गजब की टेक्नोलॉजी से बना है ये हेलमेट, बिना लगाए नहीं होगी आपकी बाइक स्टार्ट, देखें VIDEO

बीटेक के छात्र ने बनाया गजब का हेलमेट

बीटेक के छात्र हिमांशु गर्ग ने एक ऐसा हेलमेट बनाया है, जिसे पहने बगैर बाइक स्टार्ट ही नहीं होगी. हेलमेट को उतारते ही इंजन खुद ब खुद बंद हो जाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सड़क दुर्घटनाओं (Road Accidents) में ज्यादातर लोगों की मौत दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट न पहनने से होती हैं. 2015 से 2016 के बीच 45,500 लोगों की मौत एक्सीडेंट से हुई है. जिसमें से 60% लोग वो हैं जिन्होंने हेलमेट नहीं लगाया था. इन मौतों का आंकड़ा देखते हुए लगता है कि अगर कोई ऐसा हेलमेट आ जाए जिसकों बिना पहने गाड़ी ही ना चले तो एक्सीडेंट में जान गवाने वालों की संख्या में भारी कमी आ जाएगी. आज हम एक ऐसे छात्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने ये कारनामा कर दिखाया है.

    बीटेक के छात्र हिमांशु गर्ग ने एक ऐसा हेलमेट बनाया है, जिसे पहने बगैर बाइक स्टार्ट ही नहीं होगी. हेलमेट को उतारते ही इंजन खुद ब खुद बंद हो जाएगा. बल्केश्वर के लोहिया नगर निवासी हिमांशु गर्ग आरबीएस कॉलेज का छात्र है. उसने बताया कि मार्च 2014 को उसकी मां जयमाला की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी. वह हेलमेट नहीं लगाए थीं. इसके बाद ही उसने सोच लिया था कि वह कुछ ऐसा कर दिखाएगा, जिससे लोगों की जिंदगी बचाई जा सके. एक साल के प्रयोग के बाद उसने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस और पल्स सेंसर से लेस एक हेलमेट तैयार किया है.

    ये भी पढ़ें : Covid-19: नोएडा में नियमों का उल्लंघन करने पर 1,800 वाहनों का कटा चालान

    VIDEO- देखिए कैसे काम करता है जान बचाने वाला हेलमेट



    हिमांशु ने बताया कि हेलमेट की एक डिवाइस को बाइक और स्कूटर के इंजन से जोड़ने पर यह काम करने लगता है. हेलमेट पहनने पर ही बाइक स्टार्ट होगी. अगर, गाड़ी स्टार्ट होने के बाद हेलमेट उतार देंगे तो इंजन खुद ही बंद हो जाएगा. इसके अलावा हेलमेट में ऐसी तकनीक भी है जिसके माध्यम से शराब पीने पर भी गाड़ी स्टार्ट नहीं होगी. मोबाइल चार्ज भी कर सकेंगे. अगर, इस टेकनीक का इस्तेमाल दो पहिया वाहन बनाने में किया जाए तो लोगों को काफी फायदा मिलेगा.

    ये भी पढ़ें : शहर के 15 KM के दायरे में वाहन चालकों के लिए अब हेलमेट पहनना जरूरी नहीं?

    उसने अपने इस आविष्कार को पांच अप्रैल को मुख्यमंत्री के समक्ष पेश किया था. उसके इस आविष्कार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी सराहा है. उसे प्रोत्साहन के रूप में पांच लाख रुपये की राशि प्रदान की है. इन दिनों हिमांशु एक शॉक प्रूफ स्टेबलाइजर पर काम कर रहे हैं, जो शॉर्ट सर्किट होने से बचाएगा. इस स्टेबलाइजर को लगाने के बाद AC, TV, Freez के लिए अलग स्टेबलाइजर को लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.