होम /न्यूज /ऑटो /भारत से यात्री वाहनों का निर्यात 43 प्रतिशत बढ़ा, कौन सी ऑटो कंपनी exports में रही सबसे आगे

भारत से यात्री वाहनों का निर्यात 43 प्रतिशत बढ़ा, कौन सी ऑटो कंपनी exports में रही सबसे आगे

 मारुति सुजुकी इंडिया 2.3 लाख से अधिक इकाइयों के साथ सबसे आगे रही.

मारुति सुजुकी इंडिया 2.3 लाख से अधिक इकाइयों के साथ सबसे आगे रही.

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सिआम) के आंकड़ों के मुताबिक यात्री कार सेक्शन में 42 प्रतिशत वृद्धि के साथ ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली . ऑटो उद्योग के संगठन सिआम के ताजा आंकड़ों के अनुसार भारत से यात्री वाहनों का निर्यात वित्त वर्ष 2021-22 में 43 प्रतिशत बढ़ गया. निर्यात में मारुति सुजुकी इंडिया सबसे आगे रही. इसने 2.3 लाख से अधिक इकाइयों के निर्यात के साथ पहले स्थान पर रही है. आंकड़ों के मुताबिक 2021-22 में कुल यात्री वाहनों (पीवी) का निर्यात 5,77,875 इकाई रहा, जबकि 2020-21 में यह आंकड़ा 4,04,397 इकाई था.

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सिआम) के आंकड़ों के मुताबिक यात्री कार सेक्शन में 42 प्रतिशत वृद्धि के साथ 3,74,986 इकाइयों का निर्यात किया गया. वहीं, यूटिलिटी ऑटो सेक्शन में निर्यात 46 प्रतिशत बढ़कर 2,01,036 इकाइयों पर पहुंच गया.

यह भी पढ़ें- Maruti Suzuki की कार हुईं महंगी, सभी मॉडल की कीमतों में 1.3% का इजाफा

निर्यात में दूसरे नंबर पर हुंडई
वित्त वर्ष 2021-22 में वैन का निर्यात बढ़कर 1,853 इकाई हो गया, जो वित्त वर्ष 2020-21 में 1,648 इकाई था. निर्यात के लिहाज से मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) अग्रणी रही, जबकि इसके बाद हुंडई मोटर इंडिया और किआ इंडिया रहे. एमएसआई ने समीक्षाधीन अवधि में 2,35,670 यात्री वाहनों का निर्यात किया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले दोगुने से अधिक है.

दोपहिया की थोक बिक्री 10 साल के निचले स्तर पर
पिछले हफ्ते सियाम ने सालान आधार पर गाड़ियों के बिक्री के आंकड़े जारी किए थे. सियाम के मुताबिक, देश में वित्त वर्ष 2021-22 में दोपहिया वाहनों की बिक्री घटकर 10 साल के निचले स्तर पर आ गई. सियाम के अनुसार, बीते वित्त वर्ष में विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की कुल बिक्री घटकर 1,75,13,596 इकाई रह गई. 2020-21 में वाहन बिक्री का कुल आंकड़ा 1,86,20,233 इकाई रहा था.

यह भी पढ़ें- 2022 Kia Seltos: नई SUV के ये 5 फीचर्स बढ़ा देंगे Hyundai Creta की मुसीबत

सियाम के आंकड़ों के अनुसार, बीते वित्त वर्ष में दोपहिया की थोक बिक्री 10 साल के निचले स्तर पर आ गई. वहीं यात्री वाहनों की थोक बिक्री 2017-18 और 2018-19 के स्तर से कम रही. यदि 2020-21 को छोड़ दिया जाए, तो तिपहिया वाहनों की बिक्री का आंकड़ा 19 साल में सबसे कम है.

मोटरसाइकिल बिक्री घटी
सियाम के आंकड़ों के अनुसार मार्च, 2022 में देश में यात्री वाहनों की कुल बिक्री एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में चार प्रतिशत घटकर 2,79,501 इकाई रह गई. मार्च, 2021 में यात्री वाहनों की बिक्री 2,90,939 इकाई रही थी.

मार्च में दोपहिया वाहनों की बिक्री 21 प्रतिशत घटकर 11,84,210 इकाई रह गई. मार्च, 2021 में दोपहिया वाहनों की बिक्री 14,96,806 इकाई रही थी. इस दौरान मोटरसाइकिल बिक्री 21 प्रतिशत घटकर 9,93,996 इकाई से 7,86,479 इकाई रह गई. स्कूटरों की बिक्री भी 21 प्रतिशत घटकर 3,60,082 इकाई रही. एक साल पहले समान महीने में दोपहिया कंपनियों ने 4,58,122 स्कूटर बेचे थे.

Tags: Auto News, Auto sales, Maruti Alto 800, Maruti Suzuki, Maruti Suzuki Baleno

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें