Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri: आरजेडी के ड्रामा- केकर निशाना कहां बा

Bhojpuri: आरजेडी के ड्रामा- केकर निशाना कहां बा

.

.

भईल का हा कि बिहार में दू गो विधानसभा सीट तारापुर अरू कुशेश्वर स्थान में उपचुनाव हो रहल बड़ुए. एकरा में महागबंधन के भी चेथड़ा उड़ गईल बा. दूनो बड़की पार्टी अलगे-अलगे राग अलाप रहल बाड़ी स. कांग्रेस आपन अलगे उम्मीदवार उतरले बीया त राजदो पीछे नईखे. ऊहो आपन प्रत्याशी खड़ा करके ताल ठोंक रहल बीया.

अधिक पढ़ें ...

चारा घोटाला के चार गो केस में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री आ राजद (राष्ट्रीय जनता दल) सुप्रीमो लालू प्रसाद जादव के बड़ बेटा तेजप्रताप जादव राजद के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के धमकवले बाड़न. कहले हा कि ई आरएसएस वाला हवन. जब तक इनका (जगदानंद सिंह) पार्टी से ना निकलवाइब तब तक हमरा आरजेडी से आ संगठन से कोई मतलब नईखे. एयरपोर्ट पर युवा राजद में पले वाले गुंडा से हमरा ठेलवाईल गईल हा. हमार पूरा बेईजती करवाइल गईल बा. हम बहुत बड़ स्टेप लेब.

भईल का हा कि बिहार में दू गो विधानसभा सीट तारापुर अरू कुशेश्वर स्थान में उपचुनाव हो रहल बड़ुए. एकरा में महागबंधन के भी चेथड़ा उड़ गईल बा. दूनो बड़की पार्टी अलगे-अलगे राग अलाप रहल बाड़ी स. कांग्रेस आपन अलगे उम्मीदवार उतरले बीया त राजदो पीछे नईखे. ऊहो आपन प्रत्याशी खड़ा करके ताल ठोंक रहल बीया. जब बात गबड़ाए लागल हा त लालू जादव के बिना काम कईसे चलित. तब निर्णय भईल हा कि गार्जियन के बिहार गईला बिना काम ना चली. एकबा बाद डॉक्टर से परमिशन लेके दवा-बीरो के साथे लालू जी के बिहार खाती कमान कटल हा. ऊंहा के ठीक साढ़े तीन बरिस बाद पटना अइनी हा. लेकिन, उनका पटना पहुंचे से पहिलही डुग्गी-ड्रामा शुरू हो गईल हा.

उनकर घरे के झगड़ा फेर एक हाली रोड पर आ गईल हा. हालांकि, ई कवनो पहिला हाली ना होखत रहे. येह से पहिले भी लालू-रबड़ी के बड़का बेटा तेजप्रताप जादव आपन रंग कय बेर देखा चुकल बाड़न. लेकिन, ई जरूर लऊकल हा कि जब घर फूटे ला त जवार लूटेला. येकरा में मीडिया के लोग भी खूबे चटकारा लेलस हा. आ तरह-तरह से खबर परोसलस हा. साथे जगदा बाबू भी चर्चा में आ गईले हा.

बात त दू दिन पहिले के ह. लालू जी दिल्ली से पटना आवे वाला रहन. एकरा लेके मय बिहार में उत्साह के माहौल बनावल गईल रहे. राजद के नेता आ कार्यकर्ता त भर पटना गहगह कईले रहे लोग. एयरपोर्ट से लेके रबड़ी आवास तक सभे कोई आपन मुंह देखावे खाती बेचैन रहे.

लागत रहे कि कोई पीछे छूट जाई त परीक्षा में फेल हो जाई. येकरा में पूर्व मुख्यमंत्री लालू जादव आ रबड़ी देवी के दूनो राजनेता बेटा भी शामिल रहे लोगन. बड़का बेटा अ पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप त हवाईअड्डा पर अलगे मचांग गड़ले रहन. खूब सजवले रहन. आपन कार्यकर्ता संगे पूरा झमेला जुटवले रहन. बजाप्ते वेलकम फादर के बोर्ड लगवले रहन. लेकिन, का कहल जाओ उनकर स्थिति त कानी गईया के अलगे बथान वाला हो गईल रहे. लालू जी ऊनका ओर कवनो खास एटेंशने ना देलन. हवाई जहाज से ऊतरला के बाद एयरपोर्ट से बाहर निकलला पर भोट पक्का करे के इंतजाम टाईट रहे. उनका सबसे पहिले हरियर टोपी आ हरियर गमछा धारण कराईल गईल. फेर का कहे के रहे ऐतना देखते जिंदाबाद के नारा लागे लागल. अरू साथे चले के आपाधापी. कोई पीछे ना छूटे, एकरा प सभे के ध्यान. छोटका बेटा आ पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद जादव भी आपन बाबूजी के साथ लऊके लगले. राजद के बड़ नेता लोग भी संगे-संगे चले लगले. तेजप्रताप भी भीड़ संगे दऊड़त देखईले.

लालू जी आपन गाड़ी में बईठ के चल देनीं. फेर दोसर गाड़ी में अऊर लोग. सब के गाड़ी राबड़ी निवास के ओर निकल चलल. तेजप्रतापो ई रेस में रहन. लेकिन राबड़ी निवास प पहुंचला के बाद सीन बदल गईल. तेजू भाई लऊटे लगले. फेर का रहे, सीधा-साधा दिल के साफ तेजप्रताप अरू बढ़-चढ़ के बोले लगलन. सांच कहल जाओ तो ऊ तनी इमोशनल हो गईल रहन. आ भीतर ना जाके मीडिया में बयान देवे लगले. कहे लगलन कि हमरा येहिजे तक आवे के परमिशन रहे. येकरा आगे ना. अब येहिजे से लऊट रहल बानी. घरे तक परमिशन ना रहे. पिताजी को . क़ॉल भी लगाया था. माता जी से भी बात भईल. हम कहनी कि पांच मिनट ईहां से होते हुए जाईल जाओ, लेकिन जगदा सिंह, सुनील सिंह और संजय ने मना कर दिया.

फेर ऊ गजबे-गजबे बात बोले लगले. ओकरा में उनकर हताशा लऊकत रहे. लागत रहे कि अलगे-थलगे पड़ गईल बाड़न. परिवारों में पूछ कम हो गईल बड़ूए. मीडिया से बतियावे में तेजप्रताप कहे लगलन कि हमनी के पार्टी से आ संगठन से कोई मतलब नईखे. कोई बास्ता नईखे. ऊ (लालू प्रसाद यादव) हमार पिता हवन तो जीवन भ हमार पिता रहिहन. हमेशा उनकर रेस्पेक्ट करब. लेकिन, ई खुशी के बहुत बड़ मौका रहे. बहुत बड़ मौका रहे आ सभे के एक होखे के रहे, लेकिन अईसन सिचुएशन में भी हमार बेईजती करल गईल. एयरपोर्ट प भी जगदा सिंह हमरा के ठेले का काम कईलन. सब लोग देखलस हा. कहलन, ह ट-ह ट. सबके ठेलल गईल.

ई आरएसएस वाला हवन. जब तक इनका (जगदानंद सिंह) पार्टी से ना निकलवाइब तब तक हमरा आरजेडी से कोई मतलब नईखे. युवा राजद में पले वाले गुंडों से ठेलवाईल गईल. हमार पूरा बेईजती करवाइल गईल बा. हम छोड़ब ना. जब उनका से पूछल गईल कि राऊर पिताजी भी ई सब देखत होईब. ये पर तेजप्रताप कहलन कि पिताजी अंदर रहन. ऊ देखिहन त जरूर एक्शन लिहन. सहबसे पहले जगदा सिंह, सुनील सिंह अरु संजय आगे-पीछे मंडरात रहन. एयरपोर्ट प भी हमनी के अंदर ना जाय सकनी. आगे हम बहुत बड़ स्टेप लेब. फेर का रहे, तेजप्रताप के बयान के मीडिया के लोग हाथों-हाथो लूट लेलस हा. भरपूर चटकारा लेके सोशल मीडिया से लेके इलेक्ट्रोनिक मीडिया प चलावे लागल हा लोग. दोसर दिन फजीरे-फजीरे अखबारों में ई खबर लोगन के पढ़े के मिलल. येह प लोग त ईहे कह ता कि जब घर फूटी त जवार लूटबे करी. वईसे ई पारिवारिक पोलिटिकल ड्रामा से अब केकर जायका बनल आ केकर बिगड़ल ई त समय बताई.

(राजीव मिश्र वरिष्ठ पत्रकार हैं, आलेख में लिखे विचार उनके निजी हैं.)

Tags: Bhojpuri Articles, Bhojpuri News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर