अपना शहर चुनें

States

भोजपुरी में पढ़ें- जब लालू जादव कहले रहन,“पीट के ठंडा कर देंगे!”

बिहार में नेता लोगन के गुस्सा के शिकार अफसर अउर पत्रकार भी भइल बा लोग.
बिहार में नेता लोगन के गुस्सा के शिकार अफसर अउर पत्रकार भी भइल बा लोग.

बिहार विधान सभा में मर्यादा से नीचे गिरके तोर-मोर भइला के ये घरी चर्चा खूब होता, लेकिन पहिले भी बिहार के राजनीति में इ सब कम नइखे भइल. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद आ राबड़ी देवी पुलिस प्रशासन के अफसर के मारे के धमकी दे चुकल बा लो. एगो पत्रकार के कहि चुकल बाने -“दे देंगे दू मुक्का कि नाच के गिर जाओगे”

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2020, 1:50 PM IST
  • Share this:
रघुपत राय खीस में अखबार चौकी पs फेंक के कहले, पढ़s लs गनपत, जान जा कि अब बिहार के राजनीत कहां जा रहल बा. विधानसभा में अइसन ओछ बात कहल जाई, केहू सोचले ना रहे. पहिले भी चुनावी सभा में तोर-मोर होतs रहे. लेकिन विधानसभा में लोग नाप-तउल के बोलते रहे. तेजस्वी जादव तs सब सीमा लांघ गइले. उनका नीतीश कुमार के जबाबे देवे के रहे तs विधानसभा के बहरी दिते, लोकतंतर के मंदिल में अइसन जबून बात काहे कहले ? इहे नवका पीढ़ी के राजनीत हs ? गनपत लाल कहले, रउआ सभे वला समय अब कहां, कुरसी खातिर नेता कुछुओ करे खातिर तैयार बाड़े. भीरिये बैइठल बजरंगी चौधुरी कहले, काहे लालू जादव के बोली भुला गइनी सभे ! कुछ साल पहिले टीभी पs उनका के का-का न कहत देखावल गइल रहे. उहो एक बेर ना कइअक बेर. राबड़ी देवी पs तs बोलिये के चलते मानहानि के केसो भइल रहे. राजनीत में अब बोली-बचन बहुत खराब हो गइल बा. खाली राजद के बात नइखे, सब दल में इहे हाल बा.

भोजपुरी में पढ़ें- ताजमहलः प्रेम के निशानी कि कुछ अउर

जब आग-बबूला भइले लालू जादव
गनपत लाल कहले, लालू जादव का कहले रहन ? तs बजरंगी चौधुरी अंगुरी पs गिनावे लगले, कवनो एगो कथा बा ? 2014 के लोकसभा चुनाव में राबड़ी देवी सारण (छपरा) सीट से चुनाव लड़त रही. एह बीच में चुनाव आयोग के खबर मिलल कि राबड़ी देवी के लोग भोट खातिर गांव में पइसा बांट रहल बाड़े. चुनाव आयोग के आदेश पs गाड़ी के जांच खातिर जगह-जगह चेकपोस्ट बनावल गइल रहे. रात के बारह बज गइल रहे. राबड़ी देवी चुनाव परचार से लौटत रही. लालू जादव के गाड़ी कुछ पीछा रहे. राबड़ी देवी के गाड़ी जब सोनपुर चेकपोस्ट पs पहुंचल तs उहां तैनात एसडीएम अउर दरोगा उनकर गाड़ी रोक देले. पइसा बांटे के खुफिया खबर मिलल रहे एह से गाड़ी के तलाशी लिहल गइल. तले पीछा से लालू यादव भी पहुंच गइले. एकरा बाद तs बबाल हो गइल. लालू यादव आग बबूला हो गइले कि राबड़ी देवी के गाड़ी के तलाशी कइसे लिहल गइल.
“पीट के ठंडा कर देंगे”


बजरंगी चौधुरी तनी सांस लेके आगा कहले, लालू जादव आपा खो देले रहन. उ एसडीएम के कहले, मार के ठंडा कर देंगे. फेन दरोगा के कहले, तुम कौना अधिकार से गाड़ी चेक किया ? राबड़ी देवी कहली, जब लेडी पुलिस नहीं थी तो काहे गाड़ी चेक किया ? तs अफसर लोग कहले, चुनाव आयोग के आदेश पs गाड़ी के जांच कइल गइल. सारण के एसपी साहेब के आदेश रहे कि गाड़ी के जांच कइल जाव. डीएसपी साहेब से ई बात पूछ लिहीं. लालू जादव लगातार गरज बरसत अफसरन के धमकी देत रहले. लालू यादव कहले, कहां है डीएसपी ? डीएसपी अइले तs लालू जादव कहले, का रंगबाजी कर रहे हो ? कय दिन के लिए ब्यूरोक्रेट हो ? लालू जादव के ई रूप देख के अफसर लोग सिट्टी-पिट्टी गुम हो गइल. राजद के कार्जकर्ता भी जमा रहन. भीड़ में से मार-मार के आवाज आवे लागल. लालू जादव खीस में कहसे, तुम लोग पइसा खोज रहा था, का मिला ? लिख के दो नहीं तो दुरुस्त कर देंगे. तुम लोग साहब बने हुए हो, नौटंकी कर रहे हो. ई खबर जब टीभी पs देखावल गइल रहे तs लोग दांत तरे अंगुरी दबा लेले रहन.

“दे देंगे दू मुक्का कि नाच के गिर जाओगे”
बजरंगी चौधुरी के बात सुन के रघुपत राय कहले, लालू जादव प तs पतरकार लोग के गारियो देवे के आरोप बा. 2017 में लालू जादव एगो पतरकार के कहले रहन, दे देंगे दू मुक्का कि नाच के गिर जाओगे. पतरकार उनका से पूछले रहन कि क्या आपकी जेल में बंद शहाबुद्दीन से बात होती है ? हम लोगों के पास तो इसका टेप भी है. एह सवाल पs लालू जादव खिसाय गइले. एकरा बाद पतरकार अउर लालू जादव में बहसा बहसी होखे लागल. तमतमाइल लालू जादव पतरकार के कहले, दे देंगे दू मुक्का कि नाच के गिर जाओगे. ओह बिबाद में लालू जादव पर पतरकार के गरियावे के भी आरोप लगाल रहे.

बदजबानी पs केसो भइल

बजरंगी चौधुरी के कथा जारी रहे. उ कहले, नेता लोग के बदजबानी के ममिला कोट तक ले पहुंचल बा. जदयू नेता ललन सिंह 2009 में राबड़ी देवी पs मानहानि के केस कइले रहन. राबड़ी देवी पs आरोप रहे कि उ 2009 के लोकसभा चुनाव में सारण के गड़खा में नीतीश अउरो ललन सिंह के निशाना बना के गारी देले रही. बाद में 2015 में लालन सिंह अउर राबड़ी देवी में सुलह हो गइल रहे. एही तरे 2017 में भागलपुर के यूके मिसरा लालू जादव पs मानहानि के केस कइले रहन. आरोप रहे कि लालू जादव, नीतीश कुमार के ठहरला पs सवाल उठा के उनका खिलाफ अपशब्द के इस्तेमाल कइले रहन. एतना बात सुन के गनपत लाल कहले, राजनीत में पक्ष अउर बिपक्ष में बिरोध तs रहेला लेकिन ई दुसमनागत में ना बदले के चाहीं. शासन के कमी-बेसी पs बहस होखे, घर परिवार पs काहे निशाना साधल जात बड़ुवे ? का तेजस्वी बिरोधी दल के ताकत देखावे खातिर फुहर बात बोलिहें ? का एह से उनका फैदा मिली ? रघुपत राय कहले, जनता मालिक बा, अब उहे इंसाफ करी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज