होम /न्यूज /ऑटो /ऐसा हुआ तो चालान होने के बाद भी नहीं पड़ेगा भरना, जानें क्या है नियम

ऐसा हुआ तो चालान होने के बाद भी नहीं पड़ेगा भरना, जानें क्या है नियम

गाड़ी चलाते समय चालान से बचने के लिए सभी नियम का पालन करें, image-canva

गाड़ी चलाते समय चालान से बचने के लिए सभी नियम का पालन करें, image-canva

सड़क पर गाड़ी चलाते समय अगर कोई ना कमी हो तो चलाना होने के डर से कई बार लोग पुलिस से बचने की कोशिश करते हैं. लेकिन कैमर ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

ऑनलाइन चालान होने पर इसे 6 महीने के बाद भरने की जरूरत नहीं पड़ती है.
अगर आपके एड्रेस पर यह चालान पहुंचे तो आप इसे एक्सपायर समझकर नजरअंदाज कर सकते हैं.
सीआरपीसी की धारा 468 (2) कानून के अंतर्गत लोग इसका फायदा उठा रहे हैं.

हमारे देश की सड़कों पर अलग-अलग तरह की गाड़ियां चलती है. सुरक्षा के कई कड़े कानून बनाने के बावजूद भी कुछ लोग इसका पालन करने से चूक जाते हैं. ऐसी स्थिति में वे चालान से बचने के लिए पुलिस से नजरें छुपा कर निकल तो जाते हैं. लेकिन कई बार कैमरे की नजर में आने के बाद उनके घर पर चालान पहुंच जाती है. आमतौर पर रेड लाइट क्रॉस करने या फिर ओवर स्पीडिंग के मामलों में ऐसा होता है. ऐसी स्थिति में कुछ लोग डर भी जाते हैं.
अगर आपके घर कोई चालान पहुंचे तो इसे भरने से मना कर सकते हैं. इसके अलावा आपको किसी भी तरह की पनिशमेंट भी नहीं दी जाएगी. बहुत सारे लोग इस कानून का फायदा उठा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: कैसे पता चलेगा खराब होने वाले हैं आपकी गाड़ी के ब्रेक, कब करने होते हैं रिप्लेस?

क्या है कानून
सीआरपीसी की धारा 468 (2) के तहत अगर किसी भी वाहन के ऊपर चालान हो और इसे हुए 6 महीने से ज्यादा हो गए हो तो ऐसी स्थिति में आप इससे बहुत ही आसानी से बच सकते हैं. इस कानून के तहत आपको चालान भरने की जरूरत नहीं है. दरअसल 6 महीने चलन की एक्सपायरी डेट होती है. 6 महीने के भीतर अगर आपके एड्रेस पर चालान पहुंच जाए तो आपको इसे भरना ही पड़ेगी. इसके अलावा आप सीधे तौर पर इस चलन को भरने से मना कर सकते हैं.

चालान से बचने के लिए अपनाएं यह तरीका
कई बार सड़क पर गाड़ी चलाते समय पुलिस से नोकझोंक हो जाने पर वे हजारों रुपए का चालान कर देते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं कई बार तो ऐसा भी होता है जब आपके पास डॉक्यूमेंट होते हैं और उसे देखने के बावजूद भी किसी वजह से चालान हो जात है. ऐसी स्थिति में भी आप हजारों रुपए खर्च करने से बच सकते हैं. इसके लिए कोई नियम कानून नहीं बल्कि एक प्रोसेस है. इस को अपनाने की जरूरत पड़ेगी. अगर आप ऐसी स्थिति में फंस जाए तो आपको ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है. गाड़ी वहीं छोड़कर वापस घर जा सकते हैं. 

यह भी पढ़ें: नई कार खरीदने का है प्लान ? भारत में लॉन्च होंगी ये ‘छोटी’ कारें

कोर्ट में भरें फाइन
चालान की पर्ची लेने के बाद गाड़ी में ही छोड़ दे और उस पर जी को लेकर डायरेक्ट कोर्ट जा सकते हैं. कोर्ट में आप गाड़ी के कागजात दिखाकर बहुत ही आसानी से अपनी गाड़ी को छुड़ा सकते हैं. इसके लिए आपको फाइन के रूप में कुछ पैसे देने पड़ेंगे. आमतौर पर अगर 40000 का चालान हो तो ऐसी स्थिति में अब केवल 4000 देकर भी बच सकते हैं. याद रहे कि इससे बचने के लिए आपके पास गाड़ी के सभी कागजात होना बहुत जरूरी है, इसे नहीं होने पर गाड़ी हमेशा के लिए भी जब्त हो सकती है.

Tags: Auto News, Bike news, Car Bike News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें