साइबर हमले से बचने के लिए NHAI ने जारी किया अलर्ट, परिवहन विभाग और ऑटो इंडस्ट्री पर मंडरा रहा है ये खतरा

ऑटो इंडस्ट्री पर हो सकता है साइब अटैक.

ऑटो इंडस्ट्री पर हो सकता है साइब अटैक.

CERT की रिपोर्ट के अनुसार एनआईसी, एनएचएआई, एनएचआईडीसीएल, आईआरसी, आईएएचई, राज्य पीडब्ल्यूडी, परीक्षण एजेंसियों और ऑटोमोबाइल निर्माताओं के ऊपर साइबर अटैक हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 12:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के परिवहन विभाग और ऑटो इंडस्ट्री पर साइबर अटैक का खतरा मंडरा रहा है. NHAI ने रविवार को एक एडवाइजरी जारी करते हुए परिवहन विभाग और ऑटो इंडस्ट्री को इससे बचाव के लिए तैयार रहने की सलाह दी है. आपको बता दें इस साइबर अटैक के बारे में NHAI को कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT) द्वारा आगाह किया गया था. जिसके बाद NHAI ने साइबर अटैक से बचने के लिए एडवाइजरी जारी की है.

इन सरकारी विभागों पर हो सकता है साइबर अटैक- CERT की रिपोर्ट के अनुसार एनआईसी, एनएचएआई, एनएचआईडीसीएल, आईआरसी, आईएएचई, राज्य पीडब्ल्यूडी, परीक्षण एजेंसियों और ऑटोमोबाइल निर्माताओं के ऊपर साइबर अटैक हो सकता है. जिसको ध्यान में रखते हुए CERT ने कहा- ये सभी संस्था CERT द्वारा अप्रूव एजेंसियों से आईटी प्रणाली की सुरक्षा का अपना ऑडिट कराए. जिससे की साइबर अटैक से बचाव किया जा सके.

यह भी पढ़ें: 2021 Triumph Bonneville T120 बाइक अनवील्ड हुई, यहां देखें इसकी खासियत

बीते कई महीनों में साइबर अटैक के मामले बढ़ें- 25 फरवरी की हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले कई महीनो में सरकारी विभागों को साइबर अटैका का शिकार बनाया गया है. जिसमें आरोपियों ने खुफिया जानकारी और जरूरी फाइलों में सेंध लगाने की कोशिश की. साइबर हमलों में फिशिंग ईमेल के जरिए सरकारी अधिकारियों के मेल पर कई ईमेल किए गए. जिनमें कई तरह के लुभावने ऑफर दिए गए थे.
सरकारी डोमेन से किए ईमेल - नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर के अनुसार साइबर हमले में सरकारी डोमेन से मिलते जुलते डोमेन यूज किए गए. जिससे की लोगों को भ्रमित किया जा सकते. नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर के अनुसार बीते कई महीनों में @gov.in और @nic.in से फिशिंग ईमेल आए थे.

यह भी पढ़ें: सबसे तेज चार्ज होती है ये लग्जरी कार, ड्राइविंग में मदद करता है Alexa, जानें सबकुछ

 बीते दिनों बिजली ग्रिड को बनाया था निशाना - अमेरिकी साइबर इंटेलिजेंस फर्म रिकॉर्डेड फ्यूचर की रिपोर्ट के अनुसार बीते दिनों भारत के बिजली ग्रिड पर साइबर हमला हुआ था. रिकॉर्डेड फ्यूचर के अनुसार ये हमला चीनी द्वारा किया गया था. जिसमें मुंबई में ब्लैक आउट हो गया था. वहीं केंद्रीय बिजली मंत्रालय ने साफ किया कि साइबर हमले का इनपुट नवंबर 2020 और फरवरी 2021 में मिला था. जिसकों पूरी तरह से विफल कर दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज