Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- बिहार में चौतरफा घेरा गइल बिया ललटेन छाप पाटी आरजेडी

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- बिहार में चौतरफा घेरा गइल बिया ललटेन छाप पाटी आरजेडी

.

.

बिहार में ललटेन छाप पाटी आरजेडी के दिन एह घरी ठीक नइखे चलत.उपचुनाव में टिकट खातिर हाथ छाप से संघत टूटल, तेज प्रताप के हुरदुंग से लालू जादो के घर में फूट पर गइल, तीर आ फूल छाप छाप के संगे पप्पू जादो ललटेन पर टेढ़े बोलत बाड़े, ललटेन के एम-वाई समीकरण में सलीम परवेज सेन्ह लगावे वाला बाड़े आ सबसे बड़ बात ई कि लालू जादो अबे बिहार ना अइहें.

अधिक पढ़ें ...

पांव लागी मलिकार.एह घरी बिहार में ललटेन छाप पाटी आरजेडी के नीमन नइखे चलत.रोज कवनो ना कवनो बाउर बात सुने के मिलता.रउरा का जाने ई कहाउत सुनले बानी कि ना मलिकार, बाकिर हमार आजी कबो कबो ई कहाउत कहिहें- हथिया हथिया शोर भइल, गदहो ना आइल रे.एह घरी बिहार में असेमली के दू सीट पर उपचुनाव होता त बड़ा हल्ला रहल हा कि लालू जादो पटना अइहें आ अपना पाटी के कंडिडेट खातिर परचार करिहें.परचार करे वाला के जवन फिरिस्त ललटेन छाप पाटी बनवले-बतवले रहल हिया, ओइमें उनकर नांवों सबसे ऊपर रहल हा.इहां ले लोग कहे लागल रहल हा कि एही महीना में 20 तारीख के लालू जी पटना अइहें.उनका स्वागत खातिर तैयारियो चलत रहल हा.अब सुनाता कि ऊ अबे आवे वाला नइखन.ई बात अउर केहू कहित त बिसवास ना होइत, बाकिर उनकर जनाना राबड़ी देवी ई बात कहले बाड़ी त मानहीं के परी.

लालू के बेल भइल तबे से रह रह के ई हल्ला होत रहेला कि फलनवा महीना में ऊ अइहें.फलनवां टाइम पर अइहें.ललटेन छाप के लोग एतना अगरा जाला कि बुझाला आवते ऊ नीतीश कुमार के हटा के कुरसी पर बइठ जइहें भा अपना बेटा के बइठा दीहें.करोना आ कोट-कचहरी के डर से ऊ दिल्ली में बेटी के घरे रहतारे.अबकी हल्ला रहल हा कि उपचुनाव में ऊ पटना अइहें आ अपना पाटी के परचार करिहें.लोग के अगरइला पर राबड़ी देवी ई कह के पानी फेर दिहली कि लालू जी अबे पटना नइखन आवे वाला.उनकर इलाज चलत बा.पांड़े बाबा आज ई खबर सुनावत कहुवीं कि लालू जी जानतारे कि उनका जामिन बेमारी के वजह से मिलल बा.बेसी कूद-फान करिहें त उनकर विरोधी लोग जामिन तुरवा के फेर लालघर भेजवा सकेला.एही डरे ऊ पाटी के परचार से कगरिया गइले।

ललटेन के खिलाफ पप्पू जादो बजा रहल बाड़े भोंपू

पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि कवनो जाप वाला पप्पू जादो बाड़े.कबो ललटेन छाप के संगहूं ऊ रहल बाड़े.अबे ललटेन छाप आ लालू जादो के बेटा के खिलाफ खूब भोंपू बजा रहल बाड़े.उपचुनाव वाला सीट पर हाथ छाप वाली पाटी कांगरेस के हिस्सा ललटेन छाप ना दिहलस त पप्पू जादो का खींस बर गइल.ऊ कह दिहले कि हाथ छाप के 19 गो एमएलए के परवाह तेजस्वी जादो के नइखे त ऊ मुखमंतरी के सपना देखते रह जइहें.उनकरा कहला के मतलब इहे रहे कि कांगरेस के सीट देबे के चाहत रहल हा.एकर फायदा पप्पू जादो के त मिले के रहे ना, बाकिर कांगरेस में उनकर जनाना बाड़ी.कांगरेस उनका के अपना कंडिडेट के परचार करेवाला लोगन के फिरिस्त में ना रखले रहल हिया.अब सुनाता कि उनकर जनाना एगो सीट कुसेसर स्थान में सुपरवाइजर बनावल गइल बाड़ी.एइमें सबसे मजेदार बात पांड़े बाबा ई बतावत रहुवीं कि ओही सीट पर उनकर मरद पप्पू जादो अपना पाटी जाप खातिर परचार करिहें आ उनकर जनाना हाथ छाप खातिर सुपरवाइजरी करिहें.दुनू हाल में ई लोग ललटेन छाप के जादो वोट के तुरी, एतना त पक्का बा।

बउरहवा बेटा तेज प्रताप के मना लिहली माई राबड़ी

पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि टिहुकल बउरहवा बड़का बेटा तेज प्रताप के मनावे खातिर उनकर माई राबड़ी देवी दिल्ली से भागल पटना आइल रहली हा.सुने में आवता कि तेज प्रताप अब मान गइल बाड़े आ अपना छोटकू भाई के मुखमंतरी बने के अशीरवाद दिहले बाड़े.ऊ इहो कहले बाड़े कि उपचुनाव में दोसरा खातिर परचार ना करिहें.ऊ ललटेन छाप में रहले, अबहियो बाड़े आ आगहूं रहिहें.ललटेन छाप उनका बाप के बनावल पाटी ह.केतने लोग आइल आ गइल.उनका बेसी खींस अपना पाटी के तीन जने नेता पर बा.
जगदानन सिंह जब ई कहले कि- हू इज तेज प्रताप त तेज प्रताप के जवाब रहे- गो एंड आस्क लालू, हू इज तेज प्रताप.एही तरे जब शिवानन तिवारी ई कहले कि तेज प्रताप त पाटी में हइए नइखन त उनहूं के कड़ेरे जवाब दिहले रहले तेज प्रताप.अब पाटी के एगो बड़ नेता रामा सिंह कहले बाड़े कि तेज प्रताप रहस भा जास, कवनो फरक नइखे परे वाला.एही पर तेज प्रताप के जवाब आइल बा कि केतने लोग पाटी में आइल आ गइल.पाटी उनका बाप के बनावल ह आ ऊ ओही पाटी में बाड़े.लोग आवत-जात रही.अबे त माई के मनवला पर ऊ मान गइले बाड़े मलिकार, बाकिर बउराह आदमी कब का कही आ कब का करी, कहल मुसकिल होला.पांड़े बाबा बंगला के एगो कहाउत कहत रहुवीं- पागल की ना बोले, छागल की ना खाय.एकर माने पहिले त हमरा ना बुझउवे, बाकिर ओकर अर्थायन उहां के करुवीं त समझ में अउवे.एकर माने होला कि पागल का ना बोलेला आ बकरी का ना खाले।

ललटेन बुतावे खातिर अब तीर चलइहें सलीम परवेज

पांड़े बाबा एगो अउरी खबर सुनावत रहुवीं.कबो ललटेन छाप पाटी में बिहार के उपाध्यक्ष पद ठुकरा के इस्तीफा देबे वाला सलीम परवेज अब तीर चलइहें.असेमली के उपचुनाव के ठीक पहिले सलीम के तीर छाप पाटी में जाये से ललटेन पाटी के बड़का झटका लाग सकेला.एह से ललटेन का अपना एम-वाई (मुसलमान-यादव) पर बेसी भरोसा रहेला.सलीम साहेब के बारे में पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि सीवान के सांसद रहल शहाबुद्दीन के मुअला के बाद पाटी उनका परिवार के संगे जवन बेवहार कइलस, ओही से ऊ खिंसियाइल रहले हां.शहाबुद्दीन से उनकरा बेसी पटत रहल हा.ऊ त ललटेन छाप से पहिलहीं इस्तीफा दे दिहले रहले, बाकिर अब सुने में आवता कि तीर छाप पाटी में जइहें.शहाबुद्दीन के परिवार के पटावे खातिर लालू जादो के दूनू लाल लोग अलगे-अलगे उनका बेटा के बेयाह में गइल रहल हा.बुझाता ललटेन छाप के दुरदिन आ गइल बा मलिकार.पहिले हाथ छाप से संघत छूटल, फेर तेज प्रताप कोहनइले-खिंसिअइले आ अब पाटी के पुरान आदमी सलीम साहेब साथ छोड़त बाड़े.लालू जादो के आइल टर गइल आ तेज प्रताप के नौटंकी चलते रहता.

गांव-जवार के हाल ठीक बा मलिकार.डीह बाबा के किरपा से घरहूं हमनी के ठीके बानी सन.एगो नया खबर ई बा मलिकार कि बरहनी के बुआ के बड़का बेटवा इंजीयरी के पढ़ाई खातिर चुना गइल बा.बुआ बतावत रहुवी कि देस भर में ओकर नांव चउथा नंबर पर आइल बा.बुआ बरम बाबा के बतासा चढ़ावे खातिर काल्ह आइल रहनी.दहारी कीहां से रोज दू किलो दूध मंगावे के परता मलिकार.रोज के अस्सी रुपिया लागत बा.मझिला आ छोटका के दूध बिना रोटी घोंटइबे ना करेला.बाकी अगिला पाती में।
राउर, मलिकाइन
(ओमप्रकाश अश्क वरिष्ठ पत्रकार हैं.आलेख में व्यक्त विचार उनके निजी हैं)

Tags: Article in Bhojpuri, Bhojpuri News, Bihar News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर