कोविड 19: Tech Mahindra ने स्क्रीनिंग के लिए पेश किया ‘Mhealthy’ सॉल्‍यूशन!

कोविड 19: Tech Mahindra ने स्क्रीनिंग के लिए पेश किया ‘Mhealthy’ सॉल्‍यूशन!
सिर्फ 1200 रुपये में होगी कोरोना की जांच

IT कंपनी टेक महिंद्रा (Tech mahindra) ने कोरोना वायरस से कंपनियों के कर्मचारियों और सामुदायिक सुरक्षा के लिए ‘एमहेल्दी’ (Mhealthy) सॉल्‍यूशन पेश किया है. इसमें प्रत्येक व्‍यक्ति की जांच पर 1200 रुपए का खर्च आएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 2:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. IT कंपनी टेक महिंद्रा (Tech mahindra) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) से कंपनियों के कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए ‘एमहेल्दी’ (Mhealthy) समाधान पेश किया है. यह कृत्रिम मेधा, मशीन लर्निंग और डेटा विश्लेषण जैसी आधुनिक तकनीकों पर आधारित एक प्रौद्योगिकी समाधान है जो किसी कार्यस्थल पर मौजूद कर्मचारियों की नियमित अंतराल पर स्क्रीनिंग कर कामकाज की जगह को सुरक्षित रखने में मदद करता है. ‘एमहेल्दी’ एंटीबॉडीज का पता लगाने में भी सक्षम है.

कंपनी ने सोमवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि यह समाधान किसी व्यक्ति की कोरोना वायरस से जुड़े विभिन्न जोखिमों जैसे कि पहले से अन्य बीमारियों का होना, प्रतिरोधक क्षमता की स्थिति, पूर्व संक्रमण इत्यादि की जांच के लिए कार्यस्थल पर मौजूद प्रत्येक व्यक्ति की नियमति अंतराल पर स्क्रीनिंग में मदद करता है.

96% सटीक एंटीबॉडी परीक्षण करने में सक्षम-
कंपनी के ​​प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीपी गुरुनानी ने कहा, 'दुनिया काम पर लौटने के बारे में सोच रही है, नियोक्ता और कर्मचारियों दोनों को जोखिम और सुरक्षा उपायों को लेकर चिंताएं हैं. इसे देखते हुए टेक महिंद्रा की टीम ने 'एमहेल्दी' समाधान विकसित किया है. यह न सिर्फ कोविड-19 के जोखिमों का त्वरित मूल्यांकन करता है, बल्कि उन सभी कारकों की भी स्क्रीनिंग करता है जो इस जोखिम में योगदान कर सकते हैं.' एमहेल्दी आईएसओ 13485-2016 प्रमाणित है. साथ ही इसे केंद्रीय औषिधि मानक नियंत्रण संगठन से भी मान्यता मिली है. यह 32 से अधिक स्क्रीनिंग परीक्षणों के साथ 96 प्रतिशत सटीक एंटीबॉडी परीक्षण करने में सक्षम है.
ये भी पढ़ें : गाड़ी चलाते समय इन बातों का नहीं रखा ख्याल, तो भरना होगा दोगुना जुर्माना



एक व्यक्ति पर आएगा 1200 रु का खर्च-
टेक महिन्द्रा इस सर्विस को 1200 रुपये प्रति व्यक्ति में उपलब्ध कराएगी. Mhealthy टीम सोसयटी और कंपनियों में जाएंगी. पोर्टेबल डिवाइसेज व ट्रेन्ड नर्सों की मदद से स्क्रीनिंग की जाएगी. जोखिम लगने या कोरोना पॉजिटिव निकलने पर लोग ऐप के जरिए डॉक्टर से सीधे कन्सल्ट कर सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज