Bhojpuri: भारतीय सिनेमा के दूगो संजीदा अभिनेता गुरुदत्त आ संजीव कुमार के आज ह जन्मतिथि

भारतीय सिनेमा के इतिहास में गुरुदत्त अउर संजीव कुमार के पहचान संजीदा एक्टर के रुप में बा. दूनो लोग अपना नेचुरल एक्टिंग से लोगन के दिल पर राज करत रहन जा. आज एह दूनों जाना के जन्मतिथि ह.

  • Share this:
भारतीय सिनेमा के प्रेमी अपना जीवन में शोले फिलिम एक बार त जरूर देखले होइहें आ उ फिल्म देखला के बाद एकर सूत्रधार ठाकुर के मुरीद ना भइल होइहन ई नइखे हो सकत. दुनू हाथ कट गइला के बादो अपना गुनहगारन के ओकनी के अंजाम तक पहुंचावे वाला ई दमदार किरदार अगर केहू निभा सकत रहे त उ संजीव कुमारे रहलें. उ बिना हाथ गोड़ के परयोग कइले अपना आँखिए से किरदार के सगरो पहलू दर्शक के सामने रख देस. बोलत आँख वाला अभिनेता बहुत कम पैदा होले, संजीव कुमार ओहमें से एक रहलें.

संजोग से आज गुरुदत्त के भी जन्मदिन ह. गुरुदत्त 9 जुलाई 1925 के बेंगलूरू में पैदा भइल रहलें. उनके परिवार भवानीपुर कलकत्ता में रहत रहे, एही से गुरुदत्त बंगाली साहित्य से भी परिचित रहलें. उनके हिन्दी के ऑलटाइम क्लासिक फिल्म प्यासा (1957), काग़ज़ के फूल (1959), चौदहवीं का चाँद (1960) आ साहब बीवी और गुलाम (1962) बनावे खातिर जानल जाला. हालांकि जब गुरुदत्त के असमय मृत्यु भइल तब संजीव कुमार इंडस्ट्री में आपन आधार तलाशत रहलें. उ 1960 में हिन्दी फिल्म ‘हम हिन्दुस्तानी’ में एगो छोट रोल कर चुकल रहलें. बाकिर उ थिएटर में ढेर सक्रिय रहस. उनके मुंबई के थियेटर समाज में काफी नाम बन गइल रहे, वजह रहे उनके रियलिस्टिक एक्टिंग अउरी जवानी में भी बड़ उम्र के किरदार सहजता से कs लेबे के प्रतिभा. के. आसिफ लैला मजनू के कहानी पर फिल्म बनावत रहलें. पहिले गुरुदत्त के अकस्मात मृत्यु के चलते फिल्म के हीरो के रोल खाली हो गइल अउरी फिल्म रुक गइल. बाद में आसिफ नया अभिनेता के तलाश कइलें आ केहू संजीव कुमार के नाम सुझावल. शूटिंग के पहिला दिने संजीव कुमार जब मेकअप करा के सेट पर अइलें त के. आसिफ अपना रूम में चल गइलें अउरी तीन घंटा ले बाहरे ना निकललें. एने संजीव कुमार इंतजार करके परेशान हो गइल रहलें. डायरेक्टर अपना रूम से संजीव कुमार के चेहरा आ आँखिन के हाव भाव पढ़त रहलें. उनके अपना फिल्म के हीरो जब संजीव कुमार में नजर आ गइल त बाहर निकललें आ शूटिंग चालू भइल. ई फिल्म के अइसन पनौती रहे कि फिल्म पूरा होखे से पहिले के. आसिफ के अधेड़ उम्र में मृत्यु हो गइल. ओकरा कई साल बाद जब उनके मेहरारू फिल्म के जइसे-तइसे रिलीज कइली तब ले फिल्म के हीरो के अलावा कई गो कलाकारन के मृत्यु हो चुकल रहे.

संजीव कुमार के जमीन से जुड़ल किरदारन के चुनाव ही रहे कि उ भोजपुरिया समाज से बड़ा कनेक्ट कइलें. उनके यथार्थवादी अभिनय अउरी सादा संवाद अदायगी ही रहे कि गाँव से लेके शहर के रहनिहार आ बूढ़ से लेके जवान ले उनका से जुड़ जाव. उनके फिल्मन के भोजपुरिया क्षेत्र में बड़ा मांग रहे आ उनके एगो समृद्ध दर्शक वर्ग भी रहल, जवन नया पीढ़ी में भी स्थानांतरित भइल बा. युवा भी जवन फिल्मन से जुड़ल बा भा फिल्म प्रेमी बा, संजीव कुमार के फिलिम आ फिल्मन के गाना जरूर देखेला, सुनेला.

संजीव कुमार के जन्म गुजरात के सूरत में 9 जुलाई 1938 के भइल रहे. उ परिवार के साथे अपना किशोरावस्था में ही मुंबई चल अइलें. उनके असली नाम हरिभाई जेठालाल जरिवाला रहे. इंडस्ट्री के मित्र उनके हरीभाई के नाम से भी बोलावे लोग. उनका बचपने से अभिनय करे के रहे आ इहाँ आके उ थियेटर करे लगलें. संजीव कुमार एगो साक्षात्कार में कहले रहलें कि जरिवाला परिवार के पुरुष 50 बरिस से ज्यादा ना जिएला. शायद उनका मन में भी अपना खातिर अइसन डर रहे. अब अंधविश्वास मानल जाव भा विधि के विधान संजीव कुमार के मृत्यु 47 साल के उम्र में भीषण हार्ट अटैक के चलते हो गइल.

संजीव कुमार के जीवन जन्मे से कठिनाई लेके आइल. उनके जन्म के समय ही उनके हृदय में समस्या रहे. उनके जन्म के बाद कम उम्र में ही पिता के मृत्यु हो गइल. उनके माता जी दू भाई अउरी एगो बहिन के साथे बाल-संजीव के पोसली. उ जब फिल्मन में अइलें त अपना सादा शख्सियत अउरी दमदार अभिनय से छा गइलें. उनके भोजन से बड़ा प्यार रहे. एही के चलते एक से एक सुंदर स्त्री उनके आकर्षित करे खातिर उनका घरे टिफिन भेजे लगली, जे में कुछ हिरोइन भी रहली. बाकिर उनके दिल त हेमा मिलिनी पर अटकल रहे. हेमा उनका से बियाह करे के भी हाँ कहि देले रहली बाकिर उनका माई के ई पसंद ना रहे. एही दरम्यान ई गुप्त बात भी केहु से ना छुपल रहे कि हेमा मालिनी जितेंद्र के भी संपर्क में रहली आ जितेंद्र बियाह करे चाहत रहलें. संजीव आ हेमा के अफेयर के चर्चा ही कारण रहे कि शोले के शूटिंग के दौरान सभे कलाकार एगो होटल में आ संजीव कुमार दोसरा होटल में रुकस. तबो ओ बेरा के पत्र-पत्रिका में ई गॉसिप के पसंदीदा विषय रहे. बाकिर बहुत कुल उठापटक के बाद हेमा मालिनी धर्मेन्द्र से बियाह कर लेहली. जेकर चलते संजीव कुमार के दिल पर आघात लागल.

एक समय संजीव कुमार के नूतन के साथे भी अफेयर के चलल. जब मुँहा-मुही ई बात धीरे धीरे फइले लागल त नूतन के लागल कि संजीव कुमार ही जल्दी प्रसिद्धि पावे खातिर ई बात फइलावsतारें. तब नूतन एगो आर्मी अधिकारी से शादी कर चुकल रहली. ई किस्सा मशहूर बा कि नूतन उनका के थप्पड़ मार देहले रहली. संजीव कुमार प्यार में एकदमे बदकिस्मत ना रहलें. 1975 में फिल्म ‘उलझन’ से संजीव कुमार के ऑपोजिट एगो सुंदर अभिनेत्री सुलक्षणा पंडित डैब्यू कइली आ संजीव कुमार के संजीदगी देख के उनसे प्यार करे लगली. संजीव कुमार तब हेमा मालिनी के प्यार में रहलें. जब हेमा उनके ठुकरवली त सुलक्षणा अपना प्यार के इजहार कइली. तब दुनू जाना में अच्छा दोस्ती हो गइल रहे बाकिर संजीव कुमार उनके प्यार ठुकरा देहलें आ शराब के ओर उनके रुख हो गइल. भोजन के प्यार अउरी अधिक पियला के चलते अपना तीसवाँ साल में ही उ बूढ़ लउके लागल रहलें.

संजीव कुमार के मन में ई बइठ गइल रहे कि दोस्त इयार आ स्त्री सब पइसा के पीछे भागे वाला हवे, एही से उ दोस्त बनावल छोड़ देहलें आ अकेले अकेले रहे लगलें. ई भी कारण रहे कि उनके डिप्रेशन बढ़े लागल. जब उ 40-42 के रहलें त उनके पहिला हार्ट अटैक आइल. ओकरा बाद उ अमेरिका में बाइपास सर्जरी करवलें. बाकिर 47 के उमिर में उ 6 नवंबर 1985 के ई दुनिया के अलविदा कहि गइलें. उनका गइला के बाद भी उनके दस गो से अधिक फिल्म रिलीज भइल. इहो इत्तेफाक के ही बात बा कि एकाकी जीवन अउरी डिप्रेशन के चलते एगो अउरी अभिनेता गुरुदत्त के मृत्यु हो गइल, जब उ मात्र 39 बरिस के रहलें आ अपना फ्लैट में मृत पड़ल मिललें. आ उहो आजे के दिन पैदा भइल रहलें. गुरुदत्त भारतीय फिल्म उद्योग के एगो अद्वितीय शख्सियत मानल जालें आ उनके हर एक फिल्म अपना आप में एगो इंडस्ट्री बा.

संजीव कुमार के सादगी अउरी रियलिज़्म से भरल अभिनय ही रहे कि उ अपना शुरुआती फिल्मन से ही लोग के दिल में बस गइलें. उनके कुछ दमदार अभिनय वाला फिल्मन में खिलौना, शोले, आंधी, दस्तक, कोशिश, अंगूर, मौसम, पति-पत्नी और वो, देवता अउरी त्रिशूल आदि रहे. संजीव कुमार भारतीय फिल्म इतिहास के उ चंद अभिनेता में से बाड़ें जिनके भगवान विशेष प्रतिभा देके भेजले रहलें.
(लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य और सिनेमा के जानकार हैं. यह उनके निजी विचार हैं.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.