लाइव टीवी

टाटा मोटर्स ग्रुप 50,000 करोड़ कर्ज का बोझ, टाटा संस करेगी 6500 करोड़ का निवेश

भाषा
Updated: October 29, 2019, 8:39 PM IST
टाटा मोटर्स ग्रुप 50,000 करोड़ कर्ज का बोझ, टाटा संस करेगी 6500 करोड़ का निवेश
टाटा मोटर्स

टाटा मोटर्स समूह का शुद्ध ऋण 50,000 करोड़ रुपए तक पहुंच गया है, जिसमें अकेले टाटा मोटर्स लिमिटेड का रिण 20,000 करोड़ रुपए है

  • Share this:
नई दिल्ली: टाटा समूह की कंपनियों की प्रवर्तक (प्रमोटर) टाटा संस जल्द ही समूह की प्रमुख कंपनी टाटा मोटर्स में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 43.73 प्रतिशत करेगी. टाटा मोटर्स के 6,500 करोड़ रुपए के प्रस्तावित तरजीही इश्यू में निवेश के बाद ये हिस्सेदारी बढ़ेगी. पिछले हफ्ते टाटा मोटर्स के निदेशक मंडल ने टाटा संस को तरजीही आधार पर शेयर जारी करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है.

पहले कितनी थी हिस्सेदारी
टाटा मोटर्स में निवेश के इस प्रस्ताव पर शेयरधारकों की अनुमति के लिए असाधारण आम बैठक बुलाई है. कंपनी के मुताबिक, 30 सितंबर 2019 की स्थिति के अनुसार टाटा मोटर्स में टाटा संस की हिस्सेदारी 35.3 प्रतिशत थी. प्रवर्तकों से फंड जुटाने का कारण स्पष्ट करते हुए कंपनी ने कहा कि घरेलू कारोबार में नरमी का रुख है, जिसकी वजह से कंपनी की बिक्री, लाभ और नकदी प्रवाह प्रभावित हुआ है. इससे कंपनी का शुद्ध ऋण (नेट लोन) भी अव्यवहारिक स्तर तक बढ़ गया.

मंदी की स्थिति

टाटा मोटर्स समूह का शुद्ध ऋण 50,000 करोड़ रुपए तक पहुंच गया है, जिसमें अकेले टाटा मोटर्स लिमिटेड का रिण 20,000 करोड़ रुपए है. टाटा मोटर्स ने कहा, 'हालांकि मध्यम और दीर्घकालिक अवधि में कंपनी भारतीय बाजार को लेकर सकारात्मक है, लेकिन निकट अवधि में मांग की स्थिति ठीक नहीं है. बाजार में मंदी की ये स्थिति ऐसे समय आई है जब मौजूदा उत्पादों के साथ-साथ भारत चरण-6 (BS-VI) के अनुरूप उत्पाद तैयार करने के लिए पूंजीगत खर्च ऊंचा बना हुआ है.'

जेएलआर की हालत भी खस्ता
वहीं चीन में हालात सुधरने के बावजूद कंपनी की ब्रितानी इकाई जगुआर लैंड रोवर (JLR) बाहरी कारणों के चलते जोखिमों से गुजर रही है. कंपनी ने कहा कि जगुआर लैंड रोवर को इस स्थिति में वृद्धि करते रहने के लिए प्रोडक्ट और टेक्नॉलजी पर निवेश जारी रखने की जरूरत है. इन सभी पहलुओं को देखते हुए कंपनी ने प्रवर्तकों से फंड जुटाने का निर्णय किया है.
Loading...

कब होगी बैठक
कंपनी की निर्गम योजना के तहत टाटा संस को 150 रुपए प्रति शेयर कीमत पर 20,16,23,407 साधारण शेयर जारी किए जाएंगे. यह कुल 3,024.35 करोड़ रुपए के शेयर होंगे. इसके अलावा कंपनी टाटा संस को 23.13 करोड़ परिवर्तनीय वारंट भी जारी करेगी, जिसमें प्रत्येक वारंट के बदले एक साधारण शेयर सब्सक्राइब करने का अधिकार होगा. इसकी कीमत भी 150 रुपए प्रति वारंट होगी और इस पर कुल 3,470 करोड़ रुपए का निवेश होगा. कंपनी ने असाधारण आम बैठक 22 नवंबर को बुलाई है. इसके बाद टाटा संस को शेयर और वारंट 15 दिन के भीतर आवंटित कर दिए जाएंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 8:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...