झटका: महंगी हो सकती है महिंद्रा की कारें; इस साल दूसरी बार बढ़ने जा रही हैं कीमतें

महंगी होने जा रही जाएंगी महिंद्रा की कारें

महंगी होने जा रही जाएंगी महिंद्रा की कारें

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने शनिवार (6 फरवरी) को कहा कि वह इनपुट कॉस्ट में स्पाइक का मुकाबला करने के लिए अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उत्पादों की कीमत में एक और बढ़ोतरी पर विचार कर रही है. कंपनी ने जनवरी में अपनी पूरी रेंज की कीमतों में लगभग 2 प्रतिशत की वृद्धि की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2021, 8:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महिंद्रा एंड महिंद्रा (M&M) एक बार फिर अपने सभी वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी करने को लेकर विचार कर रही है. कंपनी ने शनिवार (6 फरवरी) को कहा कि वह इनपुट कॉस्ट में स्पाइक का मुकाबला करने के लिए अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उत्पादों की कीमत में एक और बढ़ोतरी पर विचार कर रही है. कंपनी ने जनवरी में अपनी पूरी रेंज की कीमतों में लगभग 2 प्रतिशत की वृद्धि की थी.

कीमत बढ़ोतरी को लेकर कंपनी ने क्या कहा?
महिंद्रा एंड महिंद्रा के ऑटोमोटिव एंड फार्म सेक्टर के कार्यकारी निदेशक राजेश जेजुरिकर ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए संवाददाताओं से कहा, "हमने जनवरी में अपने कुछ वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी की है लेकिन आगे अगर चीजें कंट्रोल में नहीं आतीं है तो हम अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एक बार फिर से कीमत बढ़ाने को लेकर विचार कर सकते हैं. जेजुरिकर ने आगे कहा, "हम मटेरियल कॉस्ट, वैल्यू इंजीनियरिंग और फिक्स्ड कॉस्ट को मैनेज करते हुए इस तरह की बढ़ोतरी को कम करने की कोशिश करते हैं.'

यह भी पढ़ें- Mahindra की नई थार के इंजन में आई गड़बड़ी, कंपनी ने सुधार के लिए रिकॉल की SUV
दिसंबर तिमाही में कंपनी का मुनाफा 39.6 प्रतिशत बढ़ा


5 फरवरी को महिंद्रा एंड महिंद्रा और उसकी सहयोगी कंपनी महिंद्रा व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग का दिसंबर तिमाही की रिपोर्ट जारी की. रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी का मुनाफा 39.6 प्रतिशत बढ़कर 53€0 करोड़ रुपये रहा. कंपनी के मुनाफे पर सब्सिडियरी कंपनियों के एसेट्स को हुए नुकसान का असर पड़ा.

जनवरी में कंपनी ने वाहनों का बढ़ाया था 1.9% दाम
बता दें कि पिछले माह ही महिंद्रा ने तत्काल प्रभाव से पर्सनल और कमर्शियल वाहनों की कीमत में लगभग 1.9% की वृद्धि की घोषणा की थी. हाल ही में महिंद्रा ने अपने उत्तरी अमेरिकी ऑपरेशन में नौकरियों में कटौती भी की है और कंपनी इसे आगे भी जारी रख सकती है.
इस संबंध में वर्चुअल कांन्फ्रेंस में जब सवाल पूछा गया तो जेजुरिकर ने कहा कि मैनपावर ट्रैक्टर व्यवसाय से नहीं बल्कि मुख्य रूप से डेट्रायट में प्रोडक्ट डेवलपमेंट सेंटर से जुड़ा था. उन्होंने छंटनी करने को लेकर कहा कि वह छंटनी इसलिए की गई क्योंकि कंपनी ने अमेरिका की पोस्टल सर्विसेस के अनुबंध के लिए बोली नहीं लगाने का फैसला किया था.

यह भी पढ़ें-  कार के कम माइलेज से हैं परेशान तो इन टिप्स को जरूर करें फॉलो, जानें डिटेल्स

ऑफ-रोडर रॉक्सर लाॅन्च करने का किया ऐलान
वर्चुअल कांन्फ्रेंस में ही कंपनी ने ऑफ-रोडर रॉक्सर की लाॅन्चिंग को लेकर ऐलान भी किया. कंपनी ने कहा कि हमें नए रॉक्सर मॉडल के लिए मंजूरी मिल गई है। हम एक रीलॉन्च अप्रोच पर काम कर रहे हैं।'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज