भोजपुरी में पढ़ें - औरति लोग लगावत बा शेयर में पइसा

शेयर बाजार के ओर औरतन के झुकाव के कई कारण बा.
शेयर बाजार के ओर औरतन के झुकाव के कई कारण बा.

के नइखे जानत कि ई लोग सोना-गहना में पइसा लगावत रहल हा. कहे के मतलब ई बा कि व्यापार कइला से अच्छा कवनो जगह पइसा लगाके ओकरा के बढ़ावल ठीक समझे वाली औरति लोगन के शेयर बाजार ठीक लागे लागल बा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 3:23 PM IST
  • Share this:
कोरोना भले महामारी होखे, शेयर बाजार में पइसा लगावे वाला लोग बढ़ि गईल बा. सबसे बड़ बात ई भईल बा कि लॉकडाउन के चलते घर में बइठल औरति लोग भी शेयर बाजार में मन लगावत बा. इहे हालि वर्क फ़्रॉम होम के कारन मरद लोग के भी बा. देखे वाली बात बा कि ऑफिस में रहला के कारन बहुते लोग शेयर बाजार पर नजर ना रख पावत रहल हा. शेयर बाजार के टाइम सबेरे सवा नौ बजे से दुपरिया बाद साढ़े तीन बजे के होला, अउर इहे टाइम ऑफिस में ढेर काम रहे ला. मार्च में जबसे लॉकडाउन शुरू भईल, धीरे-धीरे बड़ पूंजी वाली कंपनी भी परेशान हो गइली सन. इहे हालि रियल एस्टेट के हो गइल. अइसना में लोग बाजार में सीधा पईसा लगावे के सोचे लागल. शेयर बाजार में व्यवसाय करे खातिर डीमैट एकाउंट खोलल भी आसान हो गईल बा. सस्ता मोबाइल फोन अऊर डॉटा त बटले बा, एहि बाजार में मदद करे वाली कई गो कंपनी बिना शुरुआती फीस के काम करत बाड़ी. इलेक्ट्रॉनिक नो योर  कस्टमर (केवाईसी) से तुरंते खाता खुलत बा, त एकर असर ई बा कि जेरोधा अईसन मददगार कंपनी के बल्ले-बल्ले हो गईल. ओकरा पेज पर लॉकडाउन में रोज 45 हज़ार से बढ़िके 85 हज़ार लोग लउके लागल.

ये भी पढ़ें: भोजपुरी विशेष – दीवाली पर माटी से बनेला आ सजेला सपना के घरौंदा - मटकोठा

शेयर बाजार आखिर काहें



अब एगो बाति औरति लोगनि के शेयर बाजार में मन लागे के बा, त ओकर कारन सोचे के चाहीं. के नइखे जानत कि ई लोग सोना-गहना में पइसा लगावत रहल हा. कहे के मतलब ई बा कि व्यापार कइला से अच्छा कवनो जगह पइसा लगाके ओकरा के बढ़ावल ठीक समझे वाली औरति लोगन के शेयर बाजार ठीक लागे लागल बा. जेरोधा कंपनी बताबति बा कि अपना देश में कोरोना महामारी शुरू होखला के बाद एहि कंपनी के जवन 15 लाख से ढेर गाहक बनल बाड़े, ओहमें औरति लोगन के पांचि लाख 60 हज़ार एकाउंट बा. एहि तरे एगो अऊरी स्टॉक ब्रोकिंग ट्रेडिंग कंपनी फायर्स नाम से काम करे ले. ओहू जगहीं महामारी के दौर में पहिले से तिगुना लोग गाहक बनल बा. इ बाति पक्का बा कि वर्क फ्राम होम के कारन जवन नंबर बढ़ल बा, ओमे औरति लोग के सहजोग बा.
पढ़ाई लिखाई से बदलल स्थिति

औरति लोग पहिले से ज्यादा पढ़त लिखत बा. ऑफिस में काम करे वाली लड़कियन में बढ़ोतरी भईल बा. देखे में ई आवत बा कि एही उमिर में शेयर बाजार में पइसा लगावे वाली लड़िकी-औरति ज्यादा बाड़ी. एगो अंदाज बतावत बा कि 20 से 30 साल के उमिरि वाला लोग शेयर बाजार में 69 फीसद हो गईल बा. पहिले ई 50-55 फीसद रहल हा. फायर्स होखे चाहे अपस्टॉक्स, कुल्हीं ऑनलाइन ब्रेकिंग प्लेटफार्म से व्यवसाय करे वाला लोगनि के औसत उमिर 33 साल बा. अब एसे ते साफ जनात बा कि एहि टाइम पर शेयर बाजार में नवजवान लोग ज्यादा आवत बा. इंडिया इंफोलाइन फाइनेंस के एगो सहायक कंपनी पांचि पइसा डॉट कॉम (5paisa.com) पर त 18 से 35 साल के उमिर वाला 81 फीसद लोग बा. कोरोना महामारी से पहिले ई लोग 74 फीसद रहे. कुल्हि अंदाजा इहे बतावत बा कि कोरोना के समय में शेयर बाजार में पइसा लगावे वाला लोग बढ़ल बा अउर एमें ओरति लोग ज्यादा बा. कारन साफ बा कि कोरोना शुरू होखला के बाद शेयर बाजार गिरि गईल अऊर ओकरा के बढ़हि के उम्मीद बा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज