अपना शहर चुनें

States

Bhojpuri Spl: अजय देवगन से लेके निरहुआ-खेसारी सबके ललकरलें, कथा भोजपुरिया विलेन के

भोजपुरी सिनेमा (Bhojpuri Movie) में फिलिम के हीरो (Bhojpuri Actors) और खलनायक (Bhojpuri Villains) दूनों के जबरदस्त रोल होखेला. इहे दूनो लोग कवनो फिलिम के अपना कंधा पर खींचके ओकरा के सुपरहिट बनावे ला. आज एह पैकेज में हम रउआ सभे के भोजपुरिया फिलिम के कुछ अउर विलेन के बारे में बतावे जात बानीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 3:28 PM IST
  • Share this:
मॉडर्न भोजपुरी सिनेमा (Bhojpuri Cinema) में अवधेश मिश्रा, संजय पाण्डेय, सुशील सिंह, विपिन सिंह आ अनूप अरोड़ा के अलावे भी अइसन बहुत एंटी हीरोज बाड़न जे अपना सशक्त अभिनय से इतिहास रच रहल बाड़न. इन सशक्त अभिनय देखके अइसन लागेला की साचहुं के कवनों विलेन लोगन के धमकावत होखे. आज एह कड़ी में हम रउआ सभे के कुछ और विलेन्स के बारे बतावे जात बानीं. एहमें से कोई अजय देवगन (Ajay Devgan) के आंख देखइलस त केहु खेसारी लाल यादव (Khesari Lal Yadav), दिनेश लाल यादव निरहुआ (Dinesh Lal Yadav Nirahua) अउर पवन सिंह (Pawan Singh) के धमकइलस.

अजय देवगन के भोजपुरी फिलिम से शुरुआत कइलें आयाज़ खान

अयाज़ आपन करियर के शुरुआत 2006 में अजय देवगन के एकमात्र भोजपुरी फिलिम ‘धरती कहे पुकार के’ से कइलें. एह फिलिम में अजय के साथे मनोज तिवारी भी मुख्य भूमिका में रहलें अउरी अयाज़ नेता वीर महोबिया के बेटा के रोल कइलें. अयाज़ आपन पहिला फिलिम से ही अपना अभिनय के दमखम देखा दिहले. एह फिलिम के बाद उ वाराणसी आपन शहर अपना पढाई में व्यस्त हो गइलें, फेर करीब एक साल बाद उ मुंबई वापस आपन किस्मत अज़मावे अइलें. एहिजा उनके फिलिम-राइटर संतोष मिश्र सहारा दिहले अउरी अयाज़ के दूसरकी फिलिम निरहुआ रिक्शावाला रहल जे कई गो कलाकार के इंडस्ट्री में स्थापित कइलस, जेकरा में अयाज़ भी रहले. एगो इंटरव्यू के दौरान अयाज़ बतवलन कि अभी ले उ 100 फिलिम में काम कर लेले बाड़न अउरी उनकर कुछ बेहतरीन फिल्म में पवन सिंह के साथे ‘धड़कन’ बा जेमें उ पवन के भाई अउरी पुलिस अफसर के रोल कइलें बाड़न. फिल्म के क्लाइमेक्स आवत-आवत गुड-बॉय से बैड-बॉय बन जालें, लोगन के अयाज़ के ई चेंजओवर पसंद आइल. उनकर खेसारीलाल के साथे मुक़द्दर में एगो मैच्योर किरदार जे उम्र में बड़ बा, कइल बहुते चुनौतीपूर्ण रहल अउरी फिलिम बनावे से पहिले तक लेखक अउरी डायरेक्टर के ई भरोसा ना रहल कि अयाज़ ई रोल कर पइहें. रितेश पाण्डेय के साथे सइयां थानेदार फिलिम में उनकर किरदार जवन भयानक अउरी विचित्र हंसी हँसेला , दर्शकन के काफी पसंद आइल. कसम वर्दी वाला में पागल के रोल अउरी इंडिया वर्सेस पाकिस्तान में पाकिस्तानी मेजर के रोल उनका लाइफ के माइलस्टोन रोल रहल बा. उनकर पाकिस्तानी मेजर के वेश-भूषा अउरी संवाद-शैली अपनावल एतना नैसर्गिक रहल कि लोग के भ्रम हो गइल रहे कि उ पाकिस्तानी हउवें.



2010 के बाद के विलेन में देव सिंह सबसे बेसी चर्चा में बाड़न
2010 के बाद के भोजपुरी सिनेमा कई गो नया-नया गायक-अभिनेता के स्वागत कइलस ओहीजा कुछ नया विलेन अउरी चरित्र अभिनेता भी अइलें. ओकरा में देव सिंह के नाम काफी चर्चा में रहल. बलिया जिला के सुवरहाँ के रहे वाला देव सिंह मुंबई में आपन फ़िल्मी करियर बनावे के जुगत में लागल रहले लेकिन उनका हिंदी फिलिम में जब कुछ खास हाथे ना लागल त उ भोजपुरी सिनेमा में आ गइलें. उनके ‘दीवाना’ फिलिम में एगो छोट रोल मिलल. फेर ओकरा बाद फिलिम ‘सैयां बकलोल’ में उनकर प्रदर्शन देख प्रसिद्ध विलेन अवधेश मिश्रा उनके कई जगह ज़िक्र कइलें. उनके ‘मैं सेहरा बांध के आऊंगा’ खातिर ‘बेस्ट क्रिटिक अवार्ड’ मिलल जवन देव सिंह के करियर के रफ़्तार देहलस. बकौल देव, हमार कुछ आपन पसंदीदा फिल्मन में ‘मैं सेहरा बाँध के आऊंगा’, डमरू के हमार किरदार, ‘राजा जानी’ में भी हमार नेगटिव रोल लोगन के काफी पसंद आइल. 2019 में रिलीज़ भइल फिलिम ‘स्पेशल एनकाउंटर’ में हमार किरदार बाबा राघवेन्द्र एगो अद्भुत रोल बन गइल. जे भी ई फिलिम देखले बा उ लोग हमार काम के काफी तारीफ करेला. ‘छलिया’ फिलिम में भी उनकर रोल खलनायक के बा. देव कहेलें कि ई बात हमरा के बड़ा आहत करेला कि भोजपुरी में विलेन अधिकतर एगो फिलर के रूप में इस्तेमाल होला जइसे खाना में मूली के समझल जाला. इहाँ विलेन के मेहनताना भी ओइसन ना मिलेला जइसन हीरो अउरी अन्य कलाकारन के मिलेला. शायद भोजपुरी में विलेन आ चरित्र कलाकार के उपेक्षा ही हवे कि पंकज त्रिपाठी, रज़ा मुराद, शक्ति कपूर जइसन हिंदी के धाकड़ अभिनेता इहां से एकाध फिलिम करके चल गइलें. हम खलनायकन के दशा में सुधार खातिर आशावान बानी.

पहिले हीरो रहलें, बाद में विलेन बनलें समर्थ चतुर्वेदी

समर्थ चतुर्वेदी के नाम आज एन्टी हीरो के लिस्ट में दर्ज बा जबकि उ आपन शुरुआत भोजपुरी में बतौर हीरो कइले रहलें. समर्थ साल 2003 में भोजपुरी के सुपर स्टार सुजीत कुमार के डायरेक्टेड फिलिम ‘बलमा बड़ा नादान’ से रश्मि देसाई संगे डेब्यू कइलें. 10-12 गो फिलिम कइला के बाद समर्थ के काम मिलल लगभग बंद हो गइल, तब उ आपन पुरान प्रेम थिएटर के तरफ रुख कर दिहले जहाँ से उ आइल रहलें. भोपाल के मूल निवासी समर्थ के कहनाम बा कि ‘करीब 2.5 साल बाद हम फिल्मन के ओर वापस से रुख कइनी, जेकरा में एगो विलेन के रोल मिलल. लोगन के हमार उ विलेन के रोल बहुते पसंद आइल, फेर हम विलेन अउर चरित्र भूमिका कइल शुरू कर देनी’. उनकर उल्लेखनीय किरदारन में हालिया रिलीज़ भइल ऑल्ट बालाजी के पहिला भोजपुरी वेब-सीरीज ‘हीरो वर्दी वाला’ में डबल-शेड वाला रोल बा. खेसारीलाल के फिलिम ‘दबंग सरकार’ में उनकर रोल काफी प्रभावित करे वाला बा. पवन सिंह के फिलिम ‘धरती के लाल करेला कमाल’ में ईसाई विलेन, फिलिम ‘छलिया’ में अउर ‘अँखियों के झरोखे से’ में कॉमिक विलेन के रोल बहुते सराहल गइल बा.

आमिर खान के फिलिम ग़जनी के विलेन के साथे काम कइलें उमेश सिंह

उमेश सिंह स्क्रीन पर त काफी क्रूर अउरी भयानक लागेलें जबकि निजी ज़िन्दगी में उ काफी ज़हीन अउरी सरल व्यक्तित्व वाला हउवें. उमेश सिंह फिल्म में मुख्य खलनायक के कई गो भूमिका कइलें बाडें, लेकिन उनका प्रसिद्धि अउर विलेन के जइसन अभी नइखे मिलल. उ एह बात पर भी बड़ा सरलता से जवाब दिहले कि हम खुद के एगो छोट कलाकार समझेनी, जे रोज़ आगे बढ़े खातिर राह पर एगो-एगो डेग बढ़ावता. उमेश आपन क्राफ्ट के दमखम कैमरा के सामने बखूबी देखावेले. उनकर बेहतरीन फिलिम में ‘प्रधान जी’, पवन सिंह के फिलिम ‘ग़दर’, खेसारी लाल यादव के’ हीरो नम्बर वन’, पवन सिंह के ‘सत्या’ अउरी’ जिद्दी आशिक’ हवे. उनकर पवन सिंह के ही फिलिम ‘भोजपुरिया राजा’ के किरदार प्रताप काफी क्रूर अउरी डरावना बा जे सोना के आभूषण से लदल रहेला. 2019 के फिलिम ‘क्रेक फाइटर’ में आमिर खान के फिलिम ग़जनी के विलेन प्रदीप रावत के साथे उनकर जोड़ी दर्शकन के खूब पसंद आइल,जेकरा में उ अंग-व्यापार करे वाला डॉक्टर के रोल में दिखाई देले.

निर्देशक विष्णु शंकर बेलू बनलें खलनायक

निर्देशन अउर अभिनय दूनो फ़न में माहिर विष्णुशंकर बेलू आपन करियर में खलनायक के कई गो भूमिका निभवले बाड़े. उनकर मानना बा कि खलनायक बा तबे नायक के वजूद बा भले खलनायक कवनो सिचुएशन ही काहे ना होखे. बेलू पवन सिंह के फिलिम ‘प्रतिज्ञा’ में उनका चचेरा भाई ठाकुर अभय सिंह के रोल कइलें रहले, जे बड़ घर के बिगड़ैल बेटा रहल. ‘बीन बजाए सपेरा’ फिलिम में उ त्रिकाल नाम के अघोरी के रोल कइलें रहले, जेकरा खातिर उ असल में दाढ़ी उगवले रहले. फिलिम ‘हमरा माटी में दम बा’ में ख़तरनाक गुंडा, ‘ऐलान’ में नक्सलवादी, ‘हीरो गमछावाला’ में कम बोले वाला विलेन रघु के रोल कइलें रहले. ई उनकर पसंसदीदा रोल ह, जेकरा के दर्शक लोग भी सराहल.

‘गर्दा’ फिलिम में जिद्दी आशिक बन के गर्दा मचइलें बालेश्वर सिंह

एगो उम्दा विलेन के रूप में बालेश्वर सिंह अपना के भोजपुरी फिल्म में स्थापित कइले बाड़ें. बालेश्वर सिंह ज़्यादातर मुख्य विलेन के भाई अउरी सहयोगी के भूमिका में देखाई देलें, लेकिन जहवां उनका स्पेस अउर मुख्य-खलनायक के भूमिका मिलल बा उहवां उ आपन दम देखइलें बाड़न. बकौल बालेश्वर, फिलिम ‘बहुरानी में उनकर किरदार ददन यादव उनकर पसंदीदा किरदार हवे. उ विराज भट्ट के ‘गर्दा’ फिलिम में एगो जिद्दी आशिक के रोल कइलें बाड़े. उनकर खेसारी के फिलिम ‘मुक़द्दर’ के रोल अउरी ‘खुद्दार’ में विलेन के भूमिका अउरी ‘बलमा डेरिंगबाज़’ में हीरोइन के क्रूर पिता के रोल में काफी पसंद कइल गइल.

‘लतखोर’ में हीरोइन के साथे गाना गावत बाड़न राज प्रेमी

राज प्रेमी ग़ैर-भोजपुरी भाषी हवे लेकिन उनका हिस्सा में दर्जन से बेसी फिलिम आ चुकल बा. उ चैलेंज में मुन्ना शुक्ला के रोल कइलें जे बाहुबली हवे, खेसारी के ‘तेरे नाम’ में हीरोइन के भाई के रोल में विधायक के भूमिका निभवले. ‘लतखोर’ उनकर एगो अइसन फिलिम हवे जेकरा में उ विलेन होके भी हीरोइन के साथे गाना गावत बाड़न.
70 से बेसी फिलिम कर चुकल बाड़न प्रेम दुबे

2007 से 2011 तक अस्सिटेंट डायरेक्टर रहल जौनपुर के मूल निवासी प्रेम दुबे 2012 में फिलिम ‘लहू के दो रंग’ से बतौर खलनायक आपन अभिनय करियर शुरू कइलें, एह फिलिम में उ हंसुआ नाम के किरदार कइलें रहले. 2013 में ‘कच्चे धागे’, 2014 में ‘लहू पुकारेला’ के लंगड़ पंडित अउर ‘राजा बाबू’ में कॉमेडी विलेन बनल प्रेम अभी तक 70 फिलिम कई लेले बाड़न.

‘मेहंदी लगा के रखना’ से चर्चा में अइलें करण पाण्डेय

साल 2017 में रजनीश मिश्रा के सफल फिलिम ‘मेहंदी लगा के रखना’ से एगो विलेन चर्चा में आइल जोकर नाम ह करण पाण्डेय. करण एकरा से पहिले ‘मोकामा 0 किमी’ में अजगर नाम के क्रूर खलपात्र कइलें रहले. उ ‘शिवरक्षक’ में बांके नाम के कॉमिक विलेन बनल रहले. खेसारीलाल के फिलिम ‘आतंकवादी’ में उ सतनाम के रोल खातिर काफी सराहल गइल रहले. उनकर फिलिम ‘नागराज’ में अपना से दूगना उम्र के आदमी के रोल बहुते चुनौतीपूर्ण लागल.

बहुत कम समय में नाम बनवलें अमित शुक्ला

पिछला साल 2018 में भोजपुरी में आपन करियर के शुरूआत करे वाला अमित शुक्ला फिलिम ‘सौगंध’ में मुख्य खलनायक के भूमिका निभवलें, जेकरा में उनकर जवानी अउर बुढ़ापा दूनो के काल- खंड देखावल गइल. फिलिम ‘बिटिया छठी माई के’ में बड़ भाई अउर दबंग नेता, जे आपन पागल भाई के घर से निकाल देता, के रोल भी बखुबी निभवले. पवन सिंह के फिलिम ‘क्रेक फाइटर’ अउर निरहुआ के ‘बॉर्डर’ में इनकर ग्रे शेड वाला व्यवस्थित किरदार बा. अभी ले अमित 15-16 फिलिम कर लेले बाड़न.

कॉमेडियन मनोज टाइगर भी बनत रहेलें विलेन

मनोज टाइगर के लोग एगो हर दिल अज़ीज़ कॉमेडियन के रूप में जानेला लेकिन उ ग्रे शेड वाला अउरी मुख्य खलनायक के रोल भी काफी कइलें बाडें. ‘जिगर’ अउरी ‘मोकामा 0 किमी’ उनकर नेगेटिव शेड में बढ़िया प्रदर्शन वाला फिलिम हवे. मनोज थिएटर के शुरुआत 1996 में कइलें अउरी उ मशहूर पृथ्वी थिएटर ग्रुप से जुड़लें. एगो इंटरव्यू में मनोज टाइगर बतवलें कि हिंदी फिल्म अभिनेत्री आयशा जुल्का हमार काफी मदद कइली. 2005 में मनोज ओझा उनके ‘चलत मुसाफिर मोह लियो रे’ में कॉमेडियन के रोल दिहलें अउरी फेर ओकरा बाद उनके ‘निरहुआ रिक्शावाला’ में भी कॉमेडी रोल मिलल. उनकर एह फिल्म के किरदार बताशा चाचा अमर हो गइल.

( लेखक मनोज भावुक भोजपुरी सिनेमा के जानकार हैं )
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज