Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri: बिहार में अब जनता खुदे चुनिहन आपन मेयर प्रत्यक्ष, निर्वाचन प्रणाली से होई नगर निकाय के चुनाव

Bhojpuri: बिहार में अब जनता खुदे चुनिहन आपन मेयर प्रत्यक्ष, निर्वाचन प्रणाली से होई नगर निकाय के चुनाव

.

.

बिहार में मेयर आs उप मेयर के चुनाव अब सीधे जनता के बीचे होई. माने ,अब जनता ही प्रत्यक्ष निर्वाचन प्रणाली से आपन मेयर चुनिहन. ई बात के अईल के बाद , हर बर्ग में एगो बढ़िया मैसेज जरूर गईल बा. अब त हर गली -कुच्चा में एगो मेयर साहेब जरूर लउकिहन.

अधिक पढ़ें ...

प्रजातन्त्र में जनता ही जनार्दन बा ,एकरा प राज्य सरकार एक बार फेरु से जनता के हाथ में पावर देवे के काम कईलस आ s कहाऊत के मोहर लगा देलस. बिहार सरकार नगरपालिका (संशोधन) अध्यादेश – 2022 ला के बिहार सरकार एगो बढ़िया पहल कईलस.

अब तक बिहार में मेयर -उप मेयर के चुनाव वार्ड पार्षद करत रहे लोग .वार्ड पार्षद के जनता आपन भोट देके जितवावत रहे ,आs पार्षद लोग मिल के वार्डे पार्षद में से मेयर उम्मीदवार के पक्ष में भोट डालत रहे लोग . मतलब की पार्षदे लोगन के हाथें जादुई छड़ी रहत रहे कि केकरा मेयर बनावे के बा . बस , एहि में खुबे खेला होत रहत रहे . मेयर चुने के होखे , चाहे नगरपालिका के अध्यक्ष चुने के होखे ,मय पार्षद भोट के बदला में नोट के भाषा सुनत रहे लोग. मतलब ,खूब खेला होत रहे , मुर्गा-दारू के पार्टी से शुरू होत ई खेला ,रातों रात में पार्षद के दुआरी प स्कार्पियो गाड़ी त खाड़ हो जात रहे . गरीब से गरीब पार्षद, एगो गाड़ी के मालिक जरूर बन जात रहन .

सालों साल तक वार्ड पार्षद लोग बहुते छान पगहा तुड़ववले बा . मेयर होखस आs चाहे नगरपालिका के अध्यक्ष होखस , सभे लोग बेलगाम होके मनमाना काम करत रहे . करोड़ो खर्चा के बाद बिकास के नाम प त खाली लूट नु होई. कागज प काम जादे होत रहत रहे , गली-नली के निर्माण में करोड़ो के खेल होत रहत रहे .

एहि सन्दर्भ में समाज सेवी कमलेश तिवारी से बात भईल. अमेरिका में इंजीनियर रहन, 42 बरिस के कमलेश तिवारी नोकरी -चाकरी छोड़ के आपन घरे अईले कि एहिजा बहुते काम करब . बहुते कोसिस भी कइलें, आरा शहर के मेन नाला के साफ करे के बहुते कोशिश कइलें ,लेकिन चारो ओर कचरा के पहाड़ , एन एच के सन्डक प शहर भर के कचरा फेंक देला से सड़क जाम ,बदबू से लोगन के हालत खराब . तिवारी जी अमेरिका नियन आपन नगरनिगम के एरिया के दुरुस्त कईल चाहत रहन , कs त ना पईलन , खुदे छितरा गईलें . नगर निगम के एह तरह के सैकड़न काम हो रहल बा जेकरा देख के इहे कहल जा सके ला कि ई नगर निगम अब , ‘नरक निगम ‘ बन गईल बा . जगजीवन राम के गांव ‘चंदवा’ के रहे वाला कमलेश तिवारी से पूछनी कि का कहनाम बा ई मुख्यमंत्री के नगर निगम एक्ट 2022 के अईला के बारे में, ऊहां के धड़धड़ा के कहनी कि पिछलका 4 बरिस में मुजफ्फरपुर आs आरा नगर निगम में 3 -3 बार मेयर बने खाती करोड़ो के खरीद -फरोख्त होत रहल.

सरकार के ई कदम से हॉर्स ट्रेडिंग के खेल ना होखी. मय वार्ड पार्षद लोगन के हुंहार लेखा मुंह भईल रहे . बिहार सरकार ई जवन अध्यादेश लाइल बिया एकरा में त जनता के भाव बढ़ल गईल बा . बस जनता आपन पावर समझे . अब चुनाव जनता के प्रत्यक्ष रूप से आपन वोट देके चुने के बा ,त तनि समझदारी त देखावे के पड़बे नु करी .

मुकुल यादव ,राष्ट्रीय जनता दल के युवा नेता ,जेकर हर वर्ग में बहुते इज़्ज़त बा . जब हम एहि बारे में पूछनी त युवा राजद नेता आ s आरा नगरनिगम के वार्ड सदस्य मुकुल यादव से पूछनी कि ई एक्ट से का फायदा होई जनता के .? मुकुल बोललन कि मुख्यमंत्री नीतीश के भ्रष्टाचार के ले के जवन जीरो टॉलरेंस बा ,ई अध्यादेश उनकर ई मिशन के बल देत बा. पहिले जे भी मेयर बनलन ,ऊ खाली लुटे के फेरा में रहलन . बाकी ई नयका नियम अइला से, विकास ,गली से निकल के सड़क पर आई. अब मेयर शहर के विकास करे के कदम उठइहन. बहुत अईसन जगहा बा , जवन कवनो वार्ड में ना आवे , आs ऊ जगह के बिकासे ना होखे .अब ओकर बिकास होई . राजद सामाजिक बिकास खातिर जानल जा ला . त नीतीश आर्थिक बिकास ख़ातिर पहचान बा .ई के ,आर्थिक विकास कइलन . मुकुल कहलन कि अब ,नीतीश जी ,राजनीतिक बिकास करे के सोंचत बाड़न . ई कदम उंकर राजनीतिक बिकास देने ले जा रहल बा. मेयर के उम्मीदवारी के ले के मुकुल कहलन कि जतना लोग मेयर के चुनाव में उतरहिं ,लोकतंत्र ओतने मजबूत होई.

बिहार नगरपालिका अधिनियम-2007 के धारा 23 और धारा 25 में संशोधन कईल गईल हा . दुनों धारा में मेयर (महापौर) उप महापौर या अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के मुख्य पार्षद आs उप मुख्य पार्षद के पदनाम से सूचित कईल गईल बा . धारा 23 की तीन उपधारा के माध्यम से मुख्य पार्षद और उप मुख्य पार्षद के आम निर्वाचन आs बैकल्पिक परिस्थिति में निर्वाचन के व्यवस्था देल गईल बा . अइसहीं धारा 25 के तीनों उपधारा में संशोधन के माध्यम से दुनों पद से हटावे या पदत्यागे के व्यवस्था देल गईल बा . सरकार ई जवन अध्यादेश लाइल बिया , एकरा में त जनता के भाव बढ़ ही गईल बा, बस जनता आपन पावर समझे ! चुकी , अब चुनाव जनता के प्रत्यक्ष रूप से , आपन वोट देके चुने के बा ,त तनि समझदारी देखावs हीं के पड़ी.
(संजय शाश्वत वरिष्ठ पत्रकार हैं, आलेख में लिखे विचार उनके निजी हैं.)

Tags: Bhojpuri News, Bihar election, Bihar Elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर