होम /न्यूज /ऑटो /केवल सीट बेल्ट या ओवर स्पीडिंग ही नहीं कई अनजान कारण कटवा सकते हैं आपका चालान, जानें क्या हैं नियम

केवल सीट बेल्ट या ओवर स्पीडिंग ही नहीं कई अनजान कारण कटवा सकते हैं आपका चालान, जानें क्या हैं नियम

कई ऐसे कारण हैं जिनसे आप अनजान हैं और ये चालान का कारण बन सकते हैं. (सांकेतिक फोटो)

कई ऐसे कारण हैं जिनसे आप अनजान हैं और ये चालान का कारण बन सकते हैं. (सांकेतिक फोटो)

टैफिक नियमों की अनदेखी आपको कई बार भारी पड़ सकती है. लेकिन आम तौर पर लोग केवल ओवर स्पीडिंग, रेड लाइट जंप, सीट बेल्ट न ल ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

गाड़ी में लगने वाली कई एक्सेसरीज भी आपका चालान कटवा सकती हैं.
गाड़ी का रंग बदलने पर नहीं किया आरटीओ को सूचित तो पड़ सकता है जेब पर भारी.
कुछ मामलों में चालान कटने के साथ ही गाड़ी भी हो सकती है सीज.

नई दिल्ली. ट्रैफिक नियम और चालान, ये दो शब्द ऐसे हैं जिन से हम रूबरू होते ही रहते हैं. ऐसे में आम तौर पर जब चालान की बात होती है तो कुछ बातें जहन में आती हैं, जैसे- रेड लाइट जंप करना, ओवर स्पीडिंग, बिना कागजात गाड़ी चलाना, सीट बेल्ट न लगाना और भी बहुत कुछ. लेकिन क्या आपको पता है कि यदि आपने गाड़ी सड़क पर पार्क की है और वो स्टार्ट है तो तभी आपका चालान कट सकता है.

इतना ही नहीं यदि आपने एक्सेसरी के नाम पर अपनी गाड़ी में स्‍क्रीन लगवाया हुआ है और आप उस पर वीडियो देखने का मजा ले रहे हैं तो ये आपकी जेब पर भारी पड़ सकता है. आइये जानते हैं ऐसे कुछ नियम जो आपका चालान कटवा सकते हैं और आपकी जेब को ढीली कर सकते हैं.

ये भी पढ़ेंः Mahindra XUV400: तस्वीरों में देखें इस खूबसूरत इलेक्ट्रिक कार के फीचर्स और क्या है खासियत?

पार्क गाड़ी स्टार्ट है तो….
हालांकि ये नियम भी पूरे देश में लागू है लेकिन इसका ज्यादा असर मुंबई में देखने को मिलता है. मुंबई में यदि आप पार्किंग में गाड़ी स्टार्ट खड़ी रखते हैं तो आपका चालान कट सकता है. इस नियम को लागू करने का मुख्य कारण प्रदूषण है. ऐसे में आपका 2 हजार रुपये तक का चालान कट सकता है.

हाईबीम पर गाड़ी तो 1 हजार चालान
शहर में रात को गाड़ी चलाते समय यदि आप हाईबीम का इस्तेमाल करते हैं तो ये नियमों का उल्लंघन है और इस पर 1 हजार रुपये तक का चालान कट सकता है. हाईबीम डिपर देने और हाईवे पर इस्तेमाल के लिए होती हैं.

गाड़ी में लगा है मल्टीमीडिया स्क्रीन…
वैसे तो इन दिनों गाड़ियों में मल्टी मीडिया स्क्रीन अपर वेरिएंट्स में आम तौर पर देखने को मिल जाता है. लेकिन उनमें वीडियो ऑप्‍शन उसी समय काम करते हैं जब आपकी गाड़ी खड़ी हो, लेकिन कुछ लोग गाड़ियों में एक्सेसरी के तौर पर स्क्रीन लगवाते हैं, ये स्क्रीन हर समय वीडियो रन कर सकते हैं. ऐसे में यदि चलती गाड़ी में स्क्रीन पर वी‌डियो का मजा लेते हुए आप गाड़ी में सफर कर रहे हैं तो ये आपको 5 हजार रुपये का चालान दिलवा सकता है.

ये भी पढ़ेंः पांच और आठ सीटर वाहनों में पीछे बीच वाले के लिए कैसी होती है सीट बेल्‍ट, जानें

रैपिंग या रीपेंट
इन दिनों गाड़ी की रैपिंग का चलन काफी है. उदाहरण के लिए सफेद गाड़ी लेने के बाद यदि कोई उसे मैट ब्लैक कलर में रैप कर लेता है तो ये एक बड़े चालान को न्यौता देना है. ऐसा ही कुछ गाड़ी को रीपेंट करने के साथ भी है. इसका कारण है कि आपकी गाड़ी का कलर रजिस्ट्रेशन में नोटेड होता है. यदि आप रैपिंग या रीपेंट करवाते हैं तो उस कंडिशन में आपको आरटीओ में इसकी जानकारी देने के साथ ही आरसी में भी बदलाव करने जरूरी हो जाते हैं.

एग्जॉस्ट सिस्टम
इन दिनों गाड़ी में महंगे एग्जॉस्ट सिस्टम भी काफी पॉपुलर हो रहे हैं, लाखों की कीमत में आने वाले ये लाउड एग्जॉस्ट सिस्टम आपका चालान ही नहीं आपकी गाड़ी को भी सीज करवा सकते हैं क्योंकि ये पूरी तरह से बैन है. इन एग्जॉस्ट सिस्टम से निकलने वाली तेज आवाज इसका कारण है. इन पर करीब 10 हजार का चालान है और गाड़ी को सीज करने का भी प्रावधान है.

लाइट और हॉर्न
इन दिनों प्रोजेक्टर हैडलैंप्स कई कंपनीज अपनी गाड़ियों में ऑफर करती हैं. लेकिन कंपनीज की तरफ से ऑफर किए गए लैंप्स मानकों के अनुसार होते हैं. वहीं एक्सेसरीज मार्केट में कई प्रोजेक्टर हैडलैंप्स ऐसे भी हैं जिनका वॉटेज ज्यादा होता है और ये आरटीओ के मानकों में नहीं आते हैं. ऐसे लैंप्स का प्रयोग करने से भी चालान कट सकता है. वहीं प्रैशर हॉर्न भी बैन हैं और इन पर भी 2 हजार का चालान है.

Tags: Auto, Red light challan rules

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें