• Home
  • »
  • News
  • »
  • bhojpuri-news
  • »
  • Bhojpuri: अनूप जलोटा के जन्मदिन पर पढ़ीं उनकर संघर्ष के कहानी, कइसे बनलें भजन सम्राट!

Bhojpuri: अनूप जलोटा के जन्मदिन पर पढ़ीं उनकर संघर्ष के कहानी, कइसे बनलें भजन सम्राट!

अनूप जलोटा के नाम लेते एगो संजीदा देह धाजा वाला आदमी के चेहरा मुखर हो जाला अउरी उनके मधु लेखां मीठ आवाज के स्मरण हो जाला. बाकिर अनूप जलोटा के जीवन बड़ा रंग-राग से भरल बा. आज उनकर जन्मदिन ह.

  • Share this:

एगो समय रहे आ कहीं-कहीं त आजो ब्रम्हमुहूर्त में मंदिर के घंटियन के साथे ‘ऐसी लागी लगन’, ‘ मईया मोरी मै नहीं माखन खायो’, ‘रंग दे चुनरिया’ आ ‘जग में सुन्दर हैं दो नाम’ जइसन लोकप्रिय, कर्णप्रिय आ मधुर गीतन के गूँज-अनुगूँज आ स्वरलहरी से दिनचर्या शुरू होखे. चिरई-चुरुंग के बोली आ एह सब भजन के बोल लोग-बाग़ के प्रकृति के साथे, ईश्वर के साथे आ जीवन के सार-तत्व के साथे अइसन जोड़ देव कि आदमी शांतचित्त आ प्रसन्नचित्त हो जाय.

आज भी ई सब गीत सबका जुबान पर बा आ जुबान पर बाड़े एह गीतन के आपन स्वर देवे वाला भजन सम्राट अनूप जलोटा.

आज अनूप जी के जन्मदिन ह. जन्मदिन पर जानल जाय अनूप जी के सफलता आ संघर्ष के कहानी.

अनूप जलोटा के नाम लेते एगो संजीदा देह धाजा वाला आदमी के चेहरा मुखर हो जाला अउरी उनके मधु लेखां मीठ आवाज के स्मरण हो जाला. बाकिर अनूप जलोटा के जीवन बड़ा रंग-राग से भरल बा. बरिसन से लोग इहे बुझे कि अनूप जलोटा के भजन लेखां उहो एकरंगा बाड़ें, खाली उनपर एकरूप ओ परमब्रह्म के रंग चढ़ल बा बाकिर बिग बॉस सीजन 12 बरखा के पानी लेखां आइल अउरी उनके रंगीन जीवन के एगो झलक देखा देहलस. एही के चलते उनके प्रशंसक हैरान हो गइलें, बहुते नाराज हो गइलें अउरी बहुते प्रोफेशनल जीवन अउरी निजी जीवन के फ़र्क समझ के अपना के समझा लेहलें.

जगजाहिर बा कि अनूप जलोटा बिगबॉस में अपना से 37 साल छोट फैशन मॉडल जसलीन मथारु के साथे प्रेम प्रसंग के लेके मिडिया खातिर हॉट टॉपिक बन गइलें. दुनू जाना कलर्स के हिट शो बिग बॉस के 12वां सीजन में कपल एंट्री कइल लोग. 2018 में ई खबर खूब सुर्खी बटोरलस. हालांकि बाद में दुनू जाना कहल लोग कि हमनी के रिश्ता गुरु-शिष्या के बा. बाकिर बिग बॉस त एही तरह के विवादित ड्रामा खातिर जानल जाला. जब दुनू जाना बिग बॉस के घर से बाहर निकलल लोग तबो बड़ा चर्चा चलल. फेर 2020 के अक्टूबर में जसलीन अनूप जलोटा के साथे शादी के जोड़ा में एगो फोटो डलली. इहो खूब वायरल भइल. लोग सोचल कि दुनू जाना शादी कर लिहल लोग बाकिर असल में उ एगो फिल्म शूट के फोटो रहे.

29 जुलाई 1953 के जनमल अनूप जलोटा के पिता पुरुषोत्तम दास जलोटा एगो लोकप्रिय अउरी सम्मानित भजन गायक रहलें. उनके माता जी कत्थक डान्सर अउरी गायिका रहली. अनूप के परिवार लखनऊ में रहत रहे बाकिर उनके जन्म नैनीताल में भइल. दरअसल उनके माता-पिता जी उहाँ घूमे गइल रहे लोग आ उहें उनके जन्म भइल. उनकर बचपन आ युवावस्था लखनऊ में ही बीतल. बचपने से उनके घर में संगीत के माहौल मिलल.

एगो साक्षात्कार में उ हमरा के बतवलें कि हम सात साल के उमिर में मंच पर गावल शुरू कइनी. एक बार हम पिताजी के साथे एगो प्रोग्राम में रहनी, उहाँ के बगल में बइठल रहनी. हमरा अइसन लागल कि हमरा लगे हनुमान जी बइठल बानी. हम भाव में आके रोए लगनी. पिता जी बाद में हमसे पुछनी कि तू रोअत काहें रहलs ह? हमरा साथे गवलs ह काहें ना ? हम उहाँ के बतवनी कि हनुमान जी के हमरा दर्शन भइल ह. हमरा कई बार बुझाला कि जवन लमहर सांस से लोग एतना प्रभावित होला, उ जरूर वायुपुत्र हनुमान जी के आशीर्वाद से ही मिलल बा. अनूप जलोटा आगे बतवलें कि हमार संगीत के पहिला आ मुख्य गुरु हमार पिता जी ही हईं. लोग हमरा के सात बरिस के बाद से गावे ले के जाये लागल. हमरा दस से बीस रुपया गावे के मिलबो करे. हमरा बड़ा अच्छा लागे. ओह उमिर में एतना रुपिया बहुत रहे. बचपन में खूब लखनऊ के गलियन में घूम-घूम स्ट्रीट फूड आ मिठाई के स्वाद ली. स्कूल में भी हम भजन गावे खातिर बड़ा लोकप्रिय रहनी. हमार मास्टर लोग अपना घरे हमके बोला के ले जाव. हम बचपन में शैतानी भी खूब करीं. बाकिर हमरा के मारे में मास्टर लोग बड़ा संकोच करे जेकर हमरा फायदा मिले. उ लोग सोचे कि एकरे से भजन सुनेनी जा, एकरा के कइसे मारीं जा, एही से हमार कम पिटाई होखे. बाकिर हमार दोस्त कुल्ह खूब कूटा सन.

अनूप जलोटा बड़ भइला पर भारतखंडे संगीत विद्यालय से संगीत सीखलें. लखनऊ से ही बीए कइलें. जब उ 20 साल के रहलें त लखनऊ से बम्बई आ गइलें. इहाँ उनके संघर्ष ना करे के पड़ल. काहे कि उनके पिताजी बंबई में 3 साल पहिले आ चुकल रहलें आ इहाँ घर ले लेलें रहलें. अनूप आवते कोरल ग्रुप से जुड़के ऑल इंडिया रेडियो में कोरस गावे लगलें. एआईआर में उ 1974 से 1976 ले गवलें. ओकरा बाद उनके फिल्म शिर्डी के साईं बाबा में रफी साहब के साथ गाना गावे के मौका मिलल. एकरा बाद से त उनके लोग फिल्म इंडस्ट्री में पहचाने लागल. फेर उनके स्वतंत्र एल्बम भजन गंगा आ भजन संध्या आइल. एल्बम भजन संध्या के बाद त उ कवनो पहचान के मोहताज ना रह गइलें. उनके भजन ‘ऐसी लागी लगन’ विश्व भर में लोकप्रिय भइल. हालांकि ई भजन उ स्टूडियो में जाके ना रिकॉर्ड कइलें रहलें. हरेकृष्ण मंदिर मं उ ई भजन गावत रहलें आ उहाँ साउन्ड रिकॉर्डिस्ट दमन सूद बइठल रहलें. उ ओकरा के रिकॉर्ड कर लेहलें आ प्रोग्राम के बाद अनूप जलोटा के सुनवलें. उनके पसंद आइल. दमन सूद कहलें कि ई भजन रिलीज करे के चाहीं. अनूप जलोटा के ई यकीन ना रहे कि ई भजन एतना कमाल करी. जब कैसेट रिलीज भइल त रातों-रात लोकप्रियता के सब रिकॉर्ड तूर देहलस.

अनूप जलोटा के नामे ओह बेरा एगो वर्ल्ड रिकॉर्ड बनल. दरअसल मशहूर अमेरिकन गायक एल्विस प्रेसली के नामे 48 गो गोल्डन, प्लेटिनम आ सिल्वर डिस्क जीतला के रिकॉर्ड रहे जवन उ 28 साल के करियर में जितले रहलें. ई खिताब एगो नियत संख्या में कैसेट बिक गइला पर मिले. अनूप जलोटा अपना भजन गायकी से मात्र 6 साल में अइसन 60 गो गोल्डन, प्लेटिनम डिस्क जितलें.

अनूप जलोटा के भोजपुरी से भी कनेक्शन रहल बा. उ भोजपुरी में नगदे फिल्म के निर्माण कइलें बाड़ें आ कई गो फिलिम के फाइनैन्स कइलें बाड़ें. उनके भोजपुरी फिल्म तेजाब, गंगा तोहरे देश के, बेताब आदि बा. हमरा से बातचीत में अनूप जलोटा बतवलें कि उ हिन्दी-भोजपुरी दुनू में फिल्म के निर्माण करत रहिहें. उ फिल्म सत्य साईं बाबा अउरी वो मेरी स्टूडेंट है में अभिनय भी कइलें बाड़ें. अनूप जलोटा के उनके जन्मदिन पर ढेर सारा शुभकामना!

( लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य और सिनेमा के जानकार हैं. यह उनके निजी विचार हैं. )

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज