Home /News /bhojpuri-news /

Bhojpuri में पढ़ें- का उन्नाव के नांव रही यूपी के चुनाव?

Bhojpuri में पढ़ें- का उन्नाव के नांव रही यूपी के चुनाव?

बनारस के मंडुआडीह चउक पs चुनाव के चरचा चलत रहे. अजीतेश कहले, अबकी चुनाव में उन्नाव सीट, चरचित सीट बन गइल बा. एह सीट के लड़ाई नारी सम्मान से जुड़ गइल बा. उन्नाव कांड में अदालत तs आपन फैसला सुना चुकल बा, अब जनता जनार्दन के बारी बा.

बनारस के मंडुआडीह चउक पs चुनाव के चरचा चलत रहे. अजीतेश कहले, अबकी चुनाव में उन्नाव सीट, चरचित सीट बन गइल बा. एह सीट के लड़ाई नारी सम्मान से जुड़ गइल बा. उन्नाव कांड में अदालत तs आपन फैसला सुना चुकल बा, अब जनता जनार्दन के बारी बा.

बनारस के मंडुआडीह चउक पs चुनाव के चरचा चलत रहे. अजीतेश कहले, अबकी चुनाव में उन्नाव सीट, चरचित सीट बन गइल बा. एह सीट के लड़ाई नारी सम्मान से जुड़ गइल बा. उन्नाव कांड में अदालत तs आपन फैसला सुना चुकल बा, अब जनता जनार्दन के बारी बा.

पीड़ित लइकी के मतारी (आशा सिंह, कांग्रेस) के चुनाव लड़े से इशुबेस्ड पोलटिक्स के माहौल बन रहल बा. दीपेन्दु कहले, हर सिक्का के दू पहलू होला. उन्नांव रेप कांड इंसानियत के नांव पs कलंक बा. पूर्व बिधायक कुलदीप सेंगर एकर जुर्म में उमिरकैद के सजा काट रहल बाड़े. कुलदीप सेंगर के बेटी ऐश्वर्या सेंगर के भी आपन अलग दर्द बा. उनकर आरोप बा कि कांग्रेस ऊन्नांव कांड के राजनीतिक इस्तेमाल कर रहल बिया. भोट खातिर भावना के उभारल जा रहल बा. हमहूं तs लड़की हईं, लेकिन हमरा खिलाफ कवन कवन ना फूहर बात कहल जा रहल बा ! का प्रियंका गांधी के नारा (लड़की हूं, लड़ सकती हूं) के इहे मतलब बा ?

पीड़िता के भावनात्मक संदेश

अजीतेश, दीपेन्दु के बतकही में मुन्ना बनारसी भी कूद गइले. कहले, का उन्नाव में आशा सिंह के सपा अउर बसपा के भी समर्थन मिल गइल बा ? काल्हे हम मोबाइल पs एगो वीडियो देखनी हंs. एकरा में पीड़ित लइकी, उन्नाव से कंडिडेट ना देवे खातिर अखिलेश यादव अउर मायावती के धन्यवाद दे रहल बाड़ी. कुलदीप सेंगर परिवार के कवनो अदिमी के टिकट ना देवे खातिर ऊ सीएम योगी के भी धन्यवाद कहले बाड़ी. एह वीडियों में ऊ आपन माई आशा सिंह (कांगरेस) के जीतावे के भी अपील कइले बाड़ी. बहुत लोग के कहनाम बा कि कांग्रेस के एगो बड़ नेता के इशारा पs पीड़ित लइकी ई वीडियो से भावनात्मक संदेश दिहल गइल बा. कांगरेस पs इमोशनल कार्ड खेले के आरोप लाग रहल बा. कुछ लोग के कहनाम बा कि चुनावी राजनीति के बीच में पीड़ित लइकी के ना ले आवे के चाहीं. मुन्ना बजरंगी के बात पs अजीतेश कहले, पीड़ित लइकी के काहे ना बोले के चाहीं ? उनका एह सिस्टम से जवन सदमा लागल बा, का ओकर दर्द भी कहे के अधिकार नइखे ? अगर ऊ शिकायत ना करीहें तs ई समाज अउर सिस्टम सुधरी कइसे ? एकरा खातिर चुनाव ही सबसे सटीक मौका बा. अब, जनता के अदालत में भी तs फैसला जरूरी बा.

सेंगर के उमिरकैद के बाद भी जीतल रहे भाजपा

अजीतेश के बात पs दीपेन्दु कहले, का चुनाव से हर सामाजिक समस्या के समाधान मिल सकेला ? कुलदीप सेंगर कवनो समर्पित भाजपाई ना रहन. पहिला बेर 2002 में बसपा से उन्नाव के बिधायक बनल रहन. फिर 2007 में सपा से बांगरमऊ के बिधायक बनले. 2012 में सेंगर के भगवंत नगर से सपा के टिकट मिलल अउर जीतले. बाद में सेंगर के सपा से बिबाद हो गइल तs ऊ भाजपा में आ गइले. 2017 में सेंगर भाजपा के टिकट पs बांगरमऊ सीट से बिधायक बनले. उन्नाव रेप कांड में गिरफ्तारी के बाद भाजपा उनका के पाटी से निकाल देले रहे. 2019 में जब सेंगर के उमिरकैद के सजाय मिलल तs उनकर बिधायकी खत्म हो गइल. 2020 में बांगरमउ सीट पs उपचुनाव भइल. उन्नाव रेप कांड से पूरा देश दहल गइल रहे. पूरे देश में धरना-परदरशन के तांता लाग गइल रहे. योगी सरकार पs सवालिया निसान लाग गइल रहे. एह उपचुनाव में महिला सुरक्षा अउर कानून बेवस्था, बड़का मुद्दा रहे. भाजपा इहां से श्रीकांत कटियार के खाड़ा कइले रहे. कांग्रेस से आरती वाजपेयी कंडिडेट रहीं. कांग्रेस के महिला उम्मीदवार महिला सम्मान के मुद्दा उठा के चुनाव लड़ल रही. ओह घरी सपा अउर बसपा भी ईहां से कंडिडेट देले रहे. चुनाव भइल तs जनता भाजपा के पक्ष में फैसला सुनवलस. भाजपा के श्रीकांत कटियार के बंपर भोट (71,381) मिलल रहे. जब कि आरती बाजपेयी 39,983 भोट ही मिलल रहे. मतलब जनता के सेंगर से तs नाराजगी रहे लेकिन भाजपा से ना.

निरभया के माई चुनाव लड़े से कर देले रही इंकार

मुन्ना बनारसी कहले, अब पीड़ित लइकी के मतारी (आशा सिंह) उन्नाव सदर सीट से चुनाव लड़ रहल बाड़ी. एह सीट पs 2017 में भाजपा के पंकज गुप्ता जीतल रहन. ईहां भाजपा अउर कांग्रेस में जोरदार लड़ाई बा. आशा सिंह के राजनीति में उतरे के फैसला केतना असरदार हो सकेला, एकर नतीजा अभी देखे के बाकी बा. कवनो अइसन पीड़ित परिवार के चुनाव लड़ल आसान ना होखे. 2020 में बहुत चर्चा चलल रहे कि निरभया के माई कांगरेस के टिकट पs अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़े वला बाड़ी. (उनको नांव भी आशा ही बा.) इहां तक कि कांगरेस नेता कीर्ति आजाद निरभया के माई के चुनाव लड़े खातिर बधाई भी दे देले रहन. लेकिन निरभया के माई चुनाव लड़े से इंकार कर देले रही. ऊ कहले रही, हमरा कांगरेस ही ना बलिक कवनो राजनीतिक दल में तनिको दिलचस्पी निइखे. ओह घरी कांगरेस के कोशिश नकाम हो गइल रहे. लेकिन 2022 में ‘उन्नाव कार्ड’ कांग्रेस के राजनीति के ‘आशा’ बन गइल बा. मुन्ना बनारसी के बात पs दीपेन्दु कहले, हां, कहल भी जाला कि किरकेट अउर राजनीति, संभावना के खेल हs. अजीतेश भी एह बात पs हुंकारी भर देले.

(अशोक कुमार शर्मा वरिष्ठ पत्रकार हैं, आलेख में लिखे विचार उनके निजी हैं.)

Tags: Bhojpuri News, Mp up chunav, Unnao News, UP Chunav 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर