Home /News /auto /

ola uber app taxi users problem driver cancelling ride survey finds mbh

Ola-Uber यूजर्स को आ रही ये बड़ी परेशानी, 79 फीसदी के लिए 'ड्राइवर कैंसिलिंग राइड' सबसे बड़ा मुद्दा

उबर और रैपिडो अन्य आधुनिक जीवन शैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए हैं.

उबर और रैपिडो अन्य आधुनिक जीवन शैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए हैं.

ड्राइवरों द्वारा राइड कैंसिल करने या ग्राहकों से ऐसा करने के लिए कहने की शिकायतों में वृद्धि हुई, क्योंकि वे उस पते पर यात्रा नहीं करना चाहते हैं या वे डिजिटल के बजाय नकद भुगतान की मांग करते हैं.

नई दिल्ली. ऑनलाइन एप बेस्ड ओला या ऊबर जैसी टैक्सी सर्विस का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को इन दिनों नई परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. LocalCircles द्वारा किए गए एक सर्वे से पता चला है कि 79% ऐप टैक्सी यूजर्स के साथ ऐसा होता है कि जब वे डेस्टिनेशन या पेमेंट के लिए ऑनलाइन मोड पर चुनते हैं तो ड्राइवर उन्हें राइड कैंसिल करने के लिए कहते हैं.

पिछले 12 महीनों में ऐप टैक्सी में यात्रा करने वाले 58% ऐप टैक्सी यूजर्स ने “सुविधा” पर सवाल उठाया है. वर्तमान में ऐप-बेस्ड टैक्सी सर्विस प्रोवाइडर जैसे ओला, उबर और रैपिडो अन्य आधुनिक जीवन शैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए हैं. हालांकि, व्यापार की मात्रा पूर्व-महामारी के स्तर पर वापस नहीं आई है, फिर भी ऐप-आधारित टैक्सी व्यवसाय ने सवारी और वैल्यू के मामले में करीब 70 फीसदी तक रिकवरी कर ली है.

ये भी पढ़ें- इलेक्ट्रिक स्कूटरों में क्यों लग रही आग? जानिए लिथियम-आयन बैटरी को इस्तेमाल करने का तरीका

लॉकडाउन के बाद ज्यादा आई शिकायतें
कोरोन से सुधरे हालात के बाद से ड्राइवरों द्वारा राइड कैंसिल करने या ग्राहकों से ऐसा करने के लिए कहने की शिकायतों में वृद्धि हुई, क्योंकि वे उस पते पर यात्रा नहीं करना चाहते हैं या वे डिजिटल के बजाय नकद भुगतान की मांग करते हैं. इसके अलावा अन्य मुद्दों जैसे लंबे समय तक प्रतीक्षा करना, ड्राइवर मिस बिहेवियर, ज्यादा चार्ज और सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में शिकायतें मिलती रही हैं. ऊबर और ओला को भी इस तरह कई मामलों को सामना करना पड़ रहा है.

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी फटकार
2017 में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ऐप-आधारित परिवहन सेवा प्रदाताओं को विनियमित करने और महिला यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की आवश्यकता है. ओला और उबर दोनों ने 24×7 सुरक्षा हेल्पलाइन लेकर आए, हालांकि उपभोक्ताओं में टैक्सी एग्रीगेटर ऐप के लिए नकारात्मक भावनाएं बनी हुई हैं, जिसमें प्रमुख चिंताओं के बीच राइड, ज्यादा चार्जिंग, ग्राहक सेवा और सुरक्षा शामिल है.

ये भी पढ़ें-  Maruti Suzuki ने लॉन्च की ये नई सस्ती कार, पहली बार मिलेगा 34km से ज्यादा माइलेज, जानें कीमत

ऐसे हुआ सर्वे
LocalCircles ने यह सर्वे भारत के 324 जिलों में रहने वाले ऐप टैक्सी उपयोगकर्ताओं के साथ किया. सर्वे में 65,000 से अधिक प्रतिक्रियाएं मिलीं. इनमें से 66% प्रतिभागी पुरुष थे, जबकि 34% महिलाएं थीं. इस बीच 48% उत्तरदाता टियर 1 जिलों से, 31% टियर 2 से और 21% टियर 3, 4 और ग्रामीण जिलों से थे.

Tags: Auto News, Autofocus, Car Bike News, Ola Cab, Uber

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर