ऑटो सेक्टर में 19 साल की सबसे बड़ी गिरावट, कारों की बिक्री 36% घटी

यात्री वाहनों की बिक्री जुलाई में लगातार नौवें महीने गिरी है. ये 30.98 प्रतिशत घटकर 2,00,790 वाहन रही है, जो जुलाई 2018 में 2,90,931 वाहन थी

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 2:13 PM IST
ऑटो सेक्टर में 19 साल की सबसे बड़ी गिरावट, कारों की बिक्री 36% घटी
यात्री वाहनों की बिक्री जुलाई में लगातार नौवें महीने गिरी
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 2:13 PM IST
देश में जुलाई की वाहन बिक्री में 19 साल की 18.71 प्रतिशत की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. ऑटो इंडस्ट्री पिछले दो-तीन महीने से भारी दबाव झेल रहा है. इसके चलते इस सेक्टर के 15,000 लोग अपनी नौकरी गंवा चुके हैं और 10 लाख से अधिक नौकरियों पर खतरा मंडरा रहा है. भारतीय वाहन विनिर्माताओं के संगठन ‘सियाम’ ने मंगलवार को आंकड़े जारी किए, जिसके मुताबिक देश में कुल वाहन बिक्री जुलाई में 18.71 प्रतिशत गिरकर 18,25,148 वाहन रही, जो जुलाई 2018 में 22,45,223 वाहन थी.

ये दिसंबर 2000 के बाद वाहन बिक्री में आई सबसे बड़ी गिरावट है. उस दौरान वाहन बाजार में 21.81 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी. इसी तरह यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री जुलाई में भी करीब 19 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखी गई है. ये लगातार नौवें महीने गिरी है. इस दौरान यात्री वाहनों की बिक्री 30.98 प्रतिशत घटकर 2,00,790 वाहन रही है जो जुलाई 2018 में 2,90,931 वाहन थी. इससे पहले दिसंबर 2000 में यात्री वाहनों की बिक्री में 35.22 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी. सियाम के मुताबिक, समीक्षावधि (रिव्यू पीरियड) घरेलू बाजार में कार की बिक्री 35.95 प्रतिशत टूटकर 1,22,956 वाहन रही. जो कि जुलाई 2018 में 1,91,979 वाहन थी.

ये भी पढ़ें: कार खरीदारों के लिए खुशखबरी, गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन फीस नहीं बढ़ाएगी सरकार

इसी तरह मोटरसाइकिल की घरेलू बिक्री पिछले महीने 9,33,996 इकाई रही, जो जुलाई 2018 की 11,51,324 इकाई बिक्री के मुकाबल 18.88 प्रतिशत कम है. जुलाई में दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 15,11,692 वाहन रही. वहीं जुलाई 2018 में ये आंकड़ा 16.82 प्रतिशत अधिक यानी 18,17,406 वाहन था. वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में भी समीक्षावधि के दौरान गिरावट देखी गई है. ये 25.71 प्रतिशत घटकर 56,866 वाहन रही जो पिछले साल जुलाई में 76,545 वाहन थी.

ये भी पढ़ें: ...तो क्या नहीं बंद होंगी पेट्रोल-डीजल गाड़ियां, इस वजह से मिल सकती है ढील!

विविध श्रेणियों में कुल वाहन बिक्री जुलाई में 18.71 प्रतिशत गिरकर 18,25,148 वाहन रही जो जुलाई 2018 में 22,45,223 वाहन थी. सियाम के मुताबिक सभी वाहन श्रेणियों में जुलाई में गिरावट दर्ज की गई है.

नकदी संकट बढ़ा
Loading...

बताया जा रहा है कि ऑटो सेक्टर की मौजूदा हालत को ध्यान में रखते हुए सरकार गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ाने का विचार अगले कुछ महीनों के लिए टाल सकती है. इस मामले की जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि मुमकिन है कि सरकार अगले साल इसे लागू करे. सरकार लंबे समय से रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ाना चाहती थी, लेकिन मौजूदा हालत को देखकर इसे टालना ही बेहतर माना जा रहा है. सूत्रों ने बताया कि अभी इस मामले में आखिरी फैसला नहीं लिया गया है, लेकिन हो सकता है कि सरकार अगले साल जनवरी से रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ाए. NBFC क्राइसिस के बाद नकदी संकट बढ़ गया. इसका सबसे बुरा असर ऑटो सेक्टर पर पड़ा है. ऐसे में रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ाने से ऑटो सेक्टर की मुश्किल और बढ़ सकती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 13, 2019, 1:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...