• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • ये है शाहरुख खान की फेवरिट कार, आज भी हैं इमोशनल, देखें वीडियो

ये है शाहरुख खान की फेवरिट कार, आज भी हैं इमोशनल, देखें वीडियो

हुंडई की इस कार ने उसी वक्त भारत के बाजार में एंट्री मारी थी. तब से लेकर अब तक यह कार उनकी फेवरिट कार बनी हुई है.

हुंडई की इस कार ने उसी वक्त भारत के बाजार में एंट्री मारी थी. तब से लेकर अब तक यह कार उनकी फेवरिट कार बनी हुई है.

हुंडई की इस कार ने उसी वक्त भारत के बाजार में एंट्री मारी थी. तब से लेकर अब तक यह कार उनकी फेवरिट कार बनी हुई है.

  • Share this:
    शाहरुख खान (Shahrukh Khan) पिछले दो दशक से हुंडई (Hyundai) के ब्रैंड एंबेसेडर हों लेकिन अपने आपको वह अभी भी 'सैंट्रो वाला' ही कहते हैं. शाहरुख खान ने आज से 22 साल पहले सैंट्रो के इंडोर्समेंट के लिए कॉन्ट्रैक्ट साइन किया था. हुंडई ने उसी वक्त भारत के बाजार में एंट्री मारी थी. तब से लेकर अब तक सैंट्रो उनकी फेवरिट कार बनी हुई है.

    ऑटो एक्सपो (Auto Expo 2020) में मीडिया कर्मियों से बात करते हुए उन्होंने यहां क्रेटा एसयूवी को अनवील किया और कंपनी और इसके प्रोडक्ट्स के साथ उनके लंबे रिलेशन के लिए क्रेडिट भी दिया. इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि हुंडई का कौन सा प्रोडक्ट उन्हे सबसे ज्यादा पसंद है तो उन्होंने कहा कि वे कंपनी के एमडी और दूसरे लोगों से भी कहते हैं कि 'मैं सैंट्रो वाला हूं'. आगे उन्होंने कहा कि 'अब मैं कंपनी का कॉर्पोरेट ब्रैंड एंबेसेडर हूं और मुझे क्रेटा के बारे में बात करनी है लेकिन अभी भी मैं ऑलटाइम सैंट्रो वाला हूं.'



    उन्होंने कहा कि मुझे इसका नाम काफी पसंद है. कुछ चीजों के नाम काफी अच्छे होते हैं ये भी उनमें से एक है. उन्होंने कहा कि जब मैंने सैंट्रो के इंडोर्समेंट के लिए डॉक्युमेंट साइन किया तो वह मेरे लिए काफी बड़ा पल था. उस वक्त मुझे बड़े होने की फीलिंग आई. यह मेरे लिए न सिर्फ सम्मान की बात थी बल्कि मुझे फील हुआ कि मैंने जीवन में कुछ बड़ा किया है.

    यह वही समय था जब मुंबई में अपने ऐक्टिंग करियर की वे शुरुआत कर रहे थे. उस वक्त किसी प्रोडक्ट का ब्रैंड एंबेसेडर होना या उसके लिए मॉडलिंग जैसा कोई कॉन्सेप्ट नहीं था. उन्होंने कहा, 'उस वक्त मुझे यह नहीं पता था कि इसका क्या परिणाम होगा. एक इंटरनेशनल ब्रैंड जो कि उस वक्त इंडिया में आने वाला था उसका ब्रैंड ऐंबेसेडर होना अच्छा था लेकिन शायद ही उस वक्त किसी ने सोचा हो कि यह यात्रा इतनी लंबी होगी.



    जब हुंडई से उनके लंबे रिश्ते की बात की गई तो उन्होंने कहा कि जब आप किसी ब्रैंड को साइन करते हैं या कोई ब्रैंड आपको साइन करता है तो लंबे समय तक के रिश्ते के बारे में ही सोचना चाहिए और यह तभी हो सकता है जब आपका ब्रैंड अच्छा परफॉर्म कर रहा हो. आगे उन्होंने कहा कि ब्रैंड एंबेसेडर होना फैशनेबल और कूल लग सकता है लेकिन अगर प्रोडक्ट अच्छा नहीं है तो एंबेसेडर इसमें कोई सहायता नहीं कर सकता.

    उन्होंने कहा कि मैं उनके साथ पिछले 22 सालों से हूं क्योंकि कंपनी ने पिछले 22 सालों से काफी अच्छा परफॉर्म किया है. बैटरी चालित कारों में बारे में कमेंट करते हुए उन्होंने कहा कि बैटरी डिस्पोजल और संबंधित लाइफ साइकिल मैनेजमेंट पर भी ध्यान देना होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज