लाइव टीवी

दुनिया की इस बड़ी कंपनी ने रिकॉल कीं 7 लाख कारें, बताई ये वजह

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 2:30 PM IST
दुनिया की इस बड़ी कंपनी ने रिकॉल कीं 7 लाख कारें, बताई ये वजह
वोल्वो का कहना है कि नवंबर 2018 से मार्च 2020 के बीच बनी कारों में AEB काम नहीं कर रहा है. इस दिक्कत को खत्म करने के लिए कंपनी कारों में सॉफ्टवेयर अपडेट करेगी.

वोल्वो का कहना है कि नवंबर 2018 से मार्च 2020 के बीच बनी कारों में AEB काम नहीं कर रहा है. इस दिक्कत को खत्म करने के लिए कंपनी कारों में सॉफ्टवेयर अपडेट करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 2:30 PM IST
  • Share this:
जानी-मानी कार निर्माता कंपनी वोल्वो (Volvo) ने पूरी दुनिया से 7 लाख से ज्यादा कारों को रिकॉल किया है. कंपनी ने इसकी वजह ऑटोमेटिक इमरजेंसी ब्रेकिंग सिस्टम (EBS System) में खराबी होना बताया है. ऑटोमेटिक इमरजेंसी ब्रेकिंग सिस्टम में अगर ड्राइवर किसी वाहन के आगे होने पर ब्रेक लगाना भूल जाता है या किसी भी कारण से ब्रेक नहीं लगा पाता तो कार में लगे हुए सेंसर्स सामने के वाहन को डिटेक्ट करके अपने आप ब्रेक लगा देते हैं.

वोल्वो का कहना है कि नवंबर 2018 से मार्च 2020 के बीच बनी कारों में AEB काम नहीं कर रहा है. इस दिक्कत को खत्म करने के लिए कंपनी कारों में सॉफ्टवेयर अपडेट करेगी. प्रभावित कारों के मालिकों को 1 मई 2020 से सूचित करना शुरू किया जाएगा. उसके बाद एक्टिव सेफ्टी डोमेन मास्टर सॉफ्टवेयर अपडेट किया जाएगा. पूरी दुनिया में कंपनी XC40, XC60, XC90, S60, S90, और V range कारों को रिकॉल कर रही है.

भारत में हैं 1500 से ज्यादा कारों में है दिक्कत-
भारत में ये दिक्कत 1891 कारों में पाई गई है. कंपनी भारत से भी इन कारों को रिकॉल करेगी. भारत में डीलर्स को इससे संबंधित नोटिस भेजे जा चुके हैं. कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया की बड़ी कार निर्माता कंपनियों ने कई प्लांट्स को बंद किया है. इसमें फॉक्सवैगन (Volkswagen) से लेकर बीएमडब्ल्यू  (BMW) तक शामिल हैं. वोल्वो ने भी अपने स्वीडन और अमेरिका के कारखानों को 14 अप्रैल तक के लिए बंद कर रखा है. हालांकि, कंपनी ने चीन के फैसिलिटी सेंटर में दुबारा काम शुरू कर दिया है. खास बात है कि वोल्वो इंडिया (Volvo India) की बिक्री और प्रोडक्शन भारत में कोरोना वायरस की वजह से प्रभावित नहीं हुआ है.



News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 2:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर