Bhojpuri Special: कांग्रेस के गुटबाजी उजागर, अब्बास सिद्दीकी विवाद के मुद्दा

बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहिले कांग्रेस पार्टी में आर-पार के लड़ाई शुरू हो गइल बा. कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ट्विटर पर जब बंगाल में कांग्रेस के गठबंधन पर सवाल उठउवन त अधीर रंजन चौधरी उनकरा पर एगो बिस्फोटक बयान दिहुअन. अधीर रंजन चौधरी कहुअन कि हमरा मालूम बा कि आनंद शर्मा के बिग बॉस के ह आ ऊ केकरा के खुस करेके चाहतारे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 5, 2021, 12:27 PM IST
  • Share this:
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 खातिर कांग्रेस आ लेफ्ट गठबंधन के फॉर्मूला तय हो गइल. वाममोर्चा में शामिल पार्टी के 165 सीट पर चुनाव लड़िहें सन आ कांग्रेस 92 गो सीट पर लड़ी. बिसेस बात ई बा कि फुरफुरा शरीफ़ दरगाह के पीरज़ादा अब्बास सिद्दीकी के पार्टी इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के 37 गो सीट मिलि गइल बा. ई त भइल ताजा हाल. बंगाल में बहुमत खातिर 148 गो सीट चाहीं. फिलहाल वाममोर्चा गठबंधन खातिर ई दूर के कौड़ी लागता. ओने कांग्रेस के गुटबाजी खतम होखे के नांव नइखे लेत. जबकि कांग्रेस बंगाल में 92 सीटन पर चुनाव लड़े जा रहल बिया. कांग्रेस पार्टी में जौन रार शुरू भइल तौन अभी तक ले खतमें ना भइल.

बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहिले कांग्रेस पार्टी में आर-पार के लड़ाई शुरू हो गइल बा. कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ट्विटर पर जब बंगाल में कांग्रेस के गठबंधन पर सवाल उठउवन त अधीर रंजन चौधरी उनकरा पर एगो बिस्फोटक बयान दिहुअन. अधीर रंजन चौधरी कहुअन कि हमरा मालूम बा कि आनंद शर्मा के बिग बॉस के ह आ ऊ केकरा के खुस करेके चाहतारे. उन्होंने कहा कि आनंद शर्मा किसकी ओर से बात कर रहे हैं. एपर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा कहले बाड़न कि कांग्रेस गठबंधन एसे करेले ताकि ओकर अस्तित्व बांचल रहो. बंगाल के संदर्भ में संबित पात्रा के कहनाम बा कि आजकाल कांग्रेस आपन प्रासंगिकता बरकरार राखे खातिर गठबंधन पर निर्भर बिया. जौन कांग्रेस अपना के सेक्युलर कहेले, ऊहे कांग्रेस बंगाल में सेकुलर फ्रंट के साथे गठबंधन कर चुकल बिया. कांग्रेस के ई गठबंधन ना ह ई ठगबंधन ह. त साफे लउकता कि बंगाल के कांग्रेस आ दिल्ली में बइठल कांग्रेस के कुछ नेता लोगन के बीच अघोषित युद्ध चलता. एकर फायदा भारतीय जनता पार्टी उठावतिया त कौनो आश्चर्य के बात नइखे.

आनंद शर्मा अपना ट्वीट में आपत्ति कइले रहुअन कि पीरजादा अब्बास सिद्दीकी के पार्टी इंडियन सेकुलर फ्रंट के साथे गठबंधन कांग्रेस पार्टी के मूल विचारधारा के खिलाफ बा. गठबंधन के फैसला लेबे के पहिले पार्टी स्तर पर बिस्तार से चर्चा करेके चाहत रहल ह. आनंद शर्मा अपना ट्वीट में बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी के फैसला पर सीधे चोट करुअन. लिखुअन कि इंडियन सेक्युलर फ्रंट के अब्बास सिद्दीकी अपने बयान के कारन हरदम सुरखी में रहेले. अब्बास सिद्दीकी पर कट्टरता, महिला विरोधी बयानबाजी करेके आरोप लागत आइल बा. हालांकि, अब्बास सिद्दीकी बंगाल के फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा हउवन, एह दरगाह के असर करीब 100 गो विधानसभा पर पर सकेला.



हाले में पश्चिम बंगाल के मालदा जिला में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आ स्टार वक्ता योगी आदित्यनाथ के एगो बिशाल रैली भइल ह, जवना में योगी जी कहले बाड़े कि दू मई (चुनाव रिजल्ट का दिने) के बाद तृणमूल कांग्रेस के गुंडा अपना जान के भीख मंगिहे सन. गो तस्करी पर रोक लागी. बंगाल के बदहाली देखि के पूरा देश दुखी बा. जे राम द्रोही बा, ओकर पूरा देश आ बंगाल में कौनो जरूरत नइखे. चुनाव पर्यवेक्षक अनुमान लगावता लोग कि भाजपा के शीर्ष नेता अब धुंआधार जनसभा करी लोग. जनसभा के संख्या हाफ सेंचुरी तक जा सकेले.
आईं जानल जाउ कि तृणमूल कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर भाजपा का बारे में का कहतारे? भारतीय जनता पार्टी बंगाल के चुनाव में 200 सीट जीते के दावा कइले बिया. एकरा पर प्रशांत किशोर कहतारे कि भाजपा खाली माहौल बनावतिया आ हवा तेयार करतिया. उनकर कहनाम बा कि भाजपा नेता लोगन के सभा में 200 भा 300 लोगे जुटतारे. बहुत ढेर होता त 500 लोग जुटतारे. उनका हिसाब से तृणमूल कांग्रेसे सत्ता में आई. त अगर सभा में भीड़ के देख के बात कइल जाउ त वामफ्रंट- कांग्रेस के सभा में भारी भीड़ रहुए. लागत रहुए कि जन समुद्र उमड़ि गइल बा. एह हिसाब से वाममोर्चा कांग्रेस के सत्ता में आवे के चाहीं. भीड़ के देखि के वोट के प्रतिशत के अंदाज मिलल बहुत मुस्किल बा. बाकिर प्रशांत किशोर एगो अइसन बात कहि देले बाड़े कि ओसे कुछु लोगन के मन में शंका बइठि गइल बा. का कहले बाड़े?

कहले बाड़े कि अगर लॉ एंड ऑर्डर के फ्रंट पर कौनो बड़ दिक्कत नइखे होखत , जवना के इस्तेमाल भाजपा राष्ट्रवाद के हिसाब से क दी, तब तक ले चुनाव में कुछु बदलाव ना होई. सवाल पूछल गइल कि लॉ एंड आर्डर के कइसन दिक्कत? त प्रशांत किशोर कहले कि अगर पैरामिलिट्री फोर्स पर कौनो तरह के हमला होता, तब माहौल बदलि सकेला. कांग्रेस परिवार में जी-23 नेता लोग जेकर नेता गुलाम नबी आजाद बाड़न अलगे सुर में बोलता. ई “जी- 23” ओह नेता लोगन के ग्रुप ह जौन राहुल गांधी के नेतृत्व के चुनौती देता. प्रकारांतर से उनका के अयोग्य कहता. नेतृत्व के बदले के मांग करता. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद, गुलाम नबी आजाद के चिट्ठी लिखले बाड़े कि अरे भाई सोच, तोहरा के इतिहास में कौना रूप में याद राखल जाई.

कहात त बा कि सांगठनिक चुनाव होई. बाकिर समय पर होई. सच्चाई ई बा कि देश भर के कांग्रेस कार्यकर्ता कन्फ्यूज्ड बाड़े सन. कई गो राज्यन में चुनाव होखे जा रहल बा. ऐन एही मोका पर एक दूसरा के ललकरला से वोटर पर का असर परी, साफ महसूस कइल जा सकेला. त कांग्रेस के ई ताजा हाल बा. आ बंगाल में कांग्रेस के परंपरागत वोटर आपन जगह धीरे- धीरे बदलता. अगर ईहे ट्रेंड मतदान का दिन ले रहल त कांग्रेस के का हाल होई समय बताई. वोटर के बान्हि के राखे के बा त कांग्रेस आपन सिर फुटव्वल रोको. नात अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारे के बा, त के रोक सकेला. (लेखक विनय बिहारी सिंह वरिष्ठ पत्रकार हैं.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज