Home /News /bhojpuri-news /

malikayin ke pati pakistan violent protest history read full details bhojpuri omprakash ashk

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- पाकिस्तान में रगरा-झगरा के पुरान इतिहास बा, फेर शुरू भइल बा बिदरोह

.

.

अमन-चैन आ तरक्की खातिर हिन्दुस्तान से फरका होके पाकिस्तान त बन गइल, बाकिर जनम से अबले ओइजा तरक्की के कहो, अमन-चैन ले सपने रह गइल. शुरू से अबे ले कई गो पाकिस्तानी परधान मंतरी मारल-मुआवल गइले त कई जने के सजाय भइल. रूस-उकरेन के लड़ाई से त दुनिया असहीं तबाह बा, एने पाकिस्तान में इमरान खान आ सरकार में ओइजा बड़हन बखेड़ा शुरू भइल बा.

अधिक पढ़ें ...

पांव लागीं मलिकार ! दुनिया में अबे कहीं चैन नइखे. सिरलंका (श्रीलंका) के कंगाली त जग जाहिर हो गइल बा, अब सुनाता कि पाकिस्तान ओही राह पर बा. ओइजा के परधान मंतरी शहबाज शरीफ दोसरा देस से मदद खातिर छिछियाइल फिरतारे. एने गद्दी से हटवला के बाद इमरान खान के खीस अबे ले नइखे ओराइल. ऊ एह घरी खूबे बिरनाइल बाड़े. पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि अमन-चैन आ तरक्की खातिर हिन्दुस्तान से फरका होके पाकिस्तान त बन गइल, बाकिर जनम से अबले ओइजा तरक्की के कहो, अमन-चैन ले सपना हो गइल. कई गो पाकिस्तानी परधान मंतरी त मारल-मुआवल गइले आ कई जने के सजाय भइल. रूस-उकरेन के लड़ाई से त दुनिया असहीं तबाह बा, एने पाकिस्तान में इमरान खान आ सरकार में रार से ओइजा के हाल अउरी खराब भइल जाता. इमरान खांव के लोग चुनाव करावे खातिर सड़की पर उतर गइल बा. सरकारी संपत के तूरल-फूंकल जाता. हालत एतना खराब बा कि सरकार का सेना उतारे के पर गइल बा.

पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि पाकिस्तान बने के पहिले जवनी गंतिया मार-काट मचल रहे आ लोग के भागा-दौड़ी लागल, ओकर सराप अबे ले पाकिस्तान भोग रहल बा. कहियो चैन से ना रहल. अब ले जेतना परधानमंतरी ओइजा बनले, ओइमें दुइए-चार आदमी बांचल. केहू के फांसी भइल त केहू मार दिहल गइल. पाकिस्तान के एगो परधान मंतरी रहले जुल्फीकार अली भुट्टो. उनका के गद्दी से हटावल गइल रहे. बाद में 4 अपरइल 1979 के उनका के फांसी पर चढ़ा दिहल गइल. एह घरी जवन हालत पाकिस्तान के बा, ओइसहीं ओहू बेरा रहे. ओह घरी जियाउल हक पाकिस्तानी सेना के हेड रहले. उनका के सेना के हेड जुल्फीकारे बनवले रहले. गद्दी के मोह अइसने होला. कुरसी खातिर आपन आदमी दुसमन बन जाला. जुल्फीकार अली के नाती हउवन बिलावल भुट्टो, जे अबे पाकिस्तान में मंतरी बनल बाड़े.

जुल्फीकार अली भुट्टो के बेटी रहली बेनजीर भुट्टो. उहो पाकिस्तान के परधान मंतरी बनली. उनकरो मडर हो गइल रहे. आज ले एह बात के पता ना चलल कि उनका के मारल के आ काहें मारल. उनकरे बेटा हउवन बिलावल. बेनजीर भुट्टो कवनो मुसलमानी देस के पहिलका मेहरारू परधानमंतरी बनल रहली. ओह बेरा परवेज मुसर्रफ ओइजा के परसिडेंट रहले. लोग कहेला कि बेनजीर के मरवावे में उनहीं के हाथ रहे. परसिडेंट बने के पहिले उहो पाकिस्तानी सेना के हेड़ रहले. बाद में परवेजो के फांसी के सजाय सुनावल गइल, बाकिर ऊ पाकिस्तान से भाग के दुबई में आपन ठेकाना बना लिहले. एह से अबे ले फांसी से बांचल बाड़े. अब त ऊ ढेरे बूढ़ हो गइल बाड़े. एक बेर खबर आइल रहे कि ऊ बेमारो रहे लागल बाड़े. एही के कहल जाला मलिकार, जइसन करबs ओइसन पइबs, ई दस्तूर पुराना बा.

पांड़े बाबा कहत रहुवीं कि पाकिस्तान में मार-काट, उठा-पटक के पुरान इतिहास रहल बा. एक त अबले 22 गो परधान मंतरी ओइजा भइले, बाकिर केहू पांच साल पूरा ना क पावल. कबो सेना के हाथ में पाकिस्तान जाला त कबो चुनाव से सरकार बने ले. पाकिस्तान के पहिलका परधान मंतरी रहले लियाकत अली खान. 14 अगस्त 1947 के पाकिस्तान बनते ऊ परधान मंतरी के गद्दी संभरले. चार साल बाद 16 अक्तूबर 1951 के भरल सभा में खूब गोली चलल आ भासन खातिर खाड़ लियाकत अली भूंजा अइसन गोली से भुंजा गइले. इमरान के पहिले नवाज शरीफ परधान मंतरी रहले. उनहूं पर पाकिस्तान में मोकदमा बा. डरे ऊ विलायत में लुकाइल बाड़े. अब त उनकर भाइये परधान मंतरी बाड़े. सुने में आवता कि उनका पर लादल सगरी मोकदमा उठावे के शहबाज शरीफ के सरकार तइयारी में लागल बिया.

ई कुल्ह सुन के मलिकार, पाकिस्तान के रोख हमरा बाउरे बुझाता. सेना आ सरकार एक ओर बा आ इमरान खांव के संगे उनका पाटी के लोग दुसरका ओर. जवनी गंतिया भांगचूर ओइजा शुरू भइल बा, ओइमें पहिले जइसन होत आइल बा, ओइसन कवनो अनहोनी हो जाव त अचरज के बात ना कहाई. घरे में बड़हन झगरा लागल बा. ई अइसहीं ओराये वाला नइखे बुझात. घरकच में कवनो देस केहू के खुल के मददो करे भा बचावे ना आई. कइल वाला करनइल साहेब के त रउरा जानते होखेब मलिकार. उहों का आज इहे बात कहत रहुवीं. उहां के त मलेटरी अइसन तनी अउरी कड़खाह बोलत रहुवीं. कहत रहुवीं कि पाकिस्तान के जनमे मार-काट से भइल बा. अबहीं ले उहे चल रहल बा. आगहूं पाकिस्तान में अइसहीं होत रही. ताव में आके उहां के मलेटरी बोली में कहे लगुवीं- अपना मुलुक को चाहिए कि अइसने मोका पर चढ़ाई क देव. हमनी के अबे ले ढेरे तबाह कइले बा पाकिस्तान. एक चढ़ाई में त सगरी लफड़े ओरा जायेगा.

पांड़े बाबा उहां के रोकत कहुवीं कि हमला कइल आसान नइखे. उकरेन पर रूस हमला कइलस त ओकर नोकसान सगरी दुनिया के उठावे के परता. दुनिया दू खेमा में बंटा गइल बा. खुदे पाकिस्तान भिखमंगा अइसन कटोरा लेके देसे-देसे छिछियात फिरता. हमनियो के जेतना महंगाई अबे झेलत बानी सन, ऊ रूस-उकरेन के लड़ाइये के वजहा से. पांड़े बाबा अगमजानी हईं मलिकार. जब लड़ाई लागल, तबे उहां का कहले रहनी कि रूस-उकरेन के लड़ाई में सगरी दुनिया पिसाई. अब साफ लउके लागल बा. कवनो देस गहूं खातिर चिरौरी करता त केतने देस डीजल-पेटरउल के मंगाई से परेसान बाड़े सन. लड़ाई कवनो नीमन चीज ना ह.

अब त बुझाता मलिकार कि अपने देसवा ढेर चैन से बा. सिरलंका के हाल लउकते बा. नेता लोग ओइजा मराता, ओह लोगन के घर फूंकल जाता, खाये-पीये के सामान खातिर लोग में तराही-तराही मचल बा. देसवे कंगाल हो गइल बा, त इहे नू होई. अमिरका अइसन धनिक देस में जब महंगाई तबाही मचवले बिया त दोसरा के का कहल जा सकेला. अपना इहां त फीरी में अबे ले रासन सरकार दे रहल बिया. एतना बड़ आबादी के बादो केहू खइला बिना त नइखू नू मुअत. अनाज के कमी अबे ले त नइखे नू. जाये दीं, जे जइसन करी, ओइसन फल पाई.

बादर घेरले बा. आंगन में गहूं धो के पसरले बानी. तनी भरक जाई त उठा के राख देब. कब बरिसे लागी, कहल ना जा सकेला. पांच-सात दिन से मउसम के इहे हाल बा. कबो कड़कड़ा के घाम होता त कबो बादर घेर लेता. आन्हीं-पानी बीच-बीच में आवत रहता. एइजा सब केहू नीक-निरोग बा. आपन धेयान राखेब.

राउर, मलिकाइन

(ओमप्रकाश अश्क स्वतंत्र पत्रकार हैं. आलेख में व्यक्त विचार उनके निजी हैं.)

Tags: Article in Bhojpuri, Bhojpuri, Pakistan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर