Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri Spl: बंगाल में देवाल बनल चुनावी युद्ध क मैदान, खूब लिखात बाs तुकबंदी

Bhojpuri Spl: बंगाल में देवाल बनल चुनावी युद्ध क मैदान, खूब लिखात बाs तुकबंदी

बंगाल चुनाव में जुबानी जंग त चलते बा, लेकिन देवाल के जंग भी खूब लड़ल जा रहल बा. अब रउआ सोचत होखब कि ई देवाल के जंग का ह त बता दीहीं कि चुनावी तारीख क घोषणा होवे से पहिले ही सगरो राजनीतिक दल देवाल पर कुछो न कुछो नारा संदेस लिख ओपर आपन कबजा जमा लेलन.

अधिक पढ़ें ...

बंगाल में हर बार जइसन एहू बार क चुनावी लड़ाई जुबानी जमा खरच के साथे जमीन पर त लड़ले जात ह, इहवां क सगरो देवाल भी इ युद्ध में कूद पड़ल ह. चुनावी तारीख क घोषणा होवे से पहिले ही सगरो राजनीतिक दल देवाल पर कुछो न कुछो नारा संदेस लिख ओपर आपन कबजा जमा लेलन. ए बारो अइसन होइल ह. चुनावी घोषणा के बाद उम्मीदवारन क चयन होते ही आपन दल के वोट देबे वाला देवाल लेखन के साथे उहवा क उम्मीदवार के वोट देकर जितावे क अपील लिख देहल जाई. दोसर राज्यन से अलग बंगाल में घुसते ही इहवां क देवालन के देखि के पता चल जाला कि या त इहां चुनाव होवे वाला ह बा हो रहल ह. बंगाल जइसन देवाल लेखन क चलन दोसर राज्यन में नाही देखाई देला विशेषकर देस क उत्तरी भाग क राज्यन में.

अउर त अउर बंगाल क कल कारखानन वाला इलाकन में जहां बिहारी पूर्वांचली भाई लोगन क घर दुआर ह बा दोकान दौरी अ रोजी रोटी चल रहल ह उहवां हिंदी त हिंदी भोजपूरी मेहू देवाल लेखन के जरिया वोटरन के रिझावल जाला. उहों आज से ना कई सालन से. 1971 क चुनाव में हुगली नदी क आर पार लगल जूट कारखानन क आसे पासे बसल बिहारी पूर्वांचली समाज क लोगन के रिझावे खातिर पहिला बार भोजपूरी में देवाल लेखन क शुरुआत भइल. कांग्रेस की ओर से लिखल गइल चुनावी तुकबंदी में सबसे अधिका चरचा में रहल, ‘इंदिरा गांधी के दाल चाउर, जगजीवन राम क हड़िया.. आ जोति बसू के वोट देके नाही मिली एक्को गो बड़िया….’ बंगाल में घर के बाड़ी कहल जाला. अउर मजदूरन अ निचला तबका क लोग इहवां जौअन छोट छोट घरन में रहे ला ओहू बाड़ी कहाला.

ए बार चुनाव घोषणा से पहिले ही इ इलाकन में तृणमूल कांग्रेस की ओर से भोजपुरी तुकबंदी से देवाल सब पाट देहल गइल ह. मजे क बात इ ह कि इ इलाका क दोनों लोकसभा सीट हुगली अ बैरकपुर 2019 क चुनाव में भाजपा क खाता में गइल रहल. एसे पहिले के लोकसभा आ विधानसभा चुनाव में इहवां क सीटन पर तृणमूल कांग्रेस क कबजा रहे. शायद इहे कारण ह कि इहो बार देवाल लेखन में उहे बाजी मारत नजर आवत ह. तृणमूल की ओर से कई गो चुनावी हिंदी अउर भोजपुरी क तुकबंदी चरचा में ह. जइसे…
बोल रही है जनता, आएगी फिर से ममता….
दू मई, बंगाल में भाजपा आपन जमीन खोई…
महंगा भईल गैस , महंगा भईल तेल, जुमलाबाज़ सरकार हर मुद्दा पर भईल फेल…
चलेगा चप्पल, उड़ेगा धूल, नाबन्नो ( राज्य सचिवालय ) जाएगा फिर से जोड़ा फूल …
आजी, अम्मा ,भईया सुना ,एहू बार आपन दीदी के चुना…
नोटबन्दी के नाम लेकर कर गइल खेल, आम आदमी मरत बा, जुमलाबाज़ एहू पर फेल…
अभी तो बस अंगड़ाई है, काम बनाम नाम की लड़ाई है…
नवयुवक, किसान-मजदूर के पुकार बा , फिर से तृणमूल कांग्रेस के सरकार बा…
ना षडयंत्र चली, ना मन के बात चली, बंगाल में बस ममता दीदी के काम चली…
सब हंस ता मुस्कुराता, हमनी के बंगाल में , नइखे फंसे के जुमलाबाज़न के जाल में…

बंगाल क चुनाव में देवाल लेखन क परंपरा बहुते पुरान ह. कला, साहित्य- संस्कृति से भरल पूरल बंगाली सोच अ बात विचार ही इहवां क देवाल लेखन में खूबे देखाई पड़ेला. शायद इहे कारण ह कि इहां देवारी चुनाव परचार में भी कलाकारन क कविता, बोलीबाजी ( व्यंग्य ) एगो अलगे रंग में देखाई देला. बंगला जइसन परभाव हिंदी अउर भोजपुरी में भी देखावे क परयास होला. इ सब में पहिले वामपंथी बाजी मारत रहलें. उ दौर में कांग्रेसी भी वामपंथियन से पीछे न रहे क परयास करत रहे. अब इ मामला में त तृणमूल कांग्रेस सबका ले बाजी मारत देखाई देत ह. दोसरा ओर ए बार ओके टक्कर देबे में लगल भाजपा परिवर्तन यात्रा, रैली, परदर्शन करें में त आगे ह लेकिन देवल लेखन में अभी पिछड़ रहल ह.

भाजपा क देवाल लेखन कुछ इलाकन में बंगला में त होइल ह लेकिन बिहारी पूर्वांचली वोटरन खातिर अभी तक हिंदी भोजपुरी में परयास न होइल ह. तृणमूल कांग्रेस के विरोध में भाजपा क बंगला में देवाल लेखन कुछ अइसन ह… सिंडिकेट सरकार, आर नइ दरकार… माने सिंडिकेट सरकार क अब दरकार नाही ह. पिछला विधानसभा चुनाव से पहिले नारदा स्टिंग आपरेशन में तृणमूल कांग्रेस क कई नेतवन पर वसूली खातिर सिंडिकेट चलावे क वीडियो चरचा में आइल रहे. भाजपा क देवाल लेखन उहो ओर इशारा कर रहल ह. एही तरह भाजपा क एगो देवाल लेखन ह… चुपचाप पद्दो छाप… माने पद्दो छाप ( भाजपा क चुनाव चिह्न कमल ) पर चुपचाप बटन दबावा. (लेखक सुशील कुमार सिंह वरिष्ठ पत्रकार हैं.)

Tags: Bengal Election, Bengal Election 2021, Bhojpuri, Election 2021, Kolkata, West bengal

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर