लाइव टीवी

पूर्व सांसद की हत्या मामले में 15 साल बाद भी न्याय के इंतजार में परिवार

Arun Chaurasia | News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 5:43 PM IST
पूर्व सांसद की हत्या मामले में 15 साल बाद भी न्याय के इंतजार में परिवार
सर्वजीत ने कहा कि उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से राजद के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदयनारायण चौधरी पर कार्रवाई की मांग की है. (फाइल फोटो)

गया के पूर्व सांसद राजेश कुमार की हत्या (Murder) के मामले में उनके विधायक बेटे कुमार सर्वजीत ने लगाया पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदयनारायण चौधरी पर आरोप, कहा- नक्सलियों के हाथों चौधरी ने ही करवाई थी उनके पिता की हत्या.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 5:43 PM IST
  • Share this:
गया. पूर्व सांसद राजेश कुमार की हत्या मामले में 15 साल बाद भी परिजन न्याय का इंतजार कर रहे हैं. वहीं अब सांसद के विधायक बेटे कुमार सर्वजीत ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) से न्याय की गुहार की है. साथ ही उन्होंने अपनी ही पार्टी के एक नेता पर अपने पिता और गया के पूर्व सांसद राजेश कुमार की हत्या का आरोप लगाया है. सर्वजीत ने कहा कि उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से राजद के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदयनारायण चौधरी पर कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने बताया कि सीएम से मुलाकात के दौरान उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर कहा कि उदयनारायण चौधरी को पार्टी में किसी भी तरह का पद नहीं दिया जाए. क्योंकि उन्होंने नक्सलियों के सहयोग से न सिर्फ उनके पिता बल्कि कई और लोगों की हत्या (Murder) में वे शामिल रहे. कुमार सर्वजीत अपने पिता की 15वीं पुण्यतिथी पर आयोजित एक सभा को संबोधित कर रहे थे जिस दौरान उन्होंने इन बातों का खुलासा किया.

जल्द हो आरोपियों पर कार्रवाई
इस दौरान सभा में पहुंचे बीजेपी के विधायक राजीवनंदन दांगी ने कहा कि वे इस मामले में बोधगया विधायक कुमार सर्वजीत के साथ हैं और वे उनके साथ न्याय के लिए कहीं भी जाएंगे. उन्होंने कहा कि मामले में सीबीआई जांच की भी बात सामने आई थी. ऐसे में जल्द जांच हो और आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए. वहीं, पूर्व विधायक कृष्‍णनंदन यादव ने कहा कि राजेश कुमार एक सामाजिक नेता थे और आमलोगों के लिए वे हर समय तैयार रहते थे. उन्होंने कहा कि उनकी हत्या में अभी तक कार्रवाई न होना दुख की बात है.

क्या था मामला

जनवरी 2005 में विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान राजेश कुमार की डुमरिया में नक्सलियों ने अंधाधुन गोलीबारी कर हत्या कर दी थी. साथ ही उनकी गाड़ी को भी आग लगा दी थी. इस हत्या का आरोप पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदयनारायण चौधरी पर लगा था. बाद में मामले की सीबीआई जांच करवाने की भी अनुशंसा की गई, एजेंसी ने जांच भी शुरू की लेकिन नीतीश के सीएम बनने के बाद जांच की अनुशंसा को वापस ले लिया गया. जिससे जांच वहीं रुक गई. वहीं मामले में अपना हाथ होने से उदयनारायण चौधरी हमेशा से इनकार करते रहे हैं. उल्लेखनीय है कि हत्या के लगभग 15 साल बाद भी पुलिस ने एक भी आरोपी की शिनाख्त नहीं की है.

ये भी पढ़ेंः अब पटना में आपका भी होगा आशियाना, निगम देने जा रहा है सस्ते घर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 5:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर