भोजपुरी में पढ़ें: जरूरत बा, जरूरत बा, बहुते जरूरत बा एगो खांटी भोजपुरी टीवी सीरियल के!

भोजपुरी बोले आ सुने वालन के संख्या बहुत अधिक होखला के बाद भी टीवी पर भोजपुरी के एकहू सीरियल नइखे. जबकि इस भाषा अउर ए भाषा के संस्कार के देखला आ सुनना में अधिक रुचि हो सकेला. यही के रेखांकित करत बा इ लेख-

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 12:41 AM IST
  • Share this:
भोजपुरी फिलिम के बात होखे त केहू अंङुरी प कुल्हि गिना दी - गंगा मइया तोहे पियरी चढ़इबो, नदिया के पार, गंगा किनारे मोरा गांव, बिदेसिया, बलम परदेसिया. बाकिर इहे सावाल भोजपुरी टीवी सीरियल के बारे में होखे त अगलो बगल झांकाला प दिमाग में कवनो नाव नइखे आवे वाला. अइसनो बात नइखे कि भोजपुरी में कवनो टीवी सीरियल देखे के ना मिलेला. बिग गंगा चैनल प 'कुमकुम भाग्य', 'ब्रह्मराक्षस', 'काला टीका', 'जिंदगी की महक' आ 'केहु आपन बा' जइसन सीरियल देखेके मिलल बा, बाकिर कुल्हि के कुल्हि हिंदी सीरियलन के भोजपुरी में पैरा-डब कई दीहल गईल बा.

एकनी में से एगो कुमकुम भाग्य ही बाटे जवन जी टीवी पर आवता आ बिग गंगा प भी देखावल जाता. दूनो में फरक बस एतने बा कि डायलाग हिंदी से भोजपुरी में बदलि दीहल गइल बा. एकनी में कुमकुम भाग्य, ब्रह्मराक्षस, काला टीका आ जिंदगी के महक के त नामो नइखे बदलल गइल. 'केहु आपन बा' के नाव जरूर भोजपुरी में बदलि दीहल गइल बा. ई सीरियल हिंदी में 'कोई अपना सा' नाम से आ टेलीकास्ट भोइल रहे बाद में भोजपुरी में एकरा के केहू आपन बा नाव से देखावल गइल.

आखिर का बात बा कि भोजपुरी में हिंदी लेखा एको अइसन टीवी सीरियल नइखे जेकर नाव पूछते जाबान प आ जाउ? आखिर का बात बा कि भोजपुरी में 'भाबी जी घर पर हैं', 'तारक मेहता का उलटा चश्मा', आ 'सीआईडी' जइसन सीरियल कबो देखे के ना मिलेला, कि देखाला के बादो ओकर सीन सभे मन में मांड़रात रहे?



भोजपुरी में पढ़ें: बखत बदल गईल कहां से चल के कहां आ गइल आदमी
भउजाई के साथ हंसी माजाक वाला जाताना गाना बाड़े स, अइसन लागेला कि 'भाबी जी...' सीरियल बानावे वालन के आइडिया भी भोजपुरिये एलबम देखिके के मिलल होई. 'सविता भाभी' कामिक में त चलि गइल. बाद में ओकारा पर रोक भी लागा दीहल गइल, काहे से कि ओइसन चीज टीवी खातिर त बनि ना सकेला. वइसे सविता भाभी टाइप से मिलत जुलत वीडियो यू-ट्यूब प देखे के बहुते मिलि जइहें स.

सुने के मिलेला कि बड़ त बड़ छोट छोट लइको सभे भाबी जी घर पर हैं देख तारे स. ओमे के सक्सेना जी लेखा बचवन सब बात बात पर 'आई लाइक इट' बोल तारे स. हामारा त अचरज के ठेकाना ना रहे जब आपाना एगो सखी के लइका के भाबी जी वाले सक्सेना जी लेखा बोलत देखनी. बचवन सब गिरि-परि जालेस आ रोए लागेले स त ओ जगहि के ठोकि के ओकनी के चुप कारावे के परेला. हामारा सखी के लइका दउरि के आवत रहे आ देवाली में लड़ि गइल. घाव लागला पर रोए के जगहि मुंह बाना के कहलसि - 'आई लाइक इट'. अब एहु से बड़ तारीफ कहीं सुने के मिली कवनो चीज के बारे में.

ओ घाटना के बाद से ईहे बुझाइल कि कवनो चीज केहुके काताना पसन आवता ओकारा के समझे खातिर ए से बड़ उदाहरण ना देखे के मिली. हम त कहबि कि भोजपुरी में फूहरपन के अगर खतम कई दीहल जाउ भाबी जी घर पर हैं जइसन सीरियल लाएक काहानी पहलिलहीं से भरल परल बाड़ी स. भोजपुरी में अइसन फिलिमो बनेली स. बाकिर फिलिम त फिलिम भोजपुरी के गाना तक सुनल भारी पड़ेला. आताना फूहर, आताना फूहर कि घर परिवार के के कहो, कई बार त अकेलहूं बइठि के देखे सुने में सरम आवेला.

भोजपुरी में पढ़ें- बनारसी मस्ती :  भंग से भस्म तक कुछ नाहीं छूटल

निमकी मुखिया एगो अइसन सीरियल रहे जवन भोजपुरी में ना भइला के बाद भी माटी के पूरा महक परोसि देत रहे. निमकी मुखिया सहित जे भी किरदार रहे ऊ बोले त हिंदी बाकिर आंदाज बिलकुल ठेठ - 'काहें किया रे... तुम्हरा हीमत कइसे हुआ?' टोन त ओइसने भाबी जी घर पर हैं में भी अंगूरी भाभी बोलेली - 'कइसन बा... ठीक बा!'

आपाराध प सीआईडी काताना लामा चलल. भोजपुरी में ओइसन सीरियल बने त खतम होखे के कबो नावो ना ली. यूपी-बिहार के माफिया डान आपाराध से लेके परेम के भी दुनिया भरि के काहानी बा. श्रीप्रकाश शुक्ला के एनकाउंटर के काहानी से इंटरनेट भरल परल बा. बड़ से बड़ सामाचार वेबसाइट श्रीप्रकाश शुक्ला के काहानी के आपाना पाडकास्ट में सामिल कइले बाड़ी स. भोजपुरी में अइसन सीरियल बनी त काताना पापुलर हो सकेले स ओकर कवनो आंदाजा ना लागावल जा सकेला.

दूरदर्शन से लेके निजी टीवी चैनलन प ले आजादी के आंदोलन से लेके आजादी के नायकन तक प भी एक से एक नीमन सीरियल बनल बाड़े स आ पापुलर भइल बाड़े स. अबहियों भीमराव आंबेडकर आ नेताजी सुभाष चंद्र बोस पर टीवी सीरियल बनतारे स. चित्तू पांडेय प आजु ले केहू सीरियल बानावे के बारे में काहे ना सोचल. मंगल पांडेय प त फिलिमो बनि चुकल बा, बाकिर चित्तू पांडेय आजादी के जवन रूप देखवले ओकारा के टीवी प लोग काताना मन लागा के देखी बातावे के जरूरत नइखे. बाद में भी देखल जाऊ त चंद्रशेखर आ जयप्रकाश नारायण प भी त ओइसने सीरियल बनि सकेले स.

भोजपुरी में पढ़ें: भारतीय सिनेमा जब बोले लागल तबे से पर्दा प भोजपुरियो बोलsता

लोहा सिंह नाटक त खाली रेडियो प सुने के मिलत रहे. सांझि के छ बजे से पहलिहीं लोग काम धाम ओरिया के रेडियो से कान लागा के बइठि जाऊ. आजु टीवी प लोहा सिंह के नाटक के काहानी दोहरा दीहल जाऊ त खाली भोजपुरी का देस के अङरेजी बोलेवाला लोग भी सब काम धाम छोड़ि के देखिहें. अगर राजू श्रीवास्तव के स्टैंड अप कॉमेडी के गजोधर भइया के भी आपाना बीचे में महसूस कइल जा सकेला त लोहा सिंह, खदेरन के मदर, मुखिया जी आ फाटक बाबा के टीवी प देखे के मिली जाउ त कहे के बा का हालि होई.

ई ठीक बा कि हिंदी, कन्नड़ आ दोसारा भासा के टीवी सीरियल के डायलाग भोजपुरी में कइके परोसि दीहल जाता, बाकिर ई ना भुलाए के चाहीं कि खांटी खांटिए होखेला. डुपलीकेट डुपलीकेटे होला. खांटी हरमेसा डुपलीकेट प भारी पड़ेला.

जइसे ब्योमकेश बक्षी आ तेनाली रामा प टीवी सीरियल बन तारे स ओसहीं भोजपुरी में लाल बुझक्कड़, अकिला फुआ आ घाघ-घाघिनो प त बनि सकेला. जइसे जय संतोषी मां फिलिम से लेके टीवी सीरियल ले खूबे देखल गइल का 'हे छठी मइया' केहू बानावे त कम लोग देखिहें का. बलुक रेकाड फेल हो जाई जावना हिसाब से छठि के माहातम आ आस्था जुड़ल बा. छठि के मोका पर कवन सामाचार चैनल ना होला जे छठि के लाइव देखावे में पूरा ताकत ना झोंकि देला.

भोजपुरी में पढ़ें: जानी खान पान संबधी भोजपुरी के कहावत सावन साग न भादों दही..

बात ईहे बा कि केहू के आगे त आवहिं के पड़ी. बाकिर आगे आवे वाला के भी आपाना प, आपाना बोली प, आपाना लोगन प भरोसा रखे के पड़ी. एक बार अगर केहू एही भरोसा के साथ हिमति देखाउ त ओकरो नाव अमर हो जाई.

ढेर देर ना भइल. जब से चीन के ऐप टिक टाक पर रोक लागा दीहल गइल तब से देसी ऐप के माङ जोर पकड़े लागल बा. बात आगे बढ़ल त इंफोसिस आ आधार वाले नंदन नीलेकणि एक लाख के बात कहले - ऐप बानावे के त बनि जाई बाकिर ओकर बिजनेस माडल कइसे तेयार होई? भारत में कई क्षेत्रन में अइसन चुनउती खाड़ा बाड़ी स. भोजपुरी टीवी सीरियलो के मामला अइसने लागता. एक बार केहू बिजनेस माडल समझे के कोसिस करो त अपनेआप राह मिलत जाई.

कवनो बड़ काम असहिं पाहाड़ लेखा लागेला. दसरथ मांझी भी त भोजपुरिये इलाका के रहले. अब त ईहे बुझाता कि भोजपुरी सीरियल बानावे खातिर भी केहू के दसरथ मांझीए बने के पड़ी - का पाता भोजपुरी टीवी भी एगो अउर दसरथ मांझी के भरोसे बइठल होखे!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज