Bhojpuri में पढ़ें, रोहिणी आचार्या के डिप्टी सीएम बनावे के जब चलल रहे चरचा

लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्या विवाद की वजह से चर्चा में हैं.

दू गो पूर्व मुखमंतरी के परिवार ट्वीटर पs अइसन लड़ रहल बा कि मान मरजादा के धज्जी उड़ गइल बा. सगरे रोहिणी अउर दीपा मांझी के ही बतकही हो रहल बा. दू गो बड़का घराना के औरत ट्वीटर पs कतना फूहर-फूहर बात लिख रहल बा लोग. का इहे सभ बात लिखे खातिर ट्वीटर अउर फैसबुक बा ?

  • Share this:
सुकन्या सेवा समिति के संजोजक कुसुम के मोबाइल बहुत देर से बाजत रहे. उनका आवे-आवे में फोन कट गइल. कुसम देखली तs सुनैना के फोन रहे. सुनैना अउर कुसम एक्के साथे काम करत रहे लोग. बहुत अपनापन भी रहे. कुसम फोन लगावे के सोचते रही कि फेन घंटी बाजल. कुसम फोन उठवली तs सुननैना के आवाज आइल, अरे कहां बाझल रहू ? कल्याणी दीदी मास्क के पूछत रही. केतना तइयार भइल बा ? कुसम कहली, परसान मत होखs, टाइमे पs मिल जाई. अरे का कहीं ? ऐह घरी दिन तs मोबाइले में कट जाता. दू गो पूर्व मुखमंतरी के परिवार ट्वीटर पs अइसन लड़ रहल बा कि मान मरजादा के धज्जी उड़ गइल बा. सुनैना कहली, अरे हां, अबहीं तs सगरे रोहिणी अउर दीपा मांझी के ही बतकही हो रहल बा. दू गो बड़का घराना के औरत ट्वीटर पs कतना फूहर-फूहर बात लिख रहल बा लोग. का इहे सभ बात लिखे खातिर ट्वीटर अउर फैसबुक बा ? का रोहिणी अउर दीपा सांसद-बिधायक बने खातिर ई बितंडा खाड़ा कइले बाड़ी ? लेकिन ई रवइया रही तs राजनीत में कइसे गुजारा होई ?

दू पूर्व सीएम के घराना कवना राह पs ?
कुसुम, सुनैना अउर कल्याणी मास्क बांट के अइली तs बइठ के बतियावे लागल लोग. कल्याणी कहली, एह घरी रोहिणी-दीपा के झगरा कोरोना महामारी से भी बड़ खबर बन गइल बा. ई हाल देख के हमरा एगो प्रसंग इयाद आवत बा. एक बेर ब्रह्मा जी नारद मुनि से पूछले, रउआ तs तीनों लोक के भरमन करीना. मनुष्य के जीवन में कवन रस सबसे उत्तम बा ? तब नारद जी बिना बजा के कहले, हे सिरिस्टीकरता, मानव जीवन में निंदारस सबसे उत्तम रस बा. मनुष्य सदगुण से अधिक दुरगुन के बखान में आनंद के अनुभूति करेला. जब ट्वीटर पs थूर देंगे, ठीक कर देंगे लिख के एक दोसरा के घर के इज्जत उछालल जाई तs लोग एह निंदारस के आनंद उठइबे करिहें. ई बात सुन के सुनैना कहली, हमरा अचरज होत बा कि डॉक्टरी पढ़े वला रोहिणी अउर मोटरसैकिल से अस्कूल जाये वला दीपा कइसे अतना खराब-खराब बात लिख रहल बाड़ी ?

रोहिणी के जब डिप्टी सीएम बनावे के चलल रहे चरचा
कल्याणी कहली, इहे रोहिणी के चार साल पहिले कतना पढ़ल-लिखल, शांत अउर समझदार मानल जात रहे कि उनका के डिप्टी सीएम बनावे के चर्चा शुरू हो गइल रहे. 2017 में तेजस्वी जादव बिहार के डिप्टी सीएम रहन. लेकिन जब रेलवे टेंडर घोटाला के मामला गरमाइल अउर तेजस्वी जादव पs बेनामी सम्पत्ति अरजित करे के आरोप लागल तs राजद में हलचल मच गइल. कहल जाला कि नीतीश कुमार तेजस्वी के सामने शर्त राख देले कि चाहे तs ऊ एह मामला में सभके सामने सफाई देस आ ना तs डिप्टी सीए के पोस्ट से इसतीफा देस. राजद में एह बात पs बिचार होखे लागल रहे कि अगर तेजस्वी के इसतीफा देवे के पड़ जाई तs लालू परिवार से केकरा के डिप्टी सीएम बनावल जा सकेला. तब रोहिणी आचार्य के नांव सबसे आगा आइल रहे. रोहिणी अपना पति समरेश सिंह अउर तीन बच्चा के साथे सिंगापुर में रहत रही. सौफ्टवेयर इंजीनियर उनकर पति सिंगापुर के बड़ कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर रहन. रोहीणी पs भरस्टाचार के कवनो आरोप ना रहे. डॉक्टरी पढ़ल रही. राजनीतिक बिबाद से दूर बिदेश में रहत रही. एह से उनका के सबसे सुटेबुल कंडिडेट नल गइल. लेकिन बाद में फैसला भइल कि तेजस्वी इसतीफा ना दिहें. एह से अइसन कवनो नौबत ना आइल.

रोहिणी कहले रही, राजनीति में ना आइब
कुसम पुछली, का रोहिणी राजनीति में उतरे के तइयारी कर रहल बाड़ी ? ऐह सवाल के जबाब में कल्याणी कहली, 2019 में भी बहुत तेज चर्चा चलल रहे कि रोहिणी राज्यसभा सांसद बने खातिर राजनीतिक गितिबिधि बढ़ा देले बाड़ी. लेकिन ऊ एह बात के खंडन कर देले रही. रोहिणी कहले रही, सोशल मीडिया पs लिखला अउर राजद के समर्थन करे मतलब ई नइखे कि हम एमपी-एमेले बने खातिर ई सभ कर रहल बानी. हम मीसा दीदी, तेज-तेजस्वी अउर पापा के मदद करत रहब. हमरा राजनीति में आवे के कवनो बिचार नइखे. मीसा भारती जइसन ही रोहिणी के भी जमशेदपुर के महात्मा गांधी मेडिकल कौलेज में टाटा के कोटा से नांव लिखावल गइल रहे. रोहिणी जब एमबीबीएस के पढ़ाई करते रही तब्बे उनकर शादी सौफ्टवेयर इंजीनियर समरेश सिंह से हो गइल रहे. समरेश सिंह के पिताजी राय रणविजय सिंह इनकम टैक्स औफिसर रहन. रणविजय सिंह लालूजी साथे कौलेज में पढ़ल भी रहन. शादी के समय समरेश सिंह अमेरिका में नौकरी करत रहन. अब ऊ सिंगापुर के मल्टीनेशनल कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर बाड़े. रोहिणी शुरुए से ट्वीटर पs लालू जादव के समर्थन में आपन बिचार राखत रही. लेकिन अबकी बेर उनका भासा अउर भाव बहुत बदल गइल बा.

दीपा मोटरसैकिल से जात रही अस्कूल
सुनयना कहली, दीपा भी तs बिहार के पूर्व मुखमंतरी के बहू बाड़ी. उनकर पति संतोष कुमार सुमन बिहार सरकार में मंतरी बाड़न. दीपा के माई ज्योति देवी बिधायक बाड़ी. जीतन राम मांझी दलित समाज के बहुत बड़हन नेता मानल जाले. लेकिन एकरा बादो दीपा जाति सूचक शब्द लिख के ट्वीट कर रहल बाड़ी. एकरा के केतना सही कहल जा सकेला ? तब कल्याणी कहली, रोहिणी जवन भासा के इस्तेमाल कर रहल बाड़ी, दीपा भी उहे भासा में जबाब दे रहल बाड़ी. ई बेलकुल गलत बा लेकिन सुने वला के बा ? दीपा जिला परिषद के सदस्य रह चुकल बाड़ी. दीपा शुरुए से साहसी लइकी रहल बाड़ी. जब ऊ हाईअस्कूल में रही तब ऊ राजदूत मोटरसौकिल से पढ़े खातिर जात रही. उनकर गांव बापूग्राम से फतेहपुर हाईअस्कूल के दूरी 10 किलोमीटर रहे. दीपा ओह जमाना में मोटरसैकिल चलावत रही जब लइकी सैकिल चलावे के हाल ना जानत रही. दलित परिवार के लइकी खातिर तs ई अउर हिम्मत के काम रहे. आज से 25-30 साल पहिले गांव के केतना लइकी मोटरसाइकिल चलावत रही ? आज दीपा भिरी 65 लाख से अधिक के सम्पत्ति बा. रोहिणी अउर दीपा भिरी शोहरत, दौलत सभ बा लेकिन मरजादा के खेयाल तनिको नइखे. कल्याणी चुप भइली तs कुसुम कहली, अतना कहला सुनला के बादो अगर बात खतम हो जाइत तs गनिमत रहे. पता ना कब ई बात राफ- साफ होई ? (लेखक अशोक कुमार शर्मा वरिष्ठ स्तंभकार हैं. यह उनके निजी विचार हैं.)