• Home
  • »
  • News
  • »
  • bhojpuri-news
  • »
  • Bhojpuri Spl: एक से एक धाकड़ कॉमेडियन से भरलs बा भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री, पढ़ीं...

Bhojpuri Spl: एक से एक धाकड़ कॉमेडियन से भरलs बा भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री, पढ़ीं...

भोजपुरी फिल्म में एक से बढ़कर एक कॉमेडियंस हैं.

भोजपुरी फिल्म में एक से बढ़कर एक कॉमेडियंस हैं.

भोजपुरी फिल्म (Bhojpuri Movie) में कए गो कॉमेडियन बाड़ें, जे अपना धाकड़ एक्टिंग से फिल्म के सुपरहिट बनावे में महत्वपूर्ण भूमिका निबाहे लन जा.. आज कॉमेडियन के तीसरा कड़ी में पढ़ीं अउर लोगन के बारे में...

  • Share this:

भोजपुरी सिनेमा के पिछला दौर के कॉमेडियन हरी शुक्ला अउर एह दौर के कॉमेडियन मनोज टाइगर, आनंद मोहन, प्रकाश जैस आ सी. पी. भट्ट के चर्चा हो चुकल बा. अब आगे आधुनिक भोजपुरी सिनेमा के कुछ अउर कॉमेडियन लोग के बात कइल जाय –

सशक्त अभिनेता आ टाइमिंग वाला कॉमेडियन संतोष श्रीवास्तव-

संतोष श्रीवास्तव भोजपुरी कॉमेडियन के रूप में स्थापित कलाकार हवें. आज़मगढ़ के चकपुरन्दर में जनमल संतोष अपना फ़िल्मी करियर के शुरुआत 1999 में हिंदी फिल्म आधी रात से कइलें जवन उत्तरप्रदेश के पहिला टैक्स फ्री फ़िल्म रहे आ अंध विश्वास पर आधारित रहे. जवना मे उनकर पुलिस इंस्पेक्टर के भूमिका रहे. साल 2004 में भोजपुरी फ़िल्म ससुरा बड़ा पइसावाला बनल जेमें संतोष भोला के भूमिका निभा के हास्य अभिनेता के रूप में आपन हाजिरी दर्ज करवलें. उनके उम्दा रोल वाला फिल्म ससुरा बड़ा पैसावाला, दरोगा बाबू आई लव यू, बंधन टूटे ना, भईया हमार, दुलहिनिया नाच नचाये, मंगल सूत्र, दामाद जी, जाड़े में बलमा प्यारा लगे, देवर जी, सुहाग, इंसाफ, बॉर्डर, रिक्शावाला आई लव यू आदि बा.

ससुरा बड़ा पइसावाला के भोला शारीरिक रूप से त बड़ बा पर मानसिक रूप से अभियो बच्चे बा एही से ऊ कवनो भी बात कहsता त ओह में हंसी पैदा हो जाता. ओकर एगो डायलॉग बा, जब क्लास में मास्टर जी पूछsतारें कि नौ सौ चूहा खा के बिल्ली कहाँ चली? खाली स्थान भरे के बा के बताई?? भोला भी काफी दिमाग लगावला के बाद जवाब देता कि मास्टर साहब, नौ सौ चूहा खाके बिल्ली हगे जाई. एतना सुनते सिनेमा हॉल में बइठल पब्लिक सीटी अउरी ताली बजावे लागे आ जब सिनेमा हॉल से बाहर निकले त आपस मे ई प्रश्न पूछ के खूब एन्जॉय करे.

फिल्म दरोगा बाबू आई लव यू में हवलदार खरोचन के रोल संतोष के पसंदीदा रोल में से एक ह. फिल्म में मनोज तिवारी इंस्पेक्टर बनल बाडन. हर काम उल्टा पुल्टा करे वाला हवलदार खरोचन अपना बेवकूफी वाला हरकत से दर्शक के हंसावत बा. हवलदार खरोचन अउरी ओकर साथी नोचन के जोड़ी दर्शक के लोटपोट होखे खातिर मजबूर कर देता. ई जोड़ी ओह टाइम बहुत मशहूर भइल. दिनेश लाल निरहुआ के फिल्म बॉर्डर में ऊ भिंडी पांडे के रोल में रहलें. उनकर पत्नी ओह एरिया के विधायक बाड़ी अउरी ऊ अपना पत्नी के पीए. जब भी भिंडी पांडेय कवनो सलाह देलें त ऊ उल्टा हो जाला आ उनके अपना पत्नी के हाथे झापड़ खाये पड़ेला माने भिन्डी पाण्डेय जब-जब मुँह खोलेलें तब तब झापड़ पड़ेला. दर्शक एह सीन के खूब एन्जॉय करेलें.

संजय महानंद
निरहुआ अउर खेसारीलाल यादव के फिल्मन में लगातार देखाई देबे वाला संजय महानंद छत्तीसगढ़ के रहे वाला हवन. उहवां ऊ 2001 से लेके दस साल ले लगातार छत्तीसगढ़ी फिल्म कइले. ऊ साल 2012 में मुम्बई आके दूगो हिंदी फिलिम में काम कइले. उनका प्रकाश झा के फिलिम “चक्रव्यूह” में अच्छा रोल रहल. संजय के बैकग्राउंड थिएटर से जुड़ल बा. उनकर पिता जी भी थिएटर से रहले. संजय 16 साल के उम्र में अपना करियर के शुरुआत कइलें. मुम्बई अइला के बाद उनका के 2013 में फिलिम “निरहुआ हिंदुस्तानी” में निरहुआ के छोट भाई के रोल ऑफर भइल रहे, फेर उनका लगातार फिलिम मिले लागल. अभी ले संजय लगभग 30 गो भोजपुरी फिलिम कर चुकल बाड़े.

उनका पांच बेहतरीन फिल्मन में बा “निरहुआ हिंदुस्तानी” जेकरा में ऊ स्कूल के चपरासी बनल बाड़े, जे बहुते मज़ाकिया बा. आम्रपाली दुबे भी एही फिलिम से डेब्यू कइले रहली. आम्रपाली शहर से आइल नया नवेली दुलहिन के रोल में रहली. बकौल संजय, “एह फिलिम में हमार खर्राटा वाला सीन अउर बाहर शौच के दौरान कुछ लोगन के साथे हमार कॉमिक बातचीत दर्शकन के बहुत पसंद आइल रहे.“ उनकर अगिला बेहतरीन फिलिम “राजा बाबू” में उनकर कैरेक्टर गोधना के रहल, जे बातूनी हजाम रहे. एही फिलिम से उनका पहचान मिलल. उनकर तीसरा बेहतरीन फिलिम ह “मेहंदी लगा के रखना”, जेकरा में ऊ खेसारीलाल के बचपन के दोस्त बनल बाड़न अउर दूनों लोग खूब शरारत करत बाड़न. एह फिलिम के अधिकतर सीन बहुत पॉपुलर बा. उनकरा खातिर फिलिम “राम लखन” में एगो पैरेलल स्टोरी लिखल गइल रहे, जेकरा में ऊ एगो लइकी के चाहत बाड़न अउर उ लइकी अपना मतलब खातिर उनकर इस्तेमाल करतिया. उनकर पांचवां फिलिम “निरहुआ हिंदुस्तानी 2” के तकिया कलाम- अउर ना त का लोगन के जबान पर चढ़ गइल बा.

महेश आचार्य
महेश आचार्य भी संजय महानंद के तरह अधिकतर फिल्म में हीरो के दोस्त बनल बाड़न. हालांकि उनकर ज्यादातर फिलिम खेसारीलाल के साथे बा. औरंगाबाद बिहार के रहे वाला महेश पहिले कोरियोग्राफर रहले. उ साल 2014 में आइल फिलिम ‘ए बलमा बिहारवाला’ से अपना अभिनय के शुरुआत कइले. ऊ अभियो डांस डायरेक्ट करेले लेकिन उनकर कॉमेडी में ढ़ेर डिमांड बा. बतौर कॉमेडियन उनकर अब तक 35 गो फिलिम आ चुकल बा. बकौल महेश उनकर पांच गो यादगार किरदारन में से एक खेसारीलाल के फिलिम “प्यार झुकता नहीं” में हीरो के दोस्त वाला रोल बा. महेश कहेले कि उनकर अउर खेसारीलाल के कॉमिक टाइमिंग बहुते मिलेला, एही से फिलिम के उ सीन निखर जाला.

फिल्म संघर्ष में उनकर रोल एगो बुद्धू आदमी के रहल, जेकरा में उनकर लाठी चार्ज वाला सीन खूब पॉपुलर भइल रहे. महेश “ए बलमा बिहारवाला” में फ्रॉड गिरधारी मामा के रोल कइलें जे खेसारी अउर उनका भाई के आपन ठसक देखा के मुम्बई बोला लेता. साल 2017 में आइल फिलिम “जानम” में ऊ अउर खेसारी बाड़े, ओमे महेश लांड्री के स्टाफ के रोल में बाड़न. मालिक अउर स्टाफ के बीच नोंकझोंक से कॉमेडी क्रिएट होता अउर ऊ सीन बहुते मजेदार बन जाता. उनकर अन्य मजेदार परफॉर्मेंस वाला फिल्मन में खेसारी के साथे कुली न 1, चिंटू के साथे ससुराल, कल्लू के साथे आवारा बलम अउर सात कॉमेडियन के लेके बनल फिलिम” लागल रहा बताशा” के नाम लिहल जा सकेला. (लेखक मनोज भावुक भोजपुरी सिनेमा के वरिष्ठ स्तंभकार हैं.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज