राजस्थान का अनोखा मंदिर! जहां होती है Royal Enfield Bullet की पूजा, भक्तों की मन्नतें भी होती हैं पूरी

रास्ते से गुजरने वाले यात्री आते-जाते समय बुलेट बाबा मंदिर में कुशल यात्रा के लिए प्रार्थना करते हैं.

रास्ते से गुजरने वाले यात्री आते-जाते समय बुलेट बाबा मंदिर में कुशल यात्रा के लिए प्रार्थना करते हैं.

राजस्थान में लड़कों को बन्ना कहा जाता है, बाइक को इस तरह अपने आप बार वहां जाता देख ओम के पिता ने उस स्थान पर ओम बन्ना धाम नाम से मंदिर का निर्माण कर दिया.

  • Share this:
नई दिल्ली. भगवान के मंदिर तो सभी ने सुने होंगे लेकिन अभीतक किसी ने बाइक का मंदिर नहीं सुना होगा. राजस्थान में एक गाड़ी का मंदिर है, जहां पर इसकी भगवान की तरह पूजा की जाती है और मंदिर की सबसे अजीब बात ये की यहां लोगों की मन्नतें भी पूरी होती हैं. दरअसल इस मंदिर में रॉयल एनफील्ड बुलेट 350 (Royal Enfield Bullet 350) की पूजा होती है. और देश के कई बाइक राइडर और अन्य लोग यहां आकर सुरक्षा के साथ ही सुख समृद्धि की कामना करते हैं. राजस्थान के जोधपुर से लगभग 50 किमी दूर स्थित यह मंदिर ओम बन्ना धाम (बुलेट बाबा मंदिर) के नाम से प्रचालित है.

जानें क्या इस मंदिर की कहानी- दरअसल राजस्थान में पाली शहर के पास चोटिला गांव में ठाकुर जोग सिंह राठौड़ के बेटे ओम सिंह राठौड़ के नाम पर इस मंदिर को बनाया गया है. करीब 30 साल पहले ओम सिंह राठौड़ की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एक्सिडेंट के बाद पुलिस ने शव और बाइक दोनों को अपनी कस्टडी में ले लिया. लेकिन दूसरे दिन बाइक थाने से गायब थी. जब पुलिस ने बाइक की तलाश की तो वह दुर्घटना वाली जगह पर मिली. उसके बाद बाइक को थाने लाने के बाद वह रोज इसी तरह से गायब हो घटना स्थल पर पहुंच जाती.

यह भी पढ़ें: Techo का इलेक्ट्रिक स्कूटर 12 रुपये में चलेगा 60-70 किमी, जानें कीमत और फीचर्स

कैसे पहुंचती थी बाइक घटना स्थल- जब पुलिस के शक हुआ तो बाइक को बांधने के बाद उसकी निगरानी की गई लेकिन रात को जो हुआ उसे देख वहां मौजूद पुलिसकर्मी भी हैरान रह गए. बाइक अपने आप स्टार्ट हो खुद घटना स्थल पर पहुंच गई. जिसके बाद पुलिस वालों ने बाइक को घरवालों को सौंप दिया.
यह भी पढ़ें: Mahindra Thar की डिमांड में आई तेजी, इतने महीने करना होगा इंतजार, जानें सबकुछ

बना दिया ओम बन्ना धाम- राजस्थान में लड़कों को बन्ना कहा जाता है, बाइक को इस तरह अपने आप बार वहां जाता देख ओम के पिता ने उस स्थान पर ओम बन्ना धाम नाम से मंदिर का निर्माण कर दिया. जिसे बुलेट बाबा मंदिर कहा जाता है. रास्ते से गुजरने वाले यात्री आते-जाते समय बुलेट बाबा मंदिर में कुशल यात्रा के लिए प्रार्थना करने के बाद आगे बढ़ते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज