Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- लालू के ललटेन बुतावे में हाथ के थपकी

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- लालू के ललटेन बुतावे में हाथ के थपकी

.

.

कांग्रेस एह घरी खूबे जोशियाइल बिया. बिहार में कन्हैया डूबत नाव पार लगइहें भा ना, बाकिर हाथ छाप पाटी में जान जरूर फूंक दीहें. हाथ छाप के एगो सीट ना देके ललटेन छाप पाटी अपना गोड़ में कुल्हाड़ी मार लेले बिया.

पांव लागीं मलिकार! पोलटिक्स अब गजबे खेल हो गइल बा मलिकार. पोलटिक्स में जेतना लोग बा, ओकरा नितरी में तनिको लाज हाया नयिखे. के कब केकरा संगे सट जायी भा कब हट जाई, कहल ना जा सकेला. केकरा के सराहेब आ केकरा के धूसेब. सब एके कोख के जामल बुझात बाड़े सन. अब सुनाता कि आपन पाटी जाप छोड़ के हाथ पाटी के संगे जाए खातिर पप्पू जादो खुरियाइल बाड़े. दू दिन पहिले ऊ दिल्ली में हाथ छाप पाटी के कवनो बड़का नेता आरपीएन सिंह से मिलल रहले हां. जब से ऊ जेल से निकल बाड़े, तबे से हाथ छाप पाटी के नजर उनका पर गड़ल बा. उनकर जनाना रंजीता त पहिलहीं से हाथ छाप पाटी के संगे बाड़ी.

पांडे बाबा आज बतावत रहुवीं कि बिहार में भलहीं असेंबली के दू सीट पर उपचुनाव होता, बाकिर एकर माने बड़हन बा. एगो त ई बतावत रहुवीं कि तीर छाप आ फूल छाप के जवन गंठजोरउल बा, ऊ ईमानदारी से संगे काम करता कि ना, एकर असलियत सामने आ जाई. एह से कि जतना जोर तीर छाप लगवले बा, ओतना बेचैनी फूल छाप पाटी में नयिखे लउकत. दूनू सीट पर तीर छाप के कंडीडेट लड़ता लो.

दोसरका सबसे बड़ बात कि एगो सीट का हिस्सा खातिर हाथ छाप आ ललटेन छाप के इयरगही टूट गयिल बा. हाथ छाप पाटी दूनू सीट पर आपन कंडीडेट उतार दिहले बिया. एतने ले ना, ऊ इहो धमकवले बिया कि ओकर उनइस एमएलए बिहार में बाड़े. हाथ छाप के साथ छोड़ल ललटेन छाप के महंग पर जाई. तेजस्वी के मुखमंत्री बने के सपना सपने रह जाई. हाथ छाप पाटी त ललटेन छाप के इहां ले हड़का दिहले बिया कि लोकसभा में ऊ बिहार के चालीस सीट पर लड़ी. ललटेन छाप पाटी के मालूम बा कि हाथ छाप से लड़ला के साफ माने ई भइल कि मुसलमान वोट से हाथ धोए क पर जा सकेला.

पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि बिहार में हाथ छाप पाटी त खतम हो गइल रहल हिया. ओकरा अपना बूते असेंबली के दू चुनाव में कबो चार त कबो नौ सीट आइल रहे. जब से ई ललटेन का संगे भइल त एकर सीट उनइस ले चहूंप गइल. अब दूनू में खटर पटर होई त हाथ छाप के लगे गंवावे के त भले कुछ नइखे, बाकिर ललटेन बुतावे में ओकर हाथ जरूर रही. एह से कि मुसलमान वोट दूनू के आधार बा. एकर बंटवारा भइल त ना ई उपजिहें आ ना ऊ. एगो बात पांड़े बाबा पकिया कहत रहुवीं कि कमलिस पाटी छोड़ हाथ के संगे कन्हैया क आइल हाथ छाप पाटी में जान जरूर फूंक दिहले बा. कन्हैया क संगे कवनो जिगनेस आ हारदिक पटेल बिहार में डेरा जमवले बा लोग. पप्पू जादो जदि हाथ के साथ दे दिहले त ललटेन के पार पावल आसान ना होई. एही बीचे हां-ना करत लालू जादो भी चहूंप गइल बाड़न. एने नीतीश जी तीर दागे के तेयारी में पहिलहीं से रेस बाड़े.

हाथ के एह घरी जागल बा जोश

पांड़े बाबा बतावत रहुवीं मलिकार कि हाथ छाप पाटी एह घरी खूब जोश में बिया. जब से सोनिया गान्ही कहले बाड़ी कि पाटी के फूल टाइम परसीडेंट उहे बाड़ी आ नया परसीडेंट आगे साल चुनल जाई, तब से हाथ छाप पाटी ताव में बिया. उनकर बेटी प्रियंका त यूपी में एह घरी हड़कंप मचवले बाड़ी. उहवां एह घरी उनकर जतरा चल रहल बा. ऊ ‘सात गो प्रतिज्ञा’ लोग के बतावत घूम रहल बाड़ी. कहत बाड़ी कि हाथ छाप के सरकार बनल त बिजली बिल हाफ, कोरोना काल के बाकी-बकाया साफ, किसान के कर्जा माफ़, लयिकिन के स्कूटी फ्री.

केहू जीतो हारो मलिकार, पांड़े बाबा कवनो गोसाईं जी के कवित्त सुनावत ठीके कहत रहुवीं- कोऊ न्रिप होई हमें का हानी, चेरि छाड़ ना होखबि रानी. हमनी क हाल त उहे रहे के बा. आपन धेयान राखेब.
राउर, मलिकाइन
(ओमप्रकाश अश्क वरिष्ठ पत्रकार हैं, आलेख में व्यक्त विचार उनके निजी हैं)

Tags: Bhojpuri Articles, Bhojpuri News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर