ऑटो सेक्टर ने Diwali से पहले ही मनाई दीवाली, अक्टूबर में हुई रिकॉर्ड गाड़ियों की हुई बिक्री और उत्पादन

ऑटो सेक्टर ने पहले ही मनाई दीवाली, अक्टूबर में रिकॉर्ड गाड़ियों की Sale
ऑटो सेक्टर ने पहले ही मनाई दीवाली, अक्टूबर में रिकॉर्ड गाड़ियों की Sale

पिछले कई महीनों से संकट से जूझ रहा ऑटोमोबाईल सेक्टर फिर से ग्रोथ पटरी पर लौटने लगा है. आर्थिक गतिविधियां अब प्री कोविड स्तर पर फिर से पहुंचने लगी है. सियाम द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के आधार पर अक्टूबर माह में दुपहिया वाहनों की बिक्री में 40.14 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2020, 12:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले कई महीनों से संकट से जूझ रहा ऑटोमोबाईल सेक्टर फिर से ग्रोथ पटरी पर लौटने लगा है. कोविड 19 और लॉक डाउन की वजह से हांफ रहा ऑटोमोबाईल सेक्टर में तेजी बरकरार है. आर्थिक गतिविधियां अब प्री कोविड स्तर पर फिर से पहुंचने लगी है. सियाम द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के आधार पर अक्टूबर माह में दुपहिया वाहनों की बिक्री में 40.14 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर 2019 में 1,725,462 दुपहिया वाहनों का उत्पादन हुआ था, जबकि अक्टूबर 2020 में बढ़कर 2,418,028 दुपहिया वाहनों का उत्पादन किया गया. वहीं अक्टूबर 2019 में 1,757,180 के मुकाबले अक्टूबर 2020 में 16.88 फीसदी अधिक 2,053,814 दुपहिया वाहनों की बिक्री हुई.

अप्रैल-अक्टूबर में सभी प्रकार के वाहनों की बिक्री में कमी
22 मार्च से की गई लॉकडाउन की काली छाया ऑटो सेक्टर पर भी पड़ा था. चालू वित्त वर्ष के शुरूआती महिनों में दुपहिया वाहनों की बिक्री और उत्पादन पर भी इसका खासा असर देखने को मिला. पिछले साल के मुकाबले चालू वित्त वर्ष के पहले सात महिनों में 29.82 फीसदी कम 8,037,492 दुपहिया वाहन बिके. जबकि अप्रैल-अक्टूबर 2019 में 11,452,818 दुपहिया वाहन बिके थे. इसी समयावधि में यात्री वाहनों की बिक्री में भी  25.84 फीसदी और तीन पहिया वाहनों में 78.66 फीसदी गिरावट देखी गई. अप्रैल-अक्टूबर में सभी प्रकार के वाहनों का निर्यात भी नेगेटिव रहा. इस समयावधि में कुल 63.20 फीसदी कम वाहनों का निर्यात हुआ.

यात्री कारों का बिक्री ने भी पकड़ी रफ्तार
ना सिर्फ दुपहिया वाहन बल्कि यात्री वाहनों की बिक्री ने भी जबरदस्त रफ्तार पकड़ी है. अक्टूबर 2019 के मुकाबले अक्टूबर 2020 में 14.19 फीसदी अधिक यात्री वाहनों की बिक्री हुई. अक्टूबर 2019 में 271,737  यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी. जबकि अक्टूबर 2020 में यह बढ़कर 310,294 वाहनों की बिक्री दर्ज की गई. हालांकि साल के दसवें महीने में तीन पहिया वाहनों के बिक्री में शून्य से 60.91 फीसदी कम बिक्री हुई. अक्टूबर 2019 में 66,985 तीन पहिया वाहनों की बिक्री हुई थी जो अक्टूबर 2020 में घटकर महज 26,187 रह गया. वहीं पिछले साल के मुकाबले इसके उत्पादन में भी 30.60 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई.



ऑटोमोबाईल निर्यात भी धीरे-धीरे पटरी पर लौटा
वैश्विक बाजार में मची भारी उथल पुथल और अनिश्चितता की वजह से सभी सेगमेंट के वाहनों के निर्यात में मामूली 9.79 फीसदी बढ़ोत्तरी देखी गई. पिछले साल के मुकाबले 19.18 फीसदी कम 40,528 यात्री वाहनों का निर्यात किया गया. जबकि दुपहिया वाहनों के निर्यात में जबरदस्त 25.64 फीसदी का इजाफा रहा. पिछले साल अक्टूबर में 295,292 दुपहिया वाहनों का निर्यात किया गया था जबकि अक्टूबर 2020 में 371,013 वाहनों का निर्यात किया गया.

इन कंपनियों के वाहनों को लोगों ने ज्यादा पसंद किए
सियाम द्वारा जारी आंकड़ो के मुताबिक ग्राहकों ने सबसे अधिक मारूति के वाहनोंं को खरीदने में दिसचस्पी दिखाई. पिछले साल के मुकाबले अक्टूबर 2020 में 17.64 फीसदी अधिक 163,656 मारूति की गाड़ियां बिकी. वहीं फ़ोर्स मोटर 69.23%, फोर्ड इंडिया 0.95%, होंडा कार 8.25%, हुंदै मोटर 13.19%, किया मोटर 61.25%, महिंद्रा एंड महिंद्रा -93.75%, रिनॉल्ट इंडिया -4.44%, स्कोडा ऑटो इंडिया के वाहन 8.25% अधिक बिके. जबकि एमजी मोटर 6.05%, निसान मोटर -30.11%, टोयोटा 4.47% और वॉक्सवेगों के वाहन -36.07 वाहनों की बिक्री हुई. वहीं दुपहिया वाहनों में ग्राहकों ने सबसे अधिक हीरो कंपनी के वाहन 791,137 को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई. इसके बाद होंडा ने 1.36 फीसदी अधिक 494,459 और बजाज ने 11 फीसदी अधिक 268,631 दुपहिया वाहनों की बिक्री की. वहीं टीवीएस ने करीब 20 फीसदी अधिक 301,380 वाहनों की बिक्री की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज