वाहनों पर स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू होने से होंगे 5 बड़े फायदें, यहां देखें डिटेल्स

स्क्रैपिंग पॉलिसी के लागू होने के बाद होंगे कई फायदे.

स्क्रैपिंग पॉलिसी के लागू होने के बाद होंगे कई फायदे.

Scraping Policy के लागू होने के बाद 20 साल पुराने प्राइवेट वाहन और 15 साल पुराने कमर्शियल वाहन सड़क से हटा दिए जाएगे. वहीं 8 साल पुराने वाहनों पर ग्रीन टैक्स लगाया जाएगा. जिसको पर्यावरण सुधारने के लिए खर्च किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 3:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले दिनों बताया था कि, केंद्रीय बजट 2021-22 में केंद्र सरकार ने स्क्रैपिंग पॉलिसी की घोषणा की थी. जिसको देश में जल्द ही लागू किया जाएगा. इस पॉलिसी के लागू होने के बाद 20 साल पुराने प्राइवेट वाहन और 15 साल पुराने कमर्शियल वाहन सड़क से हटा दिए जाएगे. वहीं 8 साल पुराने वाहनों पर ग्रीन टैक्स लगाया जाएगा. जिसको पर्यावरण सुधारने के लिए खर्च किया जाएगा. आइए जानते है स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू होने से आपको कौन से 5 फायदे हो सकते है.

नया वाहन खरीदने पर मिलेगी 5 प्रतिशत की छूट- यदि आप स्क्रैपिंग पॉलिसी में अपने पुराने वाहन को कबाड़ करके नया वाहन खरीदते हैं. तो आपको सभी कंपनी के टू-व्हीलर और फोर व्हीलर वाहन पर 5 प्रतिशत की छूट मिलेगी. 

यह भी पढ़ें: देश की सबसे सस्ती कार पर मिल रहा है 45 हजार रुपये का डिस्काउंट, जानें कीमत और फीचर्स

नए वाहनों की कीमत में 30 से 40 फीसदी की होगी कमी- केंद्रीय मंत्री के अनुसार अभी ऑटो सेक्टर को नए वाहन के निर्माण के लिए स्टील, रबर एल्यूमीनियम और रबर को इम्पोर्ट करना पड़ता है. जिससे नए वाहनों की कीमत बढ़ जाती है. वहीं उन्होंने कहा- स्क्रैपिंग पॉलिसी के लागू होने के बाद स्टील, रबर एल्यूमीनियम और रबर के इम्पोर्ट की जरूरत नहीं होगी. जिससे वाहनों की कीमतों में 30 से 40 फीसदी की कमी आएगी.
स्क्रैपिंग पॉलिसी से ऑटो सेक्टर की होगी ग्रोथ- इस समय देश में करीब 4.5 लाख करोड़ रुपये का ऑटो सेक्टर का सालाना बिजनेस होता है. गडकरी के अनुसार स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू होने के बाद ऑटो सेक्टर का बिजनेस करीब 10 लाख करोड़ रुपये सालाना के आसपास पहुंच जाएगा. वहीं उन्होंने बताया कि, इससे देश में करीब 50 हजार से ज्यादा रोजगार बढ़ेंगे.

यह भी पढ़ें: New Arizona Blue कलर में खरीदें टाटा टियागो, जानें सबकुछ

ऑटो सेक्टर में रोजगार के अवसर बढ़ेगे- जब पुराने वाहनों को कबाड़ और नए वाहनों की कीमत 30 से 40 फीसदी कम हो जाएगी. तो देश में नए वाहनों की डिमांड बढ़ेगी ऐसे में ऑटो सेक्टर में रोजगार के अवसर बढ़ेगे. एक अनुमान के अनुसार आने वाले दिनों में ऑटो सेक्टर में 50 हजार नए वैकेंसी आएगी.



प्रदूषण होगा कम, पर्यावरण को होगा फायदा- स्क्रैपिंग पॉलिसी के लागू होने के बाद जो वाहन ज्यादा प्रदूषण करते है. उन्हें सड़क से हटा दिया जाएगा. ऐसे में मेट्रो शहरों के साथ छोटे शहरों में भी प्रदूषण कम होगा और इससे पर्यावरण शुद्ध होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज