Assembly Banner 2021

ADG अमित कुमार बोले- शहीद SI दिनेश राम के हत्यारे जल्द होंगे गिरफ्तार, परिजनों को मिलेगा 25 लाख मुआवजा

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अमित कुमार ने शहीद एसआई दिनेश राम के हत्यारे जल्द को जल्द गिरफ्तार करने की बात कही है.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अमित कुमार ने शहीद एसआई दिनेश राम के हत्यारे जल्द को जल्द गिरफ्तार करने की बात कही है.

बिहार (Bihar) के सीतामढ़ी (Sitamarhi) में शराब तस्‍करों से हुई मुठभेड़ में दारोगा दिनेश राम की शहीद हो गये है. एडीजी ने कहा कि शहीद के परिजनों को 20 लाख और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी(Government Job) दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 8:26 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) के सीतामढ़ी (Sitamarhi) में शराब तस्‍करों और पुलिस (Police) के बीच हुई मुठभेड़ में तस्‍करों की गोली लगने से दारोगा दिनेश राम की शहीद हो गये, जबकि चौकीदार लालबाबू बुरी तरह घायल हो गये. हालांकि अब उनकी हालत खतरे से बाहर है. वारदात को अंजाम देने के बाद शराब तस्‍कर मौके से फरार हो गये.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अमित कुमार ने मीडिया को बताया कि मुठभेड़ भारत नेपाल सीमा से सटे सीतामढ़ी के मेजरगंज के कोवारी गांव हुई. पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ अपराधी जिन पर पूर्व से शराब तस्करी समेत बाइक लूट के अलावा कई और आपराधिक मामले दर्ज हैं ,वो इसी इलाके में हैं. इस पर SI दिनेश राम दल बल के साथ घेराबंदी करने पहुंचे. इससे पहले की पुलिस अपना काम करती मौके पर मौजूद हथियारों से लैश शराब तस्करों ने पुलिस टीम पर तबातोड़ हमला कर दिया.

हमले का जवाब पुलिस ने भी पूरी दिलेरी के साथ देना शुरू किया, मगर इस हमले में एसआई दिनेश राम शहीद हो गए और चौकीदार लालबाबू घायल हो गये. अब इस पूरी घटनाक्रम की जांच आला पुलिस अधिकारी कर रहे हैं. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अमित कुमार ने कहा कि सीतामढ़ी पुलिस जल्द इस वारदात में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार कर लेगी. एडीजी ने कहा कि शहीद के परिजनों को सरकार की ओर से निर्धारित 20 लाख रुपये और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी.



बिहार: शराब तस्करों से मुठभेड़ में सब-इंस्पेक्टर शहीद, चौकीदार की हालत गंभीर
पहले भी शराब तस्करों ने पुलिस पर किया था हमला

28 नवंबर 2017 को बिहार मिलिट्री पुलिस के हवलदार अनिल कुमार शहीद हो गए थे. तब शराब तस्करों की फायरिंग में सरायरंजन थाना के प्रभारी मनोज कुमार के हाथ में गोली लगी थी. वारदात के वक्त दोनों ओर से करीब 50 राउंड गोली चली थी. अपराधियों ने पुलिस पर एके-47 से फायरिंग की थी. जानकारी के मुताबिक सरायरंजन थाना क्षेत्र के इन्द्रवारा केवल में पुलिस को सूचना मिली थी कि शराब की बड़ी खेप आने वाली है. सूचना मिलते ही सरायरंजन थाना प्रभारी अपने कुछ साथियों के साथ देर रात छापा मारने पहुंचे गए थे उनको आते देख तस्करों ने फायरिंग शुरू कर दी थी.

दारोगा हुए थे शहीद
20 नवम्बर 2018 में जब पुलिस ने शराब की सूचना मिलने पर नैनिजोर थाने के बिहार घाट डुमरांव एसडीपीओ केके सिंह के नेतृत्व में पहुंची और घेराबंदी की तो तस्करों के झूंड ने पुलिस के वाहनों पर पत्थर बरसाना शुरू कर दिया. 15 दिसंबर 2018 की रात में शराब से लदी ट्रक की पीछा करने में पुलिस का वाहन पोल से टक्कराया और छपरा निवासी नया भोजपुर ओपी में तैनात एएसआई दीना नाथ सिंह शहीद हो गए. वहीं वाहन चालक मनोरंजन यादव व होमगार्ड के दो जवान प्रकाश कुमार व राज कुमार को गंभीर रूप से चोटें आईं. जिले के रघुनाथपुर निवासी प्रकाश के गर्दन में गंभीर चोटे आई थीं, जिसमें सांस की नली क्षतिग्रस्त हो गई थी. 24 दिसंबर की रात प्रकाश कुमार की इलाज के दौरान मौत हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज