होम /न्यूज /ऑटो /ई कार, ई स्कूटर के बाद अब ई एयरोप्लेन, दुनिया के पहले Electric Plane Alice ने भरी उड़ान

ई कार, ई स्कूटर के बाद अब ई एयरोप्लेन, दुनिया के पहले Electric Plane Alice ने भरी उड़ान

दुनिया के पहले ई प्लेन ने सफल उड़ान भरी.

दुनिया के पहले ई प्लेन ने सफल उड़ान भरी.

दुनिया के पहले इलेक्ट्रिक प्लेन एलिस ने वाशिंगटन के ग्रांट काउंटी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी. ये विमान 480 किमी. प ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

Alice में 9 लोग सफर कर सकते हैं.
विमान में 2500 पाउंड यानि करीब 1100 किलो का भार लेकर उड़ान भरी जा सकती है.
इसके तीन वेरिएंट्स के प्रोटोटाइप पर काम चल रहा है.

नई दिल्ली. ईवी के इस दौरान में अब तक हम ई स्कूटर, ई कार, ई बाइसिकल की बात सुनते आए हैं. लेकिन अब इलेक्ट्रिक प्लेन भी आ चुका है और दुनिया के पहले इलेक्ट्रिक प्लेन ने सफलतापूर्वक अपनी पहली उड़ान भी भर ली है. इजरायल की एविएशन एयरक्राफ्ट की ओर से बनाया गया ये ऑल इलेक्ट्रिक विमान एलिस के नाम से जाना जाता है. इस जीरो एमिशन एयरोप्लेन ने अपनी पहली उड़ान वाशिंगटन में ग्रांट काउंटी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भरी. इस दौरान ये 8 मिनट तक सेफली हवा में रहा और उसके बाद सामान्य लैंडिंग कर ली.

विमान की खास बात ये है कि ये इसकी स्पीड 480 किमी प्रति घंटे की है. इसमें नौ लोग सफर कर सकते हैं और ये 250 नॉटिकल माइल्स यानिक करीब 400 किमी. की दूरी तय कर सकता है. इसे आसानी से दो घंटे तक उड़ाया जा सकता है. विमान में 2500 पाउंड यानि करीब 1100 किलो का भार लेकर उड़ान भरी जा सकती है.

कैसी रही पहली उड़ान
अपनी पहली ही उड़ान में एलिस ने 3500 फीट की ऊंचाई को छुआ और इस दौरान कई इंपॉर्टेंट डेटा भी कलेक्ट किए गए. ये डेटा विमान को कमर्शियली यूज करने को लेकर थे, जिससे ये पता चल सके कि इसको और बेहतर कैसे बनाया जा सकता है.
एविएशन एयरक्राफ्ट कंपनी के प्रेसिडेंट और सीईओ ग्रेगरी डेविस ने कहा कि ये इतिहास बनाया गया है. जब से हम पिस्टन इंजन से टर्बाइन इंजन पर शिफ्ट हुए थे तब से ही एविएशन टेक्नोलॉजी में कोई बदलाव नहीं देखा गया है. 1950 में ऐसा हुआ था जब ये नई तकनीक आई थी और उसके बाद से अब तक कोई खास बदलाव नहीं हुआ था.

विमान के होंगे तीन वेरिएंट
कंपनी विमान के तीन वेरिएंट्स पर काम कर रही है. जो फिलहाल प्रोटोटाइप स्टेज पर है. इसमें एक कार्गो वेरिएंट है, दूसरा 9 सीटर और तीसरा कार्गो के साथ 6 सीटर वेरिएंट है. इन सभी वेरिएंट्स में दो क्रू मैंबर्स के लिए भी जगह होगी. एलिस में 640 किलोवॉट की इलेक्ट्रिक मोटर दी गई है.

पहले ही हो चुके बुक
विमान को बनाने से पहले ही इसके लिए DHL Express ने कंपनी से डील कर ली है और अब डीएचएल को कंपनी 12 एलिस की सप्लाई करेगी. गौरतलब है कि डीएचएल दुनिया की सबसे बड़ी कार्गो मूविंग कंपनी है.

Alice में 9 लोग सफर कर सकते हैं.
विमान में 2500 पाउंड यानि करीब 1100 किलो का भार लेकर उड़ान भरी जा सकती है.
इसके तीन वेरिएंट्स के प्रोटोटाइप पर काम चल रहा है.

Tags: Auto News, Electric vehicle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें