम किया जा रहा है. Michelin कंपनी के अनुसार 2050 तक रिचार्जेबल टायर तैयार किया जाएगा. आपको बता दें Michelin कंपनी ने इस परियोजना की शुरुआत 2017 में की थी. वहीं दुनिया में फिलहाल किसी भी टायर को केवल 30 फीसदी ही रिसाइकल किया जा सकता है. जिसके चलते Michelin को अपनी इस योजना से काफी उम्मीद है.

टायल बनाने में यूज होती है 200 से ज्यादा प्रोडक्ट - Michelin की 100 फीसदी Sustainable टायल बनाने की योजना थोड़ी मुश्किल भरी जरूर है. लेकिन कंपनी को विश्वास है कि वह इस योजना में जरूर सफल होंगे. वहीं आपको बता दें टायर बनाने के लिए 200 से अधिक प्रोडक्ट का यूज होता है. जिसमें प्राकृतिक रबर और सिंथेटिक रबर, धातु, फाइबर, कार्बन ब्लैक, सिलिका आदि.

 

Youtube Video

टायल को रिसाइकल करके होगा ये यूज - Michelin ने टायरों को रिसाइकल करने के लिए स्वीडन की कंपनी Enviro के साथ साझेदारी की है. दोनों कंपनी मिलकर चिली में एक प्लांट लगाने की योजना बना रही है. जहां टायर को रिसाइकल करके कार्बन ब्लैक या पाइरोलिसिस तेल तैयार किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: Bounce का सबसे किफायती इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च हुआ, एक बार चार्ज करने पर चलेगा 60 km

आपको बता दें स्क्रैप टायर से कार्बन ब्लैक, पाइरोलिसिस तेल, स्टील, गैस और उच्च गुणवत्ता वाले सामने प्राप्त किए जा सकते है. जिनको दोबारा उपयोग में लाया जा सकता है. इसके लिए दोनों ही कंपनी ने पेटेंट भी कराया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज