होम /न्यूज /bhojpuri-news /

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- बाप रे, दोसरा देस में अपनो देस से बेसी महंगाई!

Bhojpuri में पढ़ें मलिकाइन के पाती- बाप रे, दोसरा देस में अपनो देस से बेसी महंगाई!

.

.

vदोसरा देस से करजा काढ़ के फुटानी करे के जवन लूर-लछन पाकिस्तान के रहल हा, अब सगरी फुटानी हवा हो गइल बा. महंगाई से रोटी पर ओइजा आफत बा. बंगलादेस त एतना तबाह बा कि पेटरउल-डीजल के दाम ओकरा सैकड़ा पचास आ चालीस रुपया एके बेर में बढ़ावे के पर गइल बा.

अधिक पढ़ें ...

पांव लागीं मालिकार ! पांड़े बाबा आज किसिम किसिम के खबर सुनावत रहनी हां. एगो खबर सुनावत रहुवीं कि महंगाई खाली अपने मुलुक में नइखे. छोट-बड़ सगरी मुलुक महंगाई से तबाह बाड़ी सन. केतने देस त अइसन बाड़े सन, जहवां मुंहमांगा पइसा दिहला के बादो सामान नइखे मिलत. उहां के पाकिस्तान के नांव धरत रहुवीं. बतावत रहुवीं कि पाकिस्तान जेतना फंउकेला, ओतना ओकर असल औकात बा ना. दोसरा देस से करजा काढ़ के फुटानी करे के जवन लूर-लछन पाकिस्तान के रहल हा, अब सगरी फुटानी हवा हो गइल बा. महंगाई से रोटी पर आफत बा. बंगलादेस त एतना तबाह बा कि पेटरउल-डीजल के दाम ओकरा सैकड़ा पचास आ चालीस रुपया एके बेर में बढ़ावे के पर गइल बा. सिरलंका के तबाही त केहू से छिपले नइखे. पड़ोसिया नैपाल के हाल भी अइसने बा. पाकिस्तान आ नैपाल के जरी त दोसरा देस से कवनो सामान मंगावे भर के पइसा नइखे रह गइल. सिरलंका के हाल त किताब के पन्ना नियर फहराता. ओह हिसाब से देखल जाव त आपन मुलुक अबे ले ओन्हनी से नीक हालत में बा. महंगाई एहूजा तबाह कइले बा, बाकिर अबहीं ले लोग के सहा जाता. आगे का होई, केहू नइखे जानत.

अपना मुलुक में खाये के दिक्कत ना होई
पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि खाये-पीये के ममिला में आपन देस अउरी देसन से ढेरे नीक बा. चाउर, गेहूं आ दलहन-तरकारी इफरात होता अपना इहां. अपना इहां से चाउर-गेहूं जवन बाहर जात रहल हा, ओकरा के सरकार रोक दिहले बिया. एह से घबरइला के कवनो दरकार नइखे. हमरा अब बुझाता मलिकार कि करोनवा जब आइल रहे त लकडाउन लागल रहे. ओह बेरा सभे जानल कि कहीं अइला-गइला पर होखे वाला खरच कइसे बांच सकेला. हर दिन कपड़ा बदलला भा धोअला के जरूरते ना परे. एगो पहिरीं आ एगो धोईं. जूता-मोजा परले-परले झुरा-टटा गइल. दाल-भात आ चोखा से काम चल जाव. तीन किसिम के तरकारी ना मिले आ ना ओकर जरूरत बुझाव. भर दिन एगो चउकी पर सुतल रहे आदमी भा उठे त अपने घरे-दुआरे घूमे. करोना सिखा गइल कि कमो में काम चल सकेला. करोना ओराते लोग के गेयानो हेरा गइल. सुने में आवता कि एक दिन आधा घंटा में एक लाख अस्सी हजार कवनो सुमो गाड़ी बिकाइल. लोग खरच अपने से बढ़ावता. एह से ई मान लेबे के परी कि अबे ले महंगाई अपना इहां वोइसन नइखे, जइसन दोसरा देसन में बा.

मक्का मदीना में मिलल बा मंदिर के चिन्हासी
पांड़े बाबा एगो अउरी खबर सुनावत रहुवीं कि खांटी मुसलमान लोग के देस सउदी अरब में खोदाई भइल हा त कवनो पुरान मंदिर मिलल बा. हम त ई सुन के चिहा गउवीं मलिकार. हिन्दुस्तान के मानल जाला कि ई हिन्दू लोग के देस ह, बाकिर समुंदर पार अरब में मने मक्का मदीना में मंदिर मिलल त एकर माने इहे नू भइल कि ओहूजा कबो हिन्दू लोग के बास रहल होई. पांड़े बाबा कहत रहुवीं कि ई खबर अरब के खबर देबे वाली कवनो एजेंसी दिहले बिया. हमरा बुझाता मलिकार कि हिन्दू लोग पहिले ओइजा रहल होई. तबे नू मंदिर मिलल बा. मंदिर के अगरी-कगरी नगर के बारे में भी पता चलल बा. हो सकेला, ओह नगर में हिन्दू लोग रहत होखे आ बाद में हमला क के ओह लोग के खतम क दिहल गइल होई. अइसहूं मानल जाला कि सनातन धरम के लोग एह धरती पर सबसे पुरान बसिंदा ह.

घर फूटे, गंवार लूटे मने नीतीश-रामचनर के लड़ाई
एगो खबर सुन के त हमरा अपना माई के मौसी के कहल कहाउत इयाद पर गउवे- घर फूटे, गंवार लूटे. नीतीशे कुमार के नू संगे रहले हां रामचंदर परसाद सिंह. अब त सुनाता कि दुनो जने में सांढ़-भइंसा अइसन दुसमनी हो गइल बा. नीतीश जी के पाटी के लोग रामचंदर के सगरी संपत के बेवरा परोस दिहले बाटे. कहल जाता कि तेरह साल में रामचनर सिंह एतना जमीन कीन लिहले, जेतना के उनकर बेंवत ना रहे. एकरा बारे में जब पूछापूछी भइल हा त रामचनर सिंह पाटी छोड़ के भाग परइले हां. पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि नीतीश कुमार के दहिना हाथ रहले हां रामचनर. नीतीशे कुमार के जिला के रहनीहारो हउवन. इहो सुने में आवता कि अब ऊ आपन अलगे पाटी बनइहें आ नीतीश कुमार के तबाह करिहें. पिछलका वोट में रामविलास पासवान के बेटा चिराग पासवान नीतीश कुमार के बरबाद कइले आ अब त नीतीश कुमार के तबाह करे खातिर रामचनर परकट हो गइल बाड़े. पांडे बाबा कहत रहुवीं कि पाटी खातिर जवन चंदा मिलत रहल हा, ओकरा के रामचनर बाबू गपच के जनाना आ बेटी के नावें जमीन कीन लिहले, अइसन तीर छाप पाटी के लोग कहता.

बंगाल में ईडी ममता के मुंह पर ताला लगा दिहलस
बंगाल के खबर सुन के त मन खूबे खुस भउवे. ओइजा जवन एक जने नेता धराइल बाड़े, अब उनका के जेल में ढुका दिहल बा. बेचारे के भुइयां दू रात सुते के पर गइल हा त गोड़ फूल गइल बा. चिरौरी कइला पर उनका के चौकी त जेल में मिल गइल बा, बाकिर ऊ बेमारी के नांव पर असपताल जाये के फिराक में बाड़े. उनकर आ उनका इयारिन के घर खोज-खोज के ईडी छापा मारता. अबे सुनाता कि इयारिन के जरी से एकतीस गो बीमा के साटिफिटिक मिलल बा, जवना में कवनो के किस्त पचास हजार रुपया से कम नइखे. इयारिने के घर से नू पचास लाख रुपिया नगदी आ सोना-चानी मिलल रहे मलिकार. पांड़े बाबा बतावत रहुवीं कि घर-बाडी, गाड़ी, दोकान-कंपनी ओह दुनू जने के नांव पर एतना बाड़े सन कि रोज कवनो ना कवनो चीज के जानकारी मिलता. ममता उनका के अपना पाटी से निकाल दिहले बाड़ी आ एह घरी एकदमे चुपा गइल बाड़ी. पहिले त बात-बात में मोदी जी के खिलाफत करिहें आ बोलिहें, बाकिर अब उनकर कंठ रुन्हा गइल बा. तीन दिन दिल्ली में रहली हा, बाकिर ना खबर वाला लोग से भेंट कइली आ ना विरोधी पाटी के नेता लोग से. इहे ममता हई मलिकार, जे मोदी जी के हटावे खातिर विरोधी लोग के एक करे में लागल रहली हा. जब उनका पाटी के नेता के पोल पट्टी ईडी खोल दिहलस हा त मुंह से बकारे नइखे निकलत.

हमरा बुझाता मलिकार कि अगिला भोट भरस्टाचारे पर जनि हो जाव. देस भर में ईडी जवनी गंतिया हड़ोरे में लागल बा, ऊ अगर एही तरे आपन काम करत गइल आ लोग धरात गइल त मान लीं कि पकिया भरस्टाचार के नांव पर भोट परी. मोदी जी ठीके कहले रहले- ना खायेब आ ना खाये देब. कहला के बाद चुपा गइले मोदी जी त लोग का बुझाइल कि असहीं कहले होइहें. अब बुझाये लागल बा कि ऊ जवन कहले रहले, अब करे लागल बाड़े. एक राज के बात रहित त मानल जाइत कि दुसमनी से ई होता. भरस्टाचार त सगरी राज में बा. महरास्ट, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, बंगाल, बिहार आ झारखंड त भरस्टाचार में नांवें क दिहले बा. दिल्हाली में मंतरी, महारास्ट में एमपी, बंगाल में मंतरी, झारखंड में एमएलए, वकील, अफसर आ नेता-मंतरी के दलाल-सलहिया सभे लूट के घर भरे में लागल रहल हा. सभे धराइल बा. अबे भरस्टाचार के लर-जर कहवां ले पसरल बा, ईडी एकरे खोज में लागल बा.
राउर, मलिकाइन
(ओमप्रकाश अश्क स्वतंत्र पत्रकार हैं. आलेख में व्यक्त विचार उनके निजी हैं.)

Tags: Article in Bhojpuri, Bhojpuri

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर