Bhojpuri: पहिलके फिल्म में अजय देवगन के अपोजिट विलेन बन मशहूर हो गइलें इ अभिनेता, आज ह जन्मदिन

अयाज के जनम आज के दिन यूपी के ग़ाज़ीपुर जिला में महेंद गाँव में भइल. ई गाँव दिलदारनगर कमसार के लगे बा. उहे कमसार जहां भोजपुरी फिल्मन के पितामह नाजिर हुसैन के जन्म भइल. कुछ दिन पहिले उहाँ के भी वर्षगांठ रहल ह. ई इत्तेफाक बा कि अयाज जे कबो अभिनय के क्षेत्र में आवे के ना सोचले रहलें.

  • Share this:

भोजपुरी सिनेमा के एगो डैशिंग कलाकार के आज जन्मदिन ह. हालांकि लोग उनके विलेन के किरदार के रूप में जानेला पर उनका जइसन कद काठी आ चेहरा मोहरा वाला त हीरो होखेला. बाकिर भोजपुरी सिनेमा उनका के विलेन के फ्रेम में टाइपकास्ट कर देहले बा. अक्सरहा अइसन होला कि उ जब कवनो हीरो के साथे फ्रेम मे आवेलें त लोग कन्फ्यूज़ हो जाला कि हीरो के ह आ विलेन के. रूप आ दमखम के साथे उनका लगे अभिनय क्षमता भी बा जेकरा के उ समय-समय पर अपना किरदारन मे देखवले बाड़े. एही से उ तथाकथित भोजपुरिया विलेन ना बल्कि एगो मँजल कलाकार के रूप में जानल जास त नीक होई. हम बात करत बानी अयाज खान के.

अयाज के जनम आज के दिन यूपी के ग़ाज़ीपुर जिला में महेंद गाँव में भइल. ई गाँव दिलदारनगर कमसार के लगे बा. उहे कमसार जहां भोजपुरी फिल्मन के पितामह नाजिर हुसैन के जन्म भइल. कुछ दिन पहिले उहाँ के भी वर्षगांठ रहल ह. ई इत्तेफाक बा कि अयाज जे कबो अभिनय के क्षेत्र में आवे के ना सोचले रहलें आ शायद अपने क्षेत्र के एतना बड़ शख्सियत के बारे में सुनलो ना रहलें बाकिर आज भोजपुरी के बड़हन कलाकार बाड़ें आ काफी नाम कमा लेहले बाड़ें. अयाज मध्यम वर्गीय परिवार से हवें जहां उनके पापा सरकारी विभाग में अधिकारी रहलें. घर में पढ़ाई लिखाई के माहौल रहे. अयाज के प्राइमरी पढ़ाई गाँव से भइल. फेर उ नवीं कक्षा से एमए तक के शिक्षा बनारस में कइलें. बनारसे में जब उ आपन पढ़ाई करत रहलें त ओहि बेरा मॉडलिंग करस. देह-धजा ठीक रहे त उनके काम धाम भी खूब मिले. लोग सुझाव देव कि मरदवा तू त हीरो बन सकेला, काहें नइखs बंबई जात. लेकिन अयाज ना कबो बंबई गइल रहलें ना कबो जाए के सोचलें रहलें एही से हिम्मत ना होखे. फेर उनके केहू जानो पहचान के ना रहे.

अचानक एक दिन उ अखबार में एगो खबर देखलें. अजय देवगन आ मनोज तिवारी के एगो भोजपुरी फिल्म ‘ धरती कहे पुकार के ‘ के शूटिंग होखे वाला बा. ओमें कलाकारन के गरज बा. अयाज ऑडिशन देबे चल गइलें बाकिर उहाँ के भीड़ देख के डेरा गइलें. ओहिजा एक से एक थियेटर के धुरंधर लोग पहुंचल रहे आ इनका लगे अभिनय के कवनो ट्रेनिंग ना रहे, ना ही फिल्म आ सीरियल के एक्सपोजर रहे कि डायलॉग आ भाव भंगिमा के जानकारी होखे. बाकिर ई ढीठे चल गइलें आ किस्मत से शॉर्टलिस्ट भी हो गइलें. इनके रोल मिलल फिल्म के मुख्य खलनायक चरित्र वीर महोबिया के बिगड़ैल बेटा के. फिल्म में ई रोल के काफी स्पेस रहे. ओ बेटा के गाँव वाला अउरी मनोज तिवारी के किरदार किडनैप कर लेता आ ओकरा के वीर महोबिया के जुल्मन के स्वाद चखावता. फिल्म में अजय देवगन के बड़ा रोल रहे अउरी ई फिल्म उनका नामे से एतना चलल कि ब्लॉकबस्टर हो गइल.

ई बात साल 2006 के ह. इ फिलिम कइला के बाद उ आपन शहर वाराणसी में लौट अइलें आ अपना पढाई में व्यस्त हो गइलें. अगिला साल फेर उ मुंबई वापस आपन किस्मत अजमावे अइलें. उनके एगो सुपरहिट फिल्म में अच्छा खासा रोल मिलल रहे बाकिर काम खोजे खातिर फेर से जीरो से स्ट्रगल करे के पड़ल. एहिजा उनके फिलिम-राइटर संतोष मिश्रा सहारा दिहले अउरी अयाज के दूसरकी फिलिम ‘ निरहुआ रिक्शावाला ‘ रहल जे कई गो कलाकार के इंडस्ट्री में स्थापित कइलस, जेकरा में अयाज भी रहले. ओकरा बाद अयाज खान के लगातार निरहुआ के फिल्म में खल चरित्र के रोल मिले लागल आ उ दीवाना, दाग, लागल रहs ए राजा जी जइसन फिल्म कइलें. फिल्म हिट भइल त इनके भी फायदा भइल बाकिर एगो बड़ नुकसान इ भइल कि उ टाइपकास्ट हो गइलें. हालांकि अयाज एकरा के आपन किस्मत मानेलें कि उनके बैक टू बैक फिल्म मिलल आ उ स्थापित हो पवलें.
एगो इंटरव्यू के दौरान अयाज बतवलन कि अभी ले उ 100 फिलिम में काम कर लेले बाड़न अउरी उनकर कुछ बेहतरीन फिलिम में पवन सिंह के साथे ‘धड़कन’ बा जेमें उ पवन के भाई अउरी पुलिस अफसर के रोल कइले बाड़न. फिलिम के क्लाइमेक्स आवत-आवत गुड-बॉय से बैड-बॉय बन जालें, लोगन के अयाज के ई चेंजओवर पसंद आइल. उनकर खेसारीलाल के साथे मुकद्दर में एगो मैच्योर किरदार जे उम्र में बड़ बा, कइल बहुते चुनौतीपूर्ण रहल अउरी फिलिम बनावे से पहिले तक लेखक अउरी डायरेक्टर के ई भरोसा ना रहल कि अयाज ई रोल कर पइहें. रितेश पाण्डेय के साथे सइयां थानेदार फिलिम में उनकर किरदार जवन भयानक अउरी विचित्र हंसी हंसेला, दर्शकन के काफी पसंद आइल. ‘कसम वर्दी वाला’ में पागल के रोल अउरी इंडिया वर्सेस पाकिस्तान में पाकिस्तानी मेजर के रोल उनका लाइफ के माइलस्टोन रोल रहल बा. उनकर पाकिस्तानी मेजर के वेश-भूषा अउरी संवाद-शैली अपनावल एतना नैसर्गिक रहल कि लोग के भ्रम हो गइल रहे कि उ पाकिस्तानी हउवें.

अयाज के लीड रोल में फिल्म बलमा डेरिंगबाज पिछला साल बन के तैयार रहे बाकिर लॉकडाउन के चलते रुक गइल. एह फिल्म में उनके मुख्य भूमिका बा आ उ सकारात्मक किरदार में बाड़ें. उनके आवे वाला अउर फिल्मन में रन, अब होई पुलिसगिरी, अनाड़ी ऑटोवाला, बलमा सिपहिया, बनारसी पहलवान आदि बा. अयाज के उनका जन्मदिन पर ढेर सारा शुभकामना! उ अइसहीं अपना कलाकारी से हम सभ के मनोरंजन करत रहस, स्वास्थ्य रहस!

( लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य और सिनेमा के जानकार हैं. )

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज