• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • कार खरीदने का है प्लान! तो इन बातों का रखें ध्यान, जिससे बाद में न हो कोई परेशानी

कार खरीदने का है प्लान! तो इन बातों का रखें ध्यान, जिससे बाद में न हो कोई परेशानी

ऑस्ट्रेलिया में बाप-बेटे कार में 12 घंटे फंसे रहे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ऑस्ट्रेलिया में बाप-बेटे कार में 12 घंटे फंसे रहे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कार (Car) खरीदने से पहले आप उसका माइलेज जरूर जान लें. क्योंकि पेट्रोल (petrol) की तुलना में डीजल (diesel) और सीएनजी कारों का माइलेज ज्यादा होता है. लेकिन अब पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई खासा अंतर नहीं बचा है. ऐसे में डीजल कार खरीदना समझादारी की बात नहीं है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कार खरीदना सबका सपना होता है, लेकिन बहुत से लोग पहली कार खरीदते समय गलती कर देते है. जिस की वजह से उन्हें बाद में परेशानी का सामना करना पड़ता है. ऐसे में हम आपको कार खरीदने के कुछ टिप्स देने वाले हैं. जिससे आपको बाद में किसी तरह की परेशानी न हो. इन टिप्स की मदद से आप अपनी जरूरत के मुताबिक कार खरीद लेंगे और पूरी खुशी के साथ उसकी ड्राइव का आनंद लेंगे. आइए जानते है कार खरीदने के जरूरी टिप्स...
    कार कंपनी का चुनाव कैसे करें- पहली कार का अनुभव लोगों को हमेशा याद रहता है. यदि किसी का अपनी कार के साथ पहला अनुभव ठीक नहीं रहा है तो उनके लिए हमारी यह सलाह जरूर काम आएगी. भारतीय बाजार में मारुति सुजुकी, हुंडई, टाटा, महिंद्रा, फोर्ड, किआ, फॉक्सवैगन, टोयोटा, होंडा, निसान, रेनो समेत कई कार कंपनियां मौजूद हैं. लेकिन इनमें मारुति सबसे ज्यादा कार बेचने वाली कंपनी है. वहीं, दूसरे नंबर पर हुंडई फिर टाटा का नाम आता है. ऐसे में जरूरी नहीं है कि, जो कार सबसे ज्यादा बिक रही है वह कार बेहतर है और जो सबसे कम बिक रही है उसका परफॉर्मेंस अच्छा नहीं है. ऐसे में आप अपनी पसंद की कंपनी का चुनाव करें. आपके आसपास जो लोग कार चला रहे हैं, उनकी सलाह लें साथ ही, कार से जुड़े एक्सपीरियंस को भी जानें.

    यह भी पढ़ें: नए साल में हीरो मोटोकॉर्प की ये बाइक हो जाएंगी महंगी, जानिए कितनी बढ़ेगी कीमत

    कार खरीदते समय जरूरत का ध्यान रखें- कार कंपनी के सिलेक्शन के बाद आपकों देखना होगा कि आप कितने सीटर कार खरीदना चाहते है. यदि आपका परिवार छोटा है तो आपके लिए हैचबैक सही ऑप्शन होगी. यदि आपके परिवार में 5 से ज्यादा लोग है तो आपको 7 सीटर कार खरीदनी चाहिए. वहीं दूसरी यदि आपके शहर की सड़के खराब है तो आप एसयूवी खरीद सकते है. यदि आप ज्यादा लगेज लेकर चलते हैं तब आपके लिए सेडान कार ठीक रहेंगी.

    यह भी पढ़ें: हुंडई क्रेटा का 7 सीटर वेरिएंट जल्द होगा लॉन्च, जानिए लॉन्चिंग डेट और फीचर्स
    कार का माइलेज और मेंटेनेंस खर्च समझना जरूरी- कार खरीदने से पहले आप उसका माइलेज जरूर जान लें. क्योंकि पेट्रोल की तुलना में डीजल और सीएनजी कारों का माइलेज ज्यादा होता है. लेकिन अब पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई खासा अंतर नहीं बचा है. ऐसे में डीजल कार खरीदना समझादारी की बात नहीं है. क्योंकि डीजल कार का मेंटनेंस खर्च पेट्रोल कार की तुलना में कही ज्यादा होता है. दूसरी ओर सीएनजी की कीमत बेशक कम तो है. लेकिन सीएनजी किट की वजह से कार में स्पेस की कमी जरूर हो जाती है. ऐसे में आप अपनी पॉकेट और जरूरत के हिसाब से कार का चुनाव करें.

    इंश्योरेंस और दूसरे पेपर- कार खरीदते वक्त इंश्योरेंस सबसे जरूरी होता है. लगभग सभी कंपनियां कार इंश्योरेंस अपने डीलर से करा के देती हैं, ऐसे में यदि आपको बाहर से इंश्योरेंस कम कीमत में मिल रहा है तब आप बाहर से ही इंश्योरेंस कराए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन