• Home
  • »
  • News
  • »
  • bhojpuri-news
  • »
  • Bhojpuri: जब लालू से 6 घंटा पूछताछ कइलें राकेश अस्थाना, फिर दर्ज कइले रहन चार्जशीट

Bhojpuri: जब लालू से 6 घंटा पूछताछ कइलें राकेश अस्थाना, फिर दर्ज कइले रहन चार्जशीट

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना जब सीबीआइ में एसपी रहन तs चर घोटाला के जांच के जिम्मा उनके मिलल रहे. उहे लालू जादव के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कइले रहन जेकरा बाद 1997 में लालू जादव के मुखमंतरी के पद छोड़े के पड़ल.

  • Share this:
“दिल्ली के नया पुलिस कमिश्नर बनला के बाद राकेश अस्थाना फेन चर्चा में बाड़े. राकेश अस्थाना के जब-जब चर्चा होई तब-तब लालू जादव के भी नांव जरूर आयी. राकेश अस्थाना जब सीबीआइ में एसपी रहन तs चर घोटाला के जांच के जिम्मा उनके मिलल रहे. उहे लालू जादव के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कइले रहन जेकरा बाद 1997 में लालू जादव के मुखमंतरी के पद छोड़े के पड़ल. एकरा एक हफ्ता बाद 30 जुलाई के उनकर गिरफ्तारी भी हो गइल.

जब 2017 में लालू जादव के खिलाफ रेलवे टेंडर घोटाला के मामला उठल तs एकर जांच के नियंत्रण अधिकारी भी राकेश अस्थाना ही बनले. ओह घरी ऊ सीबीआइ में एडिशनल डायरेक्टर रहन. एह केस में लालू जादव के घरे छापामारी भी भइल रहे. रेलवे टेंडर घोटला के तूल पकड़ला के चलते ही 2017 में तेजस्वी के डिप्टी सीएम के पोस्ट गंवावे के पड़ल रहे. ई संजोग के बात रहल कि राकेश अस्थाना लालू जादव से जुडल दू केस के जांच में शामिल रहले.” माधवकांत अतना बात कह के चुप हो गइले तs जौगर्स क्लब के लोग उनका देने सावालिया नजर से देखे लगले.

चारा घोटाला के जांच बहुत कठिन रहे
जौगर्स क्लब के राधामोहन कहले, जब कबनो केस होई तs कवनो न कवनो अफसर ओकर जांच करबे करिहें, एकरा में खास बात का बा ? माधवकांत कहले, लेकिन जब कवनो केस मुखमंतरी जइसन बीआइपी के खिलाफ होला तs ओकर जांच आसान ना होखे. जांच अधिकारी के राजनीतिक दबाव के बीच काम करे के पड़ेला. सीबीई के पूर्व डायरेक्टर जोगिनदर सिंह अपना किताब में लिखले रहन कि जब चारा घोटाला के जांच चरम पs रहे तs एक दिन तत्कालीन परधानमंतरी इंद्र कुमार गुजराल उनके बोलवले. मीठा-पानी के बाद इंद्र कुमार गुजराल जोगिन्दर सिंह से कहले, लालू जी हमारे पार्टी के चीफ हैं, उनका ध्यान रखिएगा. तब जोगिनदर सिंह एकरा खातिर लिखित में आदेश मंगले. जाहिर बा परधानमंतरी ई बात लिख के ना दे सकत रहन. पीएम से मोलकात के बात जोगिनदर सिंह जइसहीं अपना औफिस में अइले लालू जादव के गिरफ्तारी के आदेश दे देले. एह बात से अनराज गुजराल सरकार जोगिनदर सिंह के ट्रांसफर कर देलस. अब सोच सकेले कि चारा घोटाला के जांच कतना कठिन रहे.

एक एसपी कइले रहे मुखमंतरी से पूछताछ
जौगर्स क्लब के महेन्दरनाथ कहले, राकेश अस्थाना कइसे कइले रहन चारा घोटाला के जांच ? माधवकांत कहले, बात 6 जनवरी 1997 के हs. राकेश अस्थाना चारा घोटला केस में लालू जादव से छह घंटा तक लगातार पूछताछ कइले रहन. एक एसपी, कवनो मुखमंतरी से पूछताछ करे, ई बहुत हिम्मत के काम रहे. लेकिन राकेश स्थाना ई साहस देखवले. चारा घोटला मामला में चार्जशीट दाखिल भइला के बाद बाद सीबीआइ के स्पेशल कोट में एकर सुनवाई शुरू भइल. चारा घोटला के अलग अलग मामला में लालू जादव के खिलाफ कुल्ह छव केस भइल रहे. जवना में पांच झारखंड में बा अउर एक बिहार में बा. झारखंड के चार मामला में लालू जादव के सजा के एलान हो चुकल बा. सजाय के आधा समय जेल में गुजरला के आधार पर उनका ई चारो मामला में जमानत मिल गइल बा. अनुमान बा कि पांचवां मामला के भी फैसला होखे वला बा. अभी तs लालू जादव जमानत पs बहरी बाड़े. अब सब केहू के नजर पांचवां केस के फैसला पs टिकल हा. का होई, का ना ? अगर कोट सजाय सुना देलस तs उनका फेन जेल जाए के पड़ी.

नेतरहाट के पढ़ल हवें राकेश अस्थाना
राकेश अस्थाना के जन्मभूमि तs झारखंड हs लेकिन मूल रूप से ऊ रहे वला हवें आगरा के. उनकर बाबू जी हरे कृष्ण अस्थाना भारत के प्रतिष्ठित स्कूल नेतरहाट (झारखंड) में फिजिक्स के टीचर रहन. एह से राकेश अस्थाना के स्कूली पढ़ाई नेतरहाट में भइल. इंटरमिडिएट के पढ़ाई रांची के सेंटजेवियर्स कौलेज से भइल. एकरा बाद आगे पढ़ाई खातिर उ दिल्ली चल गइले. जेएनयू में इतिहास के पढ़ाई कइले. एमए के डिग्री लेला के बाद रांची के सेंटजेवियर्स कौलेज में इतिहास पढ़ावे लगले. 1984 में 23 साल के उमिर में पहिला बेर यूपीएससी के परीक्षा में बइठले अउर आइपीएस में चुना गइले. उनका गुजरात कैडर मिलल. लेकिन सीबीआइ के एसपी के रूप में धनबाद में भी काम कइले. राकेश अस्थाना के पूरा परिवार झारखंड से जुडल रहल. उनकर बहिन डॉ. कामिनी कुमार रांची यूनिभरसिटी में प्रो भाइस चांसलर रही. उनकर बड़ भाई डॉ. राजीव अस्थाना रांची के गोस्सनर कौलेज में फिजिक्स पढ़ावत रहन.

शोहरत भी, बिबाद भी
माधवकांत के बात सुन के राधामोहन कहले, लेकिन राकेश अस्थाना के साथ बहुत बिबाद भी तs जुड़ल बा. तहरा इयाद बा नू कि जब राकेश अस्थाना अउर सीबीआइ के डायरेक्टर आलोक वर्मा में झगरा भइल रहे तs कवन कवन बात ना सामने आइल रहे. आलोक वर्मा केन्द्रीय सतर्कता आयोग के बतवले रहन कि राकेश अस्थाना, पीएमओ के एक अफसर अउर बिहार भाजपा के नेता सुशील मोदी, लालू जादव के रेलवे टेंडर घोटला में गिरफ्तार करावे के कोशिश कइले रहन. दोसरा देने राकेश अस्थाना आलोक वर्मा पs आरोप लगवले रहन कि ऊ लालू जादव के खिलाफ केस के कमजोर कइले रहन. 2018 में राहुल गांधी आरोप लगवले रहन कि राकेश अस्थाना पs रिश्वतखोरी के आरोप लागल रहे लेकिन एकरा बाद भी उनका के सीबीआइ के स्पेशल डायरेक्टर बना दिहल गइल रहे. अब उनका के रिटायर होखे के तीन दिन पहिले दिल्ली के पुलिस कमिश्नर बना दिहल गइल बा. राधामोहन के बात अभी पूरा ना भइल रहे कि जौगर्स क्लब के सबसे बुजुर्ग सदस्य रामनरेश बाबू टोक देले, राजनीति में नौकरशाही के रंग-ढंग पs अगर चर्चा करबs तs रात दिन भी कम पड़ जाई. नेहरू जी के जमाना से ही एकर अनगिनत कहानी बा. एक परत खोलबs तs दोसर परत निकल जाई. अब चलs, सभ कोई बेंच पs बइठ के तनी सुस्ता लिहल जाव. (अशोक कुमार शर्मा वरिष्ठ स्तंभकार हैं. यह उनके निजी विचार हैं.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज