Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri: जब कोहली कइले रहन महान कुंबले के अपमान

Bhojpuri: जब कोहली कइले रहन महान कुंबले के अपमान

.

.

आरा के रमना मैदान. ‘भोजपुर वारियर्स’ किरकेट टीम के प्रैक्टिस खतम हो भइल तs बाउंड्री के किनारा बइठ के खेलाड़ी बतियावे लगले. स्टार बैटर गगन कुमार कहले, हार जीत तs लागल रहेला, लेकिन कोहली के अभी कप्तानी से इस्तीफा ना देल चाहत रहे. का कपिल, तूं का सोच रहल बाड़S? कपिल कुमार भोजपुर के नामी फास्ट बौलर रहन.

अधिक पढ़ें ...

जेतना तेज बौल ओतने तेज बात. तनी, रंज हो के कहले, खेलाड़ी कतनो धाकड़ होखे, ऊ खेल से कबहूं बड़ा ना हो सके. कोहली बेशक भारत के सबसे सफल कप्तान बाड़े लेकिन ऊ आपन घमंड से बहुत लोग के तकलीफ पहुंचवले बाड़े. अनिल कुम्बले जइसन महान बौलर के कोहली के अपमान के चलते ही कोच पद से इस्तीफा देवे के पड़ल रहे. इहां तक कि कोहली भारत रत्न सचिन तेंदुलकर के सलाह के भी दरकिनार कर देले रहन. कहाउत हs, बोया पेड़ बबूल का तs आम कहां से होय. जब भारत दक्षिण अफ्रीका में पहिला टेस्ट जीतला के बाद भी 1-2 से सीरीज हार गइल तs कोहली कप्तानी छिनाए के डर से पहिलहीं इस्तीफा दे देले.

खराब बैटिंग अउर हार से डेरा गइले कोहली

भोजपुर वारियर्स के बिकेटकीपर फैजल रहमान कहले, हाल के समय में बिराट कोहली के बैटिंग फेल बा. कोहली वन डे में 43 अउर टेस्ट में 27 शतक जरूर मरले बाड़े. लेकिन नवम्बर 2019 के बाद से टेस्ट में उनकर कवनो सेंचुरी नइखे लागल. 2021 में कोहली 11 टेस्ट खेलले जवना में उनकर औसत करीब 29 रन के रहल. दक्षिण अफ्रीका में भी जब सीरीज बचावे खातिर तीसरा टेस्ट में जब ठोस बल्लेबाजी के जरूरत रहे तब कोहली खरा ना उतरले. दूसरा पारी में जब बड़हन टोटल के जरूरत रहे तब ऊ 29 रन पs आउट हो गइले. जब कि ओही पिच पs रिसभ पंत सेंचुरी मरले रहन. अगर भारत के लीड साढ़े तीन सौ रन से अधिक रहित तs सीरीज बराबर हो सकत रहे. एक तS कोहली के खेल खराब हो गइल रहे, ऊपर से भारत पहिला टेस्ट जीतला के बादो सीरीज हार गइल. एह बात से कोहली डेरा गइले कि किरकेट बोर्ड कहीं उनकर कप्तानी छीन मत लेवे. एह से ऊ पहिले ही इस्तीफा दे देले. दक्षिण अफरिका दौरा के शुरुआत ही बिबाद से भइल रहे. टूर पs जाए से पहिले कोहली किरकेट बोर्ड के अध्यक्ष सौरभ गांगुली से बिबाद ठान देले. वन डे के कप्तानी से हटावे के मुद्दा पs उनकर सौरभ गांगुली अउर सेलेक्शन कमेटी के अध्यक्ष चेतन शर्मा से खूब तकरार भइल रहे. एह बात के भी कोहली के मन में डर बइठल रहे. उनका बुझाये लागल कि अब हार के बाद उनका खिलाफ कवनो एक्शन हो सकेला, एह से ऊ पहिले ही कप्तानी छोड़ देले.

जब कोहली कइले रहन अनिल कुम्बले के अपमान

फैजल के बात पs गगन कुमार कहले, लेकिन देश के किरकेट में कोहली के जोगदान के भुलाइल ना जा सके. 68 टेस्ट के कप्तानी में कोहली 40 में जीत दिलवले बाड़े. ऊ भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बाड़न. तब कपिल कुमार जबाब देल, ई ठीक बा कि कोहली बहुत कामयाब कप्तान रहन लेकिन ऊ भारत के सबसे महान गेंदबाज के साथे का कइले रहन ? अनिल कुम्बले भारत के सबसे सफल गेंदबाज हवें. ऊ 132 टेस्ट खेल के 619 बिकेट ले ले बाड़े. सबसे अधिक बिकेट लेवे में उनकर दुनिया में चउथा स्थान बा. अनिल कुम्बले एक टेस्ट पारी में 10 बिकेट लेवे के दुरलभ कारनाम भी कइले बाड़े. लेकिन उनका जइसन प्रतिष्ठित खेलाड़ी के भी बिराट कोहली बेइज्जत कर देले रहन. अनिल कुम्बले जून 2016 में टीम इंडिया के हेड कोच बनल रहन. अनुशासन के बहुत पक्का रहन. ऊ नियम बना देले रहन कि प्रैक्टिस सेशन में जे भी लेट से आई ओकरा 50 डौलर के फाइन देवे के पड़ी. हर चउथा दिन टीम के मीटिंग अनिवार्य रहे. एह कड़ाई से कोहली के परेशानी होखे लागल. ओह घरी ऊ एस्टार रहन. ऊनकर बैटिंह में बहुत नांव रहे. कोहली अपना तरीका से टीम के चलावल चाहत रहन. लेकिन कुम्बले के बड़हन कद के सामने कोहली कुछ बोल ना पावत रहन. तवना घरी किरकेट बोर्ड में भी बहुत उथल पुथल रहे. सुप्रीम कोट के आदेश पS प्रशासकों की समिति किरकेट बोर्ड के काम देखत रहे. कोहली के कुंबले से तनातनी बढ़त जात रहे. 2017 में चैम्पियंस ट्राफी टूर्नामेंट रहे. लेकिन एकरा ठीक पहिले कोहली, हेड कोच कुंबले के खिलाफ क्रिकेट बोर्ड के सीईओ राहुल जौहरी से शिकायत कर देले. ऊ एसएमएस में कुंबले खातिर लिखले रहन, ही इज ओवरबियरिंग (वह बहुत मनमानी कर रहे हैं) . एह एसएमएस के बाद बबाल हो गइल. ई कुम्बले के अपमान रहे.

चैम्पियंस ट्राफी के फाइनल में फेल हो गइल रहन कोहली

कपिल कुमार आगा कहले.1 जून 2017 से इंग्लैंड में चैम्पियंस ट्राफी शुरू रहे. भारत के टीम कोच कुम्बले अउर कप्तान कोहला के साथे इंग्लैंड पहुंचल. बांग्लादेश के खिलाफ भारत के वार्मअप मैच रहे. एह मैच से पहिले जब कुम्बले नेट प्रैक्टिस के जायजा लेवे पहुंचले तब कोहली मैदान छोड़ देले. अंदरुनी कहल के बीच भारत टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचल जहां ओकर मुकाबला पाकिस्तान से रहे. भारत के टीम दोहरा दबाव में रहे. पाकिस्तान पहिले बैटिंग कर के 338 रन के बिसाल स्कोर खाड़ा कइलस. कप्तान कोहली से टीम के बहुत आसा रहे. लेकिन टीम इंडिया के बैटिंग माटी के भीत अइसन भरभरा गइल. रोहित शर्मा 0, धवन 21, कोहली 5, युवराज सिंह 22, धोनी 4 रन पS बिकेट गांवा के चल देले. एही पिच अउर पाकिस्तान के फास्ट बौलिंग के सामने हार्दिक पांडया 46 गेंदा पS 76 रन बनवले रहन. लेकिन भारत के कवनो एसटार बैटर आपन नांव के मोताबिक खेल ना देखा पवले. भारत, पाकिस्तान से 180 रन से हार गइल. ई हार बरदास करे जुकुर ना रहे. कोहली आपन सारा ताकत कुम्बले से लड़े में लगा देले रहन. खेल से उनकर धेयान भटक गइल रहे. कुम्बले, कोहली के बेवहार से बहुत दुखी रहन. भारत के ई महान गेंदबाज आपन आत्मसम्मान बचावे खातिर चैम्पियंस ट्राफी खतम भइला के दू दिन बादे हेड कोच पद से इस्तीफा दे देले.

ताकतवर कोहली कइले रहन मनमानी !

कपिल कुमार के बात जारी रहे. कोहली अउर कुम्बले में सुलाह करावे के जिम्मेदारी सचिन तेंदुलकर के दिहल गइल रहे. तेंदुलकर बहुत कोशिश कइले. लेकिन कोहली सुलह करे खातिर तइयार ना रहन. चैम्पियंस ट्रापी में सुलह खातिर प्रशासकों की समिति भी कोशिश कइले रहे. लेकिन कवनो नतीजा ना निकलल. कुम्बले के कार्यकाल चैम्पियंस ट्राफी तक ही रहे. लेकिन बोर्ड उनकर महान जोगदान देख के कार्यकाल में बिस्तार कर देलस. कुम्बले के वेस्टइंडीज दौरा तक हेड कोच बहाल राखल गइल. लेकिन कोहली, कुम्बले साथे एडजस्ट करे पs तइयार ना भइले. ओह घरी कोहली के चलती रहे. सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली अउर बीबीएस लक्ष्मण ओह घरी किरकेट सलाहाकार समिति के सदस्य रहन. ई तीनों लोग स्थिति सम्हारे के बहुत कोशिश कइले. लेकिन बात ना बनल. अनिल कुम्बले आपन इस्तीफा पs अड़ल रहले अउर बेस्टइंडीज ना गइले. एह तरे बिराट कोहली, कुम्बले जइसन महान खेलाड़ी के पद छोड़े पs मजबूर कर देले रहन. . कुम्बले से पहिले रवि शास्त्री टीम इंडिया के डायरेक्टर रहन. तवना घरी कोहली के शास्त्री से बहुत दोस्तियारी हो गइल रहे. शास्त्री के जगह कुम्बले के हेड कोच बनावे से कोहली नाखुश रहन. कहल जाला कि ऊ रवि शास्त्री के दोबारा कोच बनावे खातिर ही कुंबले के विरोध करत रहन. रवि शास्त्री, कोहली के कहला के मोताबित चलत रहन. जब कि कुम्बले अनुशासन खातिर कोहली को कवनो रियायत देवे के तइयार ना रहन. ओह घरी कोहली के ताकत के आंगा बोर्ड भी खामोश हो गइल. आखिरकार अनिल कुम्बले के अपमानजनक स्थिति में बिदाई हो गइल. एकरा बाद कोहली के पसंद के मोताबिक शास्त्री के हेड कोच बनावल गइल रहे. अब ना शास्त्र कोच बाड़े ना कोहली कप्तान.

बोया पेड़ बबूल का तो आम कहां से होय

एही बीच फैजल पूछले, कोहली-कुंबले के झगरा कइसे शुरू भइल रहे ? तब कपिल कुमार कहले, विराट कोहली पs एकाधिकारवादी प्रवृति के भी आरोप लागल रहे. 25 मार्च 2017 के धर्मशाला में भारत- आस्ट्रेलिया के बीच चउथा टेस्ट मैच रहे. एह मैच में कोहली चोट के कारण टीम से बाहर रहन. उनका जगह पs रहाणे कप्तानी करत रहन. अब सवाल उठल कि कोहली के जगह केकरा के टीम में लिहल जाव . कोच कुम्बले पिच के मिजाज देख के कुलदीप यादव के मौका देल चाहत रहन. जब कि कोहली कवनो बल्लेबाज के पक्ष में रहन. तब कुम्बले कार्यवाहक कप्तान रहाणे के राय-सलाह कर के कुलदीप यादव के मौका दे देले. ई बात कोहली के खटक गइल. ओह घरी उनका इच्छा के खिलाफ केहू फैसला ना लेत रहे. संजोग से कुलदीप यादव एह मैच के पहिला पारी में चार विकेट लेके आपन चयन सही साबित कर देले. एकरा बाद जब ड्रेसिंग रूम में कुलदीप के परदरसन के बात बात होके लागल तs कुम्बले कह देले, आखिर अनुभव भी कोई चीज होती है. (उनकर संकेत आपन 619 बिकेट देने रहे). ई बात सुन के कोहली , कुंबले से खुन्नस पाल ले ले. एह मैच में भारत के जीत मिलल रहे. कोच के रूप में कुम्बले के कार्यकाल बहुत शानदार रहे. उनका कार्यकाल में भारत 17 टेस्ट मैच खेलल रहे जवना में 12 में जीत अउर एक में हार मिलल रहे. 13 वनडे में 8 जीत अउर पांच हार रहे. लेकिन तब्बो कोहली अनिल कुम्बले के हटा के दम धइले. पांच साल बाद इतिहास अपना के फेन दोहरवलस. अबकी बेर कोहली के दबाव में इस्तीफा देवे के पड़ल. अभी बतकही चलते रहे कि ‘भोजपुर वारियर्स’ के कोच संदीप सर उहां पहुंच गइले. सभ केहू चुप लगा के आपन-आपन किटबैग उठावे लागल.

(अशोक कुमार शर्मा वरिष्ठ पत्रकार हैं, आलेख में लिखे विचार उनके निजी हैं.)

Tags: Bhojpuri News, Captain Virat Kohli, Virat Kohli

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर