भूल कर भी न करें ये गलतियां, 1 सितंबर से लागू होंगे नए ट्रैफिक नियम

रवि सिंह | News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 6:25 PM IST
भूल कर भी न करें ये गलतियां, 1 सितंबर से लागू होंगे नए ट्रैफिक नियम
एक सितंबर से ट्रैफिक के नए नियम लागू होने वाले हैं

एक सितंबर से ट्रैफिक के नए नियम लागू होने वाले हैं. यानी सड़कों पर ट्रैफिक के नियम तोड़ने पर ज्यादा जुर्माना देना होगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2019, 6:25 PM IST
  • Share this:
एक सितंबर से ट्रैफिक के नए नियम लागू होने वाले हैं. यानी सड़कों पर ट्रैफिक के नियम तोड़ने पर ज्यादा जुर्माना देना होगा. सरकार ने बुधवार को कहा कि मोटर वाहन अधिनियम के 63 उपबंध एक सितंबर से लागू होंगे. यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर भारी भरकम जुर्माना चुकाना पड़ेगा. शराब पीकर गाड़ी चलाने, तेज गति से गाड़ी दौड़ाने (ओवरस्पीड) और ओवरलोडिंग समेत अन्य मामलों में जुर्माना बढ़ाया गया है.

बुधवार को सड़क एवं परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने परिवहन को लेकर एक वेबसाइट की लांचिंग के कार्यक्रम में कहा कि सरकार को उम्मीद है कि नए नियम लागू होने के बाद सड़क हादसों में कमी आएगी. नितिन गडकरी ने न्यूज18 इंडिया से बातचीत में कहा कि मोटर व्हीकल एक्ट के 63 प्रावधानों को कानून मंत्रालय से हरी झंडी मिल गई है, जिसे पूरे देश में 1 सितंबर, 2019 से लागू किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: अगले 6 महीनों में दिल्ली-एनसीआर में लगेंगे 300 EV चार्जिंग स्टेशन

सड़क हादसों को कैसे रोकेगी सरकार?

गडकरी ने कहा कि सरकार ने अगले पांच साल में सड़क हादसों में पचास फीसदी कमी लाने का लक्ष्य रखा है. जिसके लिए सरकार 14 हजार करोड़ रुपये का मेगा प्लान तैयार कर रही है. इसके तहत नेशनल हाइवे और स्टेट हाइवे के ब्लैक स्पॉट को ठीक किया जाएगा. देशभर में 786 ब्लैक स्पॉट चिन्हित किए गए हैं. गडकरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर हर 50 किलोमीटर पर एक एंबुलेंस तैनात होगी. नेशनव हाइवे पर कुल साढे चार सौ एंबुलेंस तैनात की जा रही हैं. हर जिले में सांसद की अध्यक्षता में रोड सेफ्टी बोर्ड गठित होगा जो सड़क हादसों के स्पॉट का दौरा करेगी और सुझाव देगा. यही नहीं टोल बूथ पर लगने वाले जाम से निजात दिलाने के लिए एक दिसंबर से हर गाड़ी पर फास्ट टैग लगाना अनिवार्य कर दिया गया है. यानी एक दिसंबर से टोल पर कैश का लेनदेन पूरी तरह से बंद हो जाएगा.

सड़क हादसों कम हों इसके लिए सरकार उठा रही है ठोस कदम
सड़क हादसे कम हों इसके लिए सरकार उठा रही है ठोस कदम


सबसे ज्यादा सड़क हादसे भारत में, इसलिए सख्ती जरूरी
Loading...

परिवहन मंत्रालय के मुताबिक, दुनिया में सबसे ज्यादा सड़क हादसे भारत में होते है और इन हादसों के चलते हर साल हजारों लोगो की मौत हो जाती है. साथ ही जीडीपी का दो फीसदी नुकसान भी होता है. यही वजह है कि तमाम राज्यों के साथ मशविरा करके नया कानून बनाया गया है.

ये भी पढ़ें: महिला कार चालकों के लिए 7 जरूरी बातें, ताकि ड्राइविंग बनी रहे फन!

वीआईपी गाड़ियों का भी कटेगा चालान
गडकरी के मुताबिक, नियमों में सख्ती आएगी तो सड़क हादसों में कमी लाना संभव होगा. हार्न देकर रेड लाइट पार करने वाली वीआईपी गाड़ियों का भी चालान होगा. गडकरी ने बताया कि रूल्स ऑफ रोड के लिए जन जागरण किया जाएगा. 1 दिसंबर से सभी राष्ट्रीय राजमार्गों के लेन को फास्टैग बना दिया जाएगा. गडकरी ने कहा कि अगर राज्य सरकारें भी अपने राजमार्गों को फास्टैग लेन बनाना चाहें तो केंद्र सरकार उसमें मदद के लिए तैयार है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 5:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...