लाइव टीवी

पटना वासियों के लिए खुशखबरी, अब एक नहीं तीन पांच सितारा होटलों का होगा निर्माण

Neel kamal | News18Hindi
Updated: January 23, 2020, 9:37 PM IST
पटना वासियों के लिए खुशखबरी, अब एक नहीं तीन पांच सितारा होटलों का होगा निर्माण
पर्यटन मंत्री कृष्‍ण कुमार ऋषि ने बताया कि बिहार में शराब बंदी के बाद से ही पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ है. जिसके चलते अब पांच सितारा होटलों की जरूरत भी बढ़ी है. (प्रतीकात्मक फोटो)

PPP मोड पर होगा होटलों का निर्माण, जमीन भी की गई चिन्हित, पर्यटकों की संख्या बढ़ने के बाद सरकार ने तेज की कवायद.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2020, 9:37 PM IST
  • Share this:
पटना. शायद पूरे देश में पटना के अलावा ऐसा ही कोई राज्य हो जहां की राजधानी में एक भी पांच सितारा होटल न हो. हालांकि अब पटना वासियों के लिए भी खुशखबरी है. अब पटना में एक नहीं तीन फाइव स्टार होटलों का निर्माण होगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसके लिए निर्देश भी जारी कर दिए हैं. इन होटलों का निर्माण पीपीपी मोड पर होगा. अब इनको बनाने के लिए कवायद भी शुरू कर दी गई है.

यहां बनेंगे होटल
जानकारी के अनुसार पटना के वीर चंद पटेल पथ और कंगन घाट के पास जमीन भी चिन्हित कर ली गई है. बिहार के पर्यटन मंत्री कृष्‍ण कुमार ऋषि ने बताया कि बिहार में शराब बंदी के बाद से ही पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ है. जिसके चलते अब पांच सितारा होटलों की जरूरत भी बढ़ी है. साथ ही उन्होंने बताया कि पर्यटन विभाग ने रामायण, बुद्धा और जैन सर्किट पर तेजी से काम करना शुरू कर दिया है.

पीपीपी मोड पर बनेंगे होटल

पर्यटन मंत्री ने बताया कि वीरचंद पटेल पथ पर स्थित अशोका होटल जिसे केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को दिया था उसे तोड़ कर पीपीपी मोड पर फाइव स्टार होटल का निर्माण किया जाएगा. कंगन घाट पर भी पीपीपी मोड पर फाइव स्टार होटल का निर्माण कराया जाएगा. उन्होने कहा कि बहुत जल्द ही इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी.

बढ़ी पर्यटकों की संख्या
ऋषि ने बताया कि बिहार में शराबबंदी के बाद पर्यटकों की संख्या बढ़ी है. उन्होंने बताया कि साल 2016 में जब शराबबंदी लागू हुई थी उस साल बिहार में देशी पर्यटकों की संख्या 2 करोड़ 85 लाख 16 हजार 127 थी जो 2017 में बढ़कर 3 करोड़ 24 लाख 14 हजार 63 पहुंच गई. 2018 में पर्यटकों की यह संख्या बढ़कर 3 करोड़ 36 लाख 21 हजार 613 पहुंच गई. वहीं 2019 के सितंबर महीने तक के आंकड़े 1 करोड़ 69 लाख 42 हजार 590 छू चुके थे. इसके आगे के महीने के आंकड़े अभी आने बाकी है. उन्होंने यह भी बताया कि विदेशी पर्यटको की संख्या जहां साल 2016 में 10 लाख 10 हजार 531 थी. वो 2017 में बढ़कर 10 लाख 82 हजार 705 पहुंची और 2018 में 10 लाख 87 हजार 971 हो गई. वहीं 2019 सितंबर तक बिहार आने वाले विदेशी पर्यटको की संख्या 7 लाख 4 हजार 809 रही.कई योजनाओं पर चल रहा है काम
पर्यटन मंत्री ने बताया कि बिहार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विशेष पैकेज के तहत स्वदेश दर्शन योजना चलाई जा रही है. जिसमें रामायण सर्किट के तहत बिहार के दरभंगा, मधुबनी, बक्सर और सीतामढ़ी स्थित दर्शनीय स्थलों पर विभिन्न योजनाओं के काम चल रहे हैं. उन्होंने यह भी बताया कि पर्यटन विभाग द्वारा प्रसिद्व पर्यटन स्थलों के स्टेट हाईवे पर पर्यटकों के सुविधा के लिए मॉडल शौचालय और रहने के लिए व्यवस्था भी की जा रही है.

ये भी पढ़ेंः ये भी पढ़ेंः रानी चटर्जी ने तोड़ा अपने फैंस का दिल, करने जा रही हैं ये काम...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 9:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर