कोरोना काल में Skoda Auto Volkswagen की बड़ी उपलब्धि, 25 हजारों कारों का किया निर्यात

फॉक्सवैगन लोगो (फोटो क्रेडिट- Reuters)
फॉक्सवैगन लोगो (फोटो क्रेडिट- Reuters)

स्कोडा ऑटो फॉक्सवैगन इंडिया (Skoda Auto Volkswagen India) ने बुधवार को कहा कि उसने चालू वर्ष में अब तक 25 हजार से अधिक कारों का निर्यात किया है.

  • Share this:
मुंबई. स्कोडा ऑटो फॉक्सवैगन इंडिया (Skoda Auto Volkswagen India) ने बुधवार को कहा कि उसने वैश्विक स्तर पर मांग की चुनौतीपूर्ण स्थितियों के बाद भी चालू वर्ष में अब तक 25 हजार से अधिक कारों का निर्यात किया है. कंपनी ने इस दौरान घरेलू स्तर पर 50 हजार वाहनों के मैन्युफैक्चरिंग का आंकड़ा भी प्राप्त कर लिया है.

कंपनी ने एक बयान में कहा कि 50 हजारवीं कार बायें ओर से चलाये जाने वाला वेंटो सेडान है. यह मुंबई बंदरगाह से मैक्सिको भेजे जा रहे 982 कारों का हिस्सा है. कंपनी ने भारत में तैयार वाहनों का निर्यात 2010 में शुरू किया था. तब कंपनी ने दक्षिण अफ्रीका को 65 वेंटो का निर्यात किया था.

इस बीच डायमलर इंडिया कमर्शियल व्हीकल्स ने अलग से एक बयान में कहा कि उसने विभिन्न देशों को 35 हजार से अधिक वाहनों तथा 15 करोड़ से अधिक कल-पुर्जों का निर्यात किया है. कंपनी ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका, केन्या, वियतनाम और इंडोनेशिया को 55 हजार से अधिक किट का निर्यात किया गया है. निर्यात बाजार में मलेशिया को भी हाल ही में जोड़ा गया है.



हाल ही में Volkswagen ने लॉन्च किया है पोलो और वेंटो का स्पेशल एडिशन
हाल ही में जर्मनी की कार कंपनी फॉक्सवैगन ने भारत में पोलो (Polo) और वेंटो (Vento) गाड़ियों के स्पेशल एडिशन लॉन्च कर दिए हैं. ये एडिशन Polo Highline Plus AT और Vento Highline AT हैं. रेड एंड व्हाइट रंग से लैस दोनों एडिशन की कीमत क्रमशः 9 लाख 19 हजार और 11 लाख 49 हजार रुपये रखी गई है.

फॉक्सवैगन पैसेंजर कार्स इंडिया के डायरेक्टर स्टीफन नैप ने कहा, "हम अपने वार्षिक फेस्ट अभियान ‘Volksfest 2020’ के तहत पोलो और वेंटो को अपने स्पेशल रेड एंड व्हाइट संस्करण को पेश करते हुए बहुत खुश हैं. यह पहल हमें ग्राहकों के साथ लगातार जुड़ने का माध्यम है. पोलो और वेंटो लंबे समय से अपने सेगमेंट की मजबूत दावेदार हैं. इनमें दिया गया यह स्टाइल ग्राहकों के लिए काफी आकर्षक होगा.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज