Home /News /auto /

सेकेंड हैंड कार मार्केट टॉप गियर में, इस फील्ड के तीन Startup बने यूनिकॉर्न, कैसा रहेगा कारोबार ?

सेकेंड हैंड कार मार्केट टॉप गियर में, इस फील्ड के तीन Startup बने यूनिकॉर्न, कैसा रहेगा कारोबार ?

 इस महीने की शुरुआत में ही स्पिनी में 28 करोड़ डॉलर से अधिक का निवेश आया है.

इस महीने की शुरुआत में ही स्पिनी में 28 करोड़ डॉलर से अधिक का निवेश आया है.

सेकेंड हैंड कार के बढ़ते ट्रेंड की वजह से इस फील्ड में काम रही कंपनियों का भी बिजनेस तेजी से बढ़ा है. इस बिजनेस के तीन स्टार्ट साल 2021 में यूनिकॉर्न बन गए. निवेशक सेकेंड हैंड का बिजनेस कर रहे इन स्टार्टअप में जमकर पैसा लगा रहे हैं. इन नई कंपनियों ने नए नए बिजनेस के तरीके निकाले हैं और ग्राहक तेजी से इनसे जुड़े रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

Unicorn Club: भारत में एक बड़ा तबका ऐसा है जो सेकेंड हैंड कारों को खरीदने को प्राथमिकता देता है. बहुत सारे नए ग्राहक ऐसे भी होते हैं जो पहले सेकेंड हैंड कार ही खरीदते हैं. लिहाज देश में सेकेंड हैंड कार खरीदने का क्रेज तेजी से बढ़ा है. इस बढ़ते ट्रेंड की वजह से इस फील्ड में काम रही कंपनियों का भी बिजनेस तेजी से बढ़ा है. वहीं इस बिनजेस में उतरे कुछ स्टार्टअप ने तो जोरदार तेजी दर्ज की है. इस बिजनेस के तीन स्टार्ट साल 2021 में यूनिकॉर्न बन गए. यूनिकॉर्न उन स्टार्टअप को कहते हैं जिनका वैल्यूएशन एक अरब डॉलर को पार कर गया हो.

निवेशक सेकेंड हैंड का बिजनेस कर रहे इन स्टार्टअप में जमकर पैसा लगा रहे हैं. इन नई कंपनियों ने नए नए बिजनेस के तरीके निकाले हैं और अब ग्राहक तेजी से इनसे जुड़े हैं. इनमें जूम, कार देखो और स्पिनी का नाम प्रमुख है. ये तीनों स्टार्टअप का प्रदर्शन अपने फिल्ड में काफी अच्छा है.

फंड जुटाने में भी स्पीड तेज
इस महीने की शुरुआत में ही स्पिनी में 28 करोड़ डॉलर से अधिक का निवेश आया है. इसके साथ ही 6 महीने में ही स्पिनी का वैल्यूएशन दोगुना होकर 1.8 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. अगर बात cars24 की करें तो इसके वैल्यूएशन में सिर्फ 3 महीने में 60 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है और यह 3.3 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. कार देखो ने इस साल अक्टूबर में 25 करोड़ डॉलर की फंडिंग जुटाई है जिसमें 20 करोड़ डॉलर सीरीज इक्विटी और 50 मिलियन डॉलर आईपीएल से पहले कर्ज के रूप में जुटाया गया है.

यह भी पढ़ें- करोड़पति बनने का कारगर फार्मूला है 15 X 15 X 15 का निवेश मंत्र, जानिए डिटेल

ग्रोथ की रफ्तार भी तेज
सेकेंड हैंड कार बेचने वाले प्लेटफार्म ड्रूम में आईपीओ से पहले फंडिंग राउंड में 20 करोड़ डॉलर की रकम जुटाई है. ओएलएक्स ऑटो-क्रिसिल की हाल में की गई एक स्टडी के मुताबिक देश के सेकेंड हैंड कार बाजार में 4 साल में शानदार वृद्धि होने की उम्मीद है. यह बढ़कर 70 लाख यूनिट पर पहुंच सकता है. वित्त वर्ष 2021 में यह आंकड़ा 40 लाख यूनिट पर रहा है. इस बारे में लगाए गए अनुमान के हिसाब से वित्त वर्ष 2022 के अंत तक सेकेंड हैंड कार मार्केट का सेगमेंट 44 लाख यूनिट पर पहुंच सकता है.

विदेश में कारोबार बढ़ाने पर ध्यान
देश में यूनिकॉर्न के बढ़ते क्रेज की वजह से स्टार्टअप अब अधिक से अधिक लोगों को नियुक्त कर रहे हैं और अपने टेक इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाकर बाजार पर कब्जे की कोशिश कर रहे हैं. स्पिनी के फाउंडर और सीईओ नीरज सिंह ने मीडिया से बाकचीत में कहा था कि इस समय हम 13 शहरों में काम कर रहे हैं. अगली दो तिमाही में 25 शहरों में अपना कामकाज फैलाने की योजना बना रहे हैं. हमने अपने टेक विभाग में 40 कामयाब लोगों के साथ प्रोडक्ट में 200 लोगों की भर्ती की है. हम अब कारोबार बढ़ाने में तेजी से निवेश कर रहे हैं.

cars24 के संस्थापक और सीईओ विक्रम चोपड़ा ने कहा कि अब हम ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड और मध्यपूर्व के देशों में कामकाज बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं. फंडिंग के जरिए मिली रकम से अब हम विदेश में अपना कारोबार बढ़ाने पर फोकस कर रहे हैं.

Tags: Auto, Auto News, Car, Car Bike News, Car loan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर