Bhojpuri Spl: राजद के मुंह से कबो योगी जी के बड़ाई तs कबो बाजपेयी जी के बड़ाई

राजद एमएलसी रामबली सिंह काल्ह तs कमाल कर देले. बिधानपरिषद में जोगी आदित्यनाथ के दिल खोल के बढ़ाई कइले. लेकिन इ पहिला मामला ना ह, एकरा पहिले एकबार लालूजी खुद बाजपेयी जी के तारीफ कइले रहन.

  • Share this:
प्रखंड किसान सलाहकार समिति के आज बैठक रहे. महीना में दू बेर होत रहे. बैठक में किसान के अमदनी बढ़ावे खातिर खेती अउर पशुपालन पs चर्चा भइल. हाकिम लोग किसान लोगन के ट्रेनिंग खातिर बहरी भेजे के जानकारी देले. गौपालन खातिर करनाल अउर पियाज के खेती खातिर नासिक भेजे के बात तय भइल. बैठक खतम भइल तs राजद किसान प्रकोष्ठ के भाई रामानुज अउर भाजपा किसान मोर्चा के जमुना राय बतियावत बहरी निकल लोग. जमुना राय कहले, राजद एमएलसी रामबली सिंह काल्ह तs कमाल कर देले. बिधानपरिषद में जोगी आदित्यनाथ के दिल खोल के बढ़ाई कइले. भाई रामानुज हंस के कहले, ई तs राजनीत खातिर निमन बात नू बा. अइसे ई कवनो नाया बात नइखे. तहरा ईयाद होई कि जब लालूजी खुद बाजपेयी जी के तारीफ कइले रहन. दूना जाना के मोटरसैकिल असरफी लाल के दोकान पs लागल रहे. बीज भंडार के मालिक असरफी लाल उनका लोग के देख कहले,आईं बइठीं सभे.

राजद के मुंह से जोगी आदित्यनाथ के बड़ाई
असरफी लाल के दोकान पs रामानुज अउर जमुना राय बइठले. असरफी लाल पूछले, के केकर बड़ाई करत बा ? जमुना राय कहले, राजद के लोग अगर भाजपा नेता के बड़ाई करिंहें तs अचरज होइबे नू करी. राजद एमएलसी रामबली सिंह विधान परिषद में कोरोना काल में भइल दिक्कत के चर्चा करत रहन. एही बीच ऊ कहले कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जोगी आदित्यनाथ बिहार के मजदूर लोगन के बहुत मदद कइले रहन. जब कि बिहार के मुख्यमंत्री मजदूर लोगन के बिहार आवे पs रोक लगा देले रहन. अगर जोगी जी बढ़िया काम कर रहल बाड़े तs उनकर बड़ाई करे में का दिक्कत बा.

ई बड़ाई हs कि सिकाइत ?
असरफी लाल के हंसी-ठिठोली के आदत रहे. ऊ हंस के कहले, रउओ गजब कइले बानी जमुना बाबू, ई बड़ाई भइल ? अरे ई तs रामबली सिंह घुमा के चउका मरले बाड़े. जोगी जी के बढ़ाई करे में तs ऊ नीतीश जी के लपेट लेले. ई तs झंझट लगावे वला बात हो गइल. एक संघतिया निमन, एक संघतिया बाउर. एकर का मतलब भइल. तब जमुना राय कहले, ई हंसी-मजाक के बात नइखे. एकर अहमियत समझीं सभे. अच्छा, असरफी भाई, ई बतावs कि रामबली सिंह प्रधानमंत्री नरेनदर मोदी के बड़ाई काहे कइले ? नीति आयोग के बैठक में नरेनदर मोदी बिहार के सीडी रेशिय़ो (बैंक में कतना पइसा बा अउर ओतर केतना परतिशत कर्जा दिहल गइल) के ठीक करे के बात कहले रहन. आरबीआइ के मोताबिक सीडी रेशियो कम से कम 60 परतिशत होखे के चाहीं. अब राजद नेता रामबली सिंह एकर बड़ाई कइले. ई तs उनकर बड़प्पन कहल जाई.

लालू जी के चर्चित ट्वीट
जमुना राय के बात सुन के भाई रामानुज हंसे लगले. चलs जमुना भइया ! कम से कम एक बात पs राजद अउर भाजपा में अपनापन भइल. अरे, एकरा पहिले लालू जी भी बाजपेयी जी के बड़ाई कइले रहन. काल्ह विधानसभा में तेजस्वी जादव कहले रहन, हमार माई (राबड़ी देवी) अंचरा पसार के बिहार के बिसेस दर्जा के मांग कइले रही लेकिन नीतीश जी कैंसिल करा देले रहन. ई बात के बिस्तार से समझे खातिर तीन साल पीछा देखे के पड़ी. लालू जी 9 मार्च 2018 के एगो ट्वीट कइले रहन. एकर बहुत चरचा भइल रहे.

जब लालू जी कइले बाजपेयी जी गुनगान
लालू जी लिखले रहन, “2003 में आदरणीय प्रधानमंत्री वाजपेयी जी पटना आइल रहीं. मुख्यमंत्री राबड़ी देवी उनका सामने बिहार के बिसेस दर्जा के देवे के मांग उठवली. एकरा खातिर बाजिब तथ्य राखल गइल. बाजपेयी जी राजी हो गइल रहन. काहे से कि ऊ बिहार के बंटवारा (2000) होखे से दिक्कत के बात समझतs रहन. लेकिन जब बाजपेयी जी दिल्ली लौटे खातिर एयरपोर्ट जाए लगले तs ओही कार में नीतीश कुमार बइठ गइले. नीतीश कुमार बाजपेयी जी से कहले, अगर रउआ अबहीं राबड़ी देवी के सरकार रहत बिसेस दर्जा दे देब तs हमार राजनीति चउपट हो जाई. हमार तs कबो सरकारे ना बनी. नीतीश कुमार के ई सोंच के चलते ही बिहार के बिसेस दर्जा ना मिलल. ”

भाजपा-जदयू में अलगाव करावे के दांव
भाई रामानुज के बात सुन के असरफी लाल, जमुना राय के मुंह देखे लगले. जब केहू कुछ ना बोलल तs कहले, ई त हद बा ! राजद जब भाजपा नेता के गुनगान करे ला तब ऊ नीतीश कुमार के सिकाइते करे ला. देख लs लालू जी कइसे बाजपेयी जी के परसंसा कइले. रामबली सिंह भी इहे काम कइले. एकर मतलब का भइल ? राजद के मन में नीतीश जी खातिर बहुत खुन्नस बा. लालू जी होखस भा तेजस्वी, हरमेसा नीतीशे जी के टारगेट कइल जाला. जब ना तब भाजपा के नीतीश जी के खिलाफ भड़कावे के दांव भी मारल जाला.

बजट कम-बेसी के सवाल
काल्हे बिधानसभा में तेजस्वी बजट के बहाने भाजपा अउर जदयू में लड़ाई लगावे के कोसिस कइले. तेजस्वी के कहनाम रहे कि जदयू मंत्री लोग के विभाग के बजट, भाजपा के मंत्री लोगन से दोगिना बेसी बा. राजद इहे फेर में बा कि कइसहूं भाजपा-जदयू में तकरार हो जाव. अइसन करे के कारण भी. अगर राजद खातिर सत्ता आज सपना भइल बा तs एकर कारण नीतीश कुमार ही बाड़े. अकेले भाजपा राजद के किला ना ढाह सकत रहे. असरफी लाल आगा आगा कुछ कहले चाहत रहन कि दोकान पs एगो गंहकी पहुंच गइल. एकरा बाद भाई रामानु अउर जमुना राय मोटरसैकिल एस्टाट करे लागल लोग. (लेखक अशोक कुमार शर्मा वरिष्ठ स्तंभकार हैं.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.