दिल्ली में 11-12 नवंबर को ऑड-इवन स्कीम से मिल सकती है राहत

दिल्ली में 11-12 नवंबर को ऑड-इवन स्कीम से मिल सकती है राहत
सिख सुमदाय के लोगों के लिए गुरु नानक देव की जयंती प्रकाश पर्व एक ऐतिहासिक और महत्त्वपूर्ण मौका है जिसे वे पूरी श्रद्धा के साथ मनाते हैं.

सिख समुदाय के एक प्रतिनिधि मंडल ने दिल्ली सरकार (Delhi Government) से मुलाकात करके मांग की कि श्री गुरुनानक देव जी (Guru Nanak Dev's birth anniversary) के 550वें प्रकाश पर्व पर 11-12 नवंबर को ऑड-इवन फार्मूले (Odd-Even Rule in Delhi) से छूट दी जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 11:04 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) गुरु नानक जयंती (Guru Nanak Dev's birth anniversary) के मौके पर 11-12 नवंबर को ऑड-इवन (Odd-Even) स्कीम में छूट दे सकती है, ताकि लोगों को कहीं आने जाने में दिक्कत का सामना न करना पड़े. दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Delhi Transport Minister Kailash Gahlot) ने कहा कि इस संबंध में सिख समुदाय के एक प्रतिनिधि मंडल ने सरकार से मुलाकात की. उनकी मांग थी कि श्री गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर 11-12 नवंबर को ऑड-ईवन फार्मूले से छूट दी जाए.

कैलाश गहलोत ने कहा कि सरकार इस मामले में गंभीरता से विचार कर रही है, ताकि दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में भारी संख्या रह रहे सिख समुदाय के लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े. उन्होंने ट्वीट किया, ''दिल्ली सरकार की तरफ से आप सभी को गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं. सरकार इस प्रकाश पर्व पर 11 व 12 नवंबर को ऑड-इवन से छूट देने के लिए सकारात्मक विचार कर रही है.''





दिल्ली के परिवहन मंत्री ने कहा कि ऑड-इवन स्कीम को लागू हुए तीन दिन हो चुके हैं, लेकिन बड़े स्तर पर नियमों के उल्लंघन की कोई खबर नहीं है. हालांकि, इस बीच यह भी एक समस्या उभरकर आ रही है जो लोग बच्चों को स्कूल छोड़ने के लिए जा रहे हैं, वापसी के वक्त उनके साथ क्या होगा. इस मामले में लोगों को नियम पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हैं.
बता दें कि सिख सुमदाय के लोगों के लिए गुरु नानक देव की जयंती प्रकाश पर्व एक ऐतिहासिक और महत्त्वपूर्ण मौका है जिसे वे पूरी श्रद्धा के साथ मनाते हैं. इस पर्व के मौके पर पूरे शहर में भव्य कीर्तन की तैयारियां हो रही है जिसमें लाखों श्रद्धालुओं के हिस्सा लेने की संभावना है. इस मौके पर 11 और 12 नवंबर को लाखों लोग पूरे शहर के अलग-अलग गुरुद्वारों में भी जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज