Bhojpuri Spl: बंगाल में जागल ममता बनर्जी के महिला प्रेम, 50 सीट पर दिहली टिकट; पढ़ी...

ममता के नंदीग्राम के इलाका चुने के पीछे कारण ई बा कि तृणमूल छोड़ के बीजेपी में शामिल होखेवाला शुभेंदु अधिकारी के ऊ इलाका ह.

ममता के नंदीग्राम के इलाका चुने के पीछे कारण ई बा कि तृणमूल छोड़ के बीजेपी में शामिल होखेवाला शुभेंदु अधिकारी के ऊ इलाका ह.

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) 50 सीट पर महिला लोग के चुनाव मैदान में उतरले बाड़ी. कुल 294 सीट में 3 सीट अपना सहयोगी दल गोरखा जन मुक्ति मोर्चा खातिर छोड़ के बाकी सीट पर अपना दल के सभ उम्मीदवार के नाम घोषित कर देली.

  • Share this:
ओमप्रकाश अश्क

बंगाल विधानसभा चुनाव खातिर तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के महिला मोह देख के बाकी दल के माथ जरूर खउंजिया गइल होई. ममता बनर्जी 50 गो महिला उम्मीद अपना पार्टी तृणमूल के उतरले बाड़ी. कुल 294 सीट में 3 सीट अपना सहयोगी दल गोरखा जन मुक्ति मोरचा खातिर छोड़ के बाकी सीट पर जवन उम्मीदवार ममता आज घोषित कइली हा, ओइमें महिला आ जवान लोग के चानी बा. एकरा संगहीं ममता बनर्जी पहिला बेर बंगाली समाज के संगे हिन्दीभाषी समाज के बेसी खेयाल रखले बाड़ी. क्रिकेटर मनोज तिवारी, राज्यसभा के सांद रह चुकल विवेक गुप्ता जइसन कई गो नाम हिन्दीभाषी के समाज के तृणमूल के लिस्ट में बा. बूढ़ लोग के चुनाव लड़ावे के मामला में ममता बीजेपी के रास्ता अपनवले बाड़ी. अमित् मित्रा अइसन जानकार लोग के ऊ किनारे क दिहले बाड़ी. एह लिस्ट से एगो अउरी नया बात ई सामने आइल बा कि खुदे ममता बनर्जी आपन सीट भवानीपुर छोड़ के नंदीग्राम के चुनले बाड़ी.

ममता के नंदीग्राम के इलाका चुने के पीछे कारण ई बा कि तृणमूल छोड़ के बीजेपी में शामिल होखेवाला शुभेंदु अधिकारी के ऊ इलाका ह. शुभेंदु पर ममता के बेसी भरोसा रहल हा. भरोसा अइसन कि शुभेंदु के बाप, चाचा समेत उनका घर-परिवार के कई जने के ऊ सांसद, विधायक आ सरकारी महकमा के सभापति ले बना दिहली. बाकिर शुभेंदु उनका के अइसन झटका दिहले कि दूनो जने एक दूसरा के बड़का दुश्मन हो गइल लोग. शुभेंदु त इहां ले कह दिहले कि ममता के उनका घर में घुस के हरायेब. इहे बात ममता के मन में बइठ गइल रहल हा. नंदीग्राम से चुनाव लड़े के घोषणा त ऊ पहिलहीं क दिहले रहली हा, बाकिर उम्मीदवार के लिस्ट जारी होखे के पहिले ले लोग इहे मानत रहल हा कि खीस-पीत में अइसन कहले होइहें. लिस्ट जारी होखते अब ई बात साफ हो गइल कि ममता बनर्जी भवानीपुर से ना, नंदीग्राम से चुनाव लड़िहें.



उम्मीद घोषित करे में ममता सबसे आगे निकल गइल बाड़ी। अबहीं बाकी दल फरियावे भा नाम तय करे में लागल बा आ ममता एके संगे सगरी सीट में 3 गो छोड़ के बाकी 291 पर आपन उम्मीदवार के घोषमा क दिहली. ममता से लड़ाई में सबसे मजबूत लउके वाली भाजपा के अबही मीटिंगे चलत बा. काल्ह दिन भर मीटिंग चलल. जेपी नड्डा के घरे अमित शाह आ बंगाल के नेता लोग दिल्ली में चर्चा कइल. केकर-केकर नाम तय भइल ई त अबही ले पता ना चलल हा, बाकिर एतना जरूर मालूम भइल हा कि भाजपा के कोर कमिटी की मीटिंग आज होखे वाला रहल हा, ऊ टर गइल बा. एही मीटिंग के बाद उम्मीदवार लोग के नाम के घोषणा होखे के रहल हा. हो सकेला कि कवनो रणनीति के तहत भाजपा आज के मीटिंग टरले होखे. काहें कि ममता बनर्जी के पार्टी से जेकर-जेकर टिकट कटल होई, ओइमें से काम के कुछ लोग के पार्टी में शामिल करावल जा सके. अबही ले त दू गो नाम सामने आइल बा, जेकर तेवर बगावती हो गइल बा. पहिले विधायक रह चुकल संजय बख्शी आ उनकर जनाना स्मिता बख्शी के टिकट ममता काट दिहले बाड़ी. सुने में आवता कि ऊ लोग 7 मार्च के पीएम मोदी के सभा में भाजपा ज्वाइन क ली.
ममता बनर्जी पहिलेहीं से टिकट बंटवारा खातिर पांच गो पारामीटर बनवले रहली हा. पहिलका ई कि महिला लोग पर उनका बेसी भरोसा बा, एह से महिला उम्मीदवार बेसी रहिहें. दूसरका जवान लोग के मौका दिहल जाई. मनोज तिवारी आ विवेक गुप्ता एकर बढ़िया उदाहरण बा लोग. तीसरका कि बूढ़ लोग से परहेज कइल जाई. अमित मित्रा अइसन आदमी के टिकट एही से काटल गइल बा. चउथ पारामीटर ई रहे कि अबकी दागी-बदनाम लोग से परहेज कइल जाव. संयोग कहल जाव कि अइसन काफी लोग पहिलहीं पार्टी से किनारा क लिहले रहल हा. पांचवां पारामीटर साफ-सुथरा छवि के रहल हा. नया लोग के भी टिकट मिले त ओकर समाज में छवि साफ होखे. जवन हो, महिला आरक्षण के ढेर नारा सगरी पार्टी देत आइल बाड़ी सन, बाकिर पहिला बेर ममता 33 परसेंट त ना बाकिर 291 में 50 महिला उम्मीदवार उतार के बाकी लोग के लजवा त जरूर देले बाडी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज