अपना शहर चुनें

States

Bhojpuri Spl: बंगाल के मुख्यमंत्री के भतीज पतोह से सीबीआई के पूछताछ

सीबीआई अभिषेक बनर्जी के साली मेनका गंभीर से विस्तार से तीन घंटा ले कई गो सवाल करुए, जानकारी लिहुए. आरोप बा कि अभिषेक बनर्जी के पत्नी रुजिरा का लगे थाईलैंड के पासपोर्ट बा. खास बात ई बा कि रुजिरा आ मेनका का घरे जाके सीबीआई पूछताछ करतिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 5:15 PM IST
  • Share this:
बंगाल में पिछला कुछ दिन से कई गो चौंकाऊ घटना घटि रहल बाड़ी सन. अब देखीं- विधानसभा चुनाव से पहिलहीं पश्चिम बंगाल में सीबीआई एगो बड़ कदम उठवले बिया. कोयला घोटाला के जांच के दौरान सीबीआई टीम पिछला मंगर के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजा अभिषेक बनर्जी के घरे जाके अभिषेक के पत्नी रुजिरा नरुला बनर्जी से पूछताछ डेढ़ घंटा पूछताछ करुए. ओकरा पहिले सनिचरे का दिने सीबीआई रुजिरा के नोटिस दे आइल रहुओ. आ खाली अभिषेक बनर्जी के पत्नी के ही ना उनका सालीओ के माने रुजिरा बनर्जी के बहिन मेनका गंभीर से भी पूछताछ कइले बिया. शायद रुजिरा आ मेनका से फेर पूछताछ हो सकेला.

सीबीआई अभिषेक बनर्जी के साली मेनका गंभीर से विस्तार से तीन घंटा ले कई गो सवाल करुए, जानकारी लिहुए. आरोप बा कि अभिषेक बनर्जी के पत्नी रुजिरा का लगे थाईलैंड के पासपोर्ट बा. खास बात ई बा कि रुजिरा आ मेनका का घरे जाके सीबीआई पूछताछ करतिया. ना त बंगाल के बड़े- बड़े नेता लोगन के सीबीआई आफिस में बोलावत रहलि ह. सभे जानता कि झारखंड के धनबाद आ पश्चिम बंगाल के आसनसोल, पुरुलिया, बांकुरा रेंज में बहुते कोयला के खदान बाड़ी सन. एइजा कई गो अइसन कोयला खदान बाड़ी सन जौन अइसहीं परल बाड़ी सन भा एकदम बंदे बाड़ी सन. एकरा अलावा ईसीएल (ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड) के खदान त बड़ले बाड़ी सन. आरोप बा कि एह कुल खदानन से अवैध कोयला के कारोबार अरबों रुपया के हो रहल बा. मंगर का दिने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एगो कार्यक्रम में जाए के पहिले, अपना भतीजा अभिषेक बनर्जी का घरे गउवी आ घर के लोगन से 10 मिनट तक बातचीत करुई. ऊ लोगन के बतउवी कि हम अभिषेक का साथे मजबूती से खड़ा बानी.

एने ज्योंही ममता बनर्जी अभिषेक के घर से निकलुई, सीबाआई के कई गो अधिकारी दू गो गाड़ी से रुजिरा से पूछताछ करे खातिर पहुंचुअन स. रुजिरा से डेढ़ घंटा पूछताछ भउवे. आरोप बा कि अनूप मांझी, रुजिरा के एकाउंट में रुपया जमा कइले बाड़े. सीबीआई एहू के जांच कर रहल बिया. दू साल पहिले रुजिरा पर आरोप लागल रहे कि ऊ विदेश से दू किलो सोना लेके एयरपोर्ट पर उतरुई त कस्टम के अधिकारी उनुका के रोकि लेले रहुअन स. बाकिर बड़ हस्ती के पत्नी भइला के कारन ऊ छूटि गउवी. सीबीआई के टीम मंगर का दिने रुजिरा बनर्जी से कई गो सवाल करुए. सीबीआई पहीलहीं से सवालन के लंबा लिस्ट तैयार क के आइल रहुए. एह सवालन में कोयला तस्करी में अनूप मांझी से उनकर संबंध कौना तरह के बा? अनूप माझी तोहरा बैंक खाता में पैसे काहें भेजले बाड़े? अनूप माझी के नांव कोयला घोटाला में मुख्य आरोपी के तौर पर सामने आइल बा. रुजिरा बनर्जी पर तीन गो बड़ आरोप लगावल गइल बा. पहिला- कोयला घोटाला में लेन-देना, दोसरा- विदेशी खाता में रकम, तीसरा- नागरिकता विवाद. आरोप बा कि रुजिरा के लगे थाई पासपोर्ट बा.



त ई कोयला घोटाला ह का? आईं जानल जाउ. सीबीआई पिछला साल 27 नवंबर के ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (ईसीएल) के कई गो अफसरन आ कर्मचारियन के साथे अनूप मांझी उर्फ लाला, सीआईएसएफ आ रेलवे के अज्ञात अधिकारियन के खिलाफ केस दर्ज कइलस. आरोप रहुए कि ईसीएल, सीआईएसएफ, भारतीय रेलवे आ संबंधित अन्य विभागन के अधिकारियन के सक्रिय मिली-भगत से ईसीएल के लीजहोल्ड क्षेत्र से कोयला के अवैध निकासी भइल बा. त सीबीआई मई 2020 में ईसीएल के कई गो लीज एरिया पर टास्क फोर्स लेके छापा डललसि आ एकरा बाद एफआईआर दर्ज कइलस. एह छापा डलला के घरी अवैध खनन आ स्मगलिंग में इस्तेमाल होखे वाली गाड़ी आ कोयला खोदाई वाला उपकरण जब्त भइल रहे.
एफआईआर में अनूप मांझी उर्फ लाला के अवैध खनन के मुख्य सरगना बतावल गइल रहे. अब देखीं- एकरा बाद सीबीआई 28 नवंबर के दिने बंगाल के 45 जगहन पर छापा मरलस. ओकरा बादे तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी के करीबी युवा तृणमूल कांग्रेस नेता विनय मिश्रा पर भी सीबीआई के छापा परल. विनय मिश्रा के सीबीआई चार हाली तलब कइलस, बाकिर ऊ सीबीआई के सामने आजु तक ले पेश नइखन भइल. सीबीआई विनय मिश्रा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट आ लुकआउट नोटिस जारी कइले बिया. आरोप ईहो बा कि अनूप मांझी उर्फ लाला के कुछ लेनदेन अभिषेक बनर्जी के मेहरारू रुजिरा नरूला बनर्जी के बैंक अकाउंट में भइल बा आ ई बैंक अकाउंट विदेश में बा. लोग चाहतारे कि एह मामला के असलियत सबका सामने आओ. मामला साफ होखो कि वास्तविक स्थिति का बा.

पिछला अतवार से सीबीआई, अभिषेक बनर्जी के पत्नी रुजिरा नरुला बनर्जी आ उनकरा साली मेनका गंभीर के गतिविधि पर पहिले से ढेर गौर करतिया. ई त केहू ना जान पाई कि सीबीआई अभिषेक के पत्नी आ साली से का पुछुए, बाकिर आरोप- प्रत्यारोप के क्रम जारी बा. अभिषेक कहतारे कि उनुका पर बदला के कार्रवाई कइल जाता बाकिर ऊ एकरा से ना डेरइहें आ भाजपा संगे उनुकर लड़ाई अउरी तेज होई. रुजिरा के फर्म “लीप्स एंड बाउंड्स मैनेजमेंट सर्विसेज” संदेह के घेरा में आ गइल बा आ आरोप बा कि ए कंपनी का साथे कुछ लेनदेन भइल बा. जांच के दौरान कुछ लोगन से पूछताछ भइल रहे, ओही में रुजिरा नरुला बनर्जी के नांव सामने अउवे.

सीबीआई के मन में रुजिरा के फर्म लीप्स एंड बाउंड्स मैनेजमेंट सर्विस पर संदेह उठल बा. उनकरा कंपनी के एकाउंट में कुछ लेनदेन के आशंका बा. सन 2010 में अभिषेक अपना महतारी लता बनर्जी के नांव से लीप्स एंड बाउंड्स नांव वाली एगो फर्म शुरू कइले. साल भर बादे 4 मई 2011 के एह फर्म के पंजीकरण हो गइल. पंजीकरण के साले भर के भीतर 19 अप्रैल 2012 के अभिषेक एगो दोसर कंपनी लीप्स एंड बाउंड्स प्राइवेट लिमिटेड शुरू कइले. एकरा पांच साल बाद 20 मार्च 2017 के दिने ऊ आपन तिसरकी कंपनी- लीप्स एंड बाउंड्स मैनेजमेंट सर्विसेज, शुरू क दिहले, जौना में रुजिरा बनर्जी आ अभिषेक के पिता अमित बनर्जी भागीदार बा लोग. ई त भइल अभिषेक बनर्जी के बिजनेस के बारे में जानकारी.

एकरा बाद आरोप के शुरुआत भइल. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) माने सीपीएम अगिले साले माने सन 2013 में आरोप लगवलस कि ममता बनर्जी के मदद से अभिषेक बनर्जी अपना फर्म के इस्तेमाल पोंजी योजना खातिर कर रहल बाड़े. सीपीएम आरोप लगवलस कि दुइए साल में अभिषेक बनर्जी के फर्म के कारोबार 300 करोड़ रुपया तक पहुंचि गइल बा. सीपीएम के एह आरोप लगवला के तुरंते बाद अभिषेक बनर्जी कंपनी के निदेशक पद से हटि गइले. त ई त साफ हो गइल कि अभिषेक बनर्जी आ उनुका परिवार के तीन गो कंपनी बाड़ी सन. त मोटामोटी रउरा सब के समुझ में आ गइल होखी कि मामला का बा. त विधानसभा चुनाव के घरी सीबीआई तृणमूल कांग्रेस के सुप्रीमो आ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजा अभिषेक बनर्जी के पत्नी आ साली से पूछताछ करतिया त जाहिर बा बंगाल के राजनीति में उफान आइल बा. आखिर अभिषेक बनर्जी के स्थान तृणमूल कांग्रेस में नंबर दू के बा. (लेखक विनय बिहारी सिंह वरिष्ठ स्तंभकार हैं.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज